×

4 भारतीय खिलाड़ी जो अपने आखिरी मैच में मैन ऑफ़ द मैच रहे और फिर टीम में वापसी नहीं कर सके  

पढ़िए इस लिस्ट में कौन से चार अभाग्यशाली क्रिकेटर मौजूद हैं

Neeraj P
ANALYST
Modified 20 Dec 2019, 23:54 IST

इरफान पठान
Advertisement
Ad

भारतीय क्रिकेट टीम में जगह बनाने के लिए खिलाड़ियों को काफी बेहतरीन प्रदर्शन करना पड़ता है। निरंतर घरेलू क्रिकेट में अच्छा प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों को नेशनल टीम में आने का मौका मिलता है। कुछ खिलाड़ी नेशनल टीम में भी लगातार शानदार प्रदर्शन करके अपनी जगह पक्की कर लेते हैं तो वहीं कुछ खिलाड़ी नेशनल टीम में ज़्यादा समय नहीं बिता पाते हैं।

कई खिलाड़ी ऐसे भी रहे हैं जिन्होंने लंबे समय तक भारत के लिए अच्छा प्रदर्शन किया है, लेकिन एक बार टीम से बाहर हो जाने के बाद उन्हें दोबारा टीम में जगह नहीं मिल पाई। कुछ खिलाड़ी लंबे समय से घरेलू क्रिकेट खेल रहे हैं, लेकिन भारतीय टीम के लिए उन्हें गिने-चुने मौके ही मिलते हैं।

आमतौर पर खराब प्रदर्शन के बाद खिलाड़ी को टीम से बाहर होते देखा गया है, लेकिन कुछ भारतीय खिलाड़ी मैन ऑफ द मैच अवॉर्ड जीतने के बावजूद भारतीय टीम में वापसी नहीं कर पाए हैं।

एक नजर उन 4 भारतीय खिलाड़ियों पर जिन्होंने अपने आखिरी इंटरनेशनल मैच में मैन ऑफ द मैच का अवार्ड जीता, लेकिन फिर दोबारा उस फॉर्मेट की प्लेइंग इलेवन में जगह नहीं बना सके।

यह भी पढ़ें: 5 खिलाड़ी जो शायद भारत के लिए दोबारा नहीं खेल पाएंगे 

#4 सुब्रमण्यम बद्रीनाथ

एस बद्रीनाथ

बद्रीनाथ के पास एक बल्लेबाज के तौर पर हर वह कला थी जिससे वह भारत के लिए शानदार बल्लेबाज बन सकते थे, लेकिन उनका दुर्भाग्य रहा कि उन्हें भारत के लिए बेहद कम ही मौके मिले। बद्रीनाथ ने घरेलू क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन किया और फिर आईपीएल में चेन्नई सुपरकिंग्स के लिए उनके शानदार प्रदर्शन के बाद उन्हें भारतीय टीम में चुना गया।

Advertisement
Ad

4 जून, 2011 को बद्रीनाथ ने भारत के लिए अपना एकमात्र टी20 मुकाबला खेला जिसमें उन्होंने 43 रन बनाए और मैन ऑफ द मैच रहे। इसके बाद 13 जून, 2011 को बद्रीनाथ ने भारत के लिए अपना आखिरी वनडे मुकाबला खेला।


Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज स्पोर्टसकीड़ा पर पाएं।

Advertisement
Ad
1 / 4
Published 22 Jul 2019, 18:38 IST