×
Advertisement
Ad

AUS vs IND: 5 ऐसी बातें जिन्हें आपने अनदेखा कर दिया

इस सीरीज के दौरान कई जबरदस्त रिकॉर्ड बने

Fambeat Hindi
ANALYST
Timeless
Advertisement
Ad

भारतीय टीम ने इस बार ऑस्ट्रेलिया में पहली बार टेस्ट सीरीज़ को जीतकर इतिहास रच दिया, क्योंकि 70 सालों में कोई भी भारतीय कप्तान वहां पर टेस्ट सीरीज़ को अपने नाम पर नहीं कर सका था। विराट कोहली की कप्तानी में टीम ने 4 मैचो की बार्डर-गावस्कर सीरीज़ को 2-1 से अपने नाम किया।

सिडनी में खेला गया सीरीज़ का आख़िरी मैच बारिश की खलल के कारण ड्रॉ पर रहा। पर पूरी सीरीज़ में भारतीय टीम का पलड़ा हर समय भारी दिखा और ऑस्ट्रेलियन टीम के लिए अपने ही घर पर उन्हें सीरीज़ जीत से रोकना असम्भव ही दिख रहा था। आखिरी मैच में भी कोहली ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी का फैसला लिया।

रोहित के इस टेस्ट मैच में ना खेलने से लोकेश राहुल को एकबार फिर से अंतिम एकादश में शामिल किया गया लेकिन वह अपने खराब फॉर्म से ही जूझते दिखाई दिए। वहीं इस पूरी सीरीज़ में बल्ले से शानदार प्रदर्शन करने वाले चेतेश्वर पुज़ारा ने एकबार फिर से कंगारू गेंदबाज़ो के लिए मुश्किले खड़ी की और 193 रनों की बेहतरीन पारी खेली।

Advertisement
Ad

इसके बाद विकेटकीपर ऋषभ पंत ने भी अपने टेस्ट करियर का दूसरा शतक लगाते हुए पहली पारी में टीम के स्कोर को 622 रनों पर पहुंचाने में महत्तवपूर्ण भूमिका अदा की। वहीं ओपनिंग बल्लेबाज़ मयंक अग्रवाल और ऑलराउंडर रविंदद्र जडेजा ने भी अर्धशतकीय पारियां खेलकर अहम योगदान दिया था।

वहीं दूसरी तरफ इस टेस्ट में अपनी पहली पारी खेलने उतरी कंगारू टीम के सामने भारतीय टीम की स्पिन जोड़ी कुलदीप यादव और रविंद्र जडेजा का सामना करना था जो उनके लिए बिल्कुल भी आसान काम नहीं दिखा । कुलदीप ने अपने टेस्ट करियर में दूसरी बार एक पारी में 5 विकेट हासिल करके ऑस्ट्रेलियन टीम को फॉलोआन खेलने पर मजबूर किया।

लेकिन फॉलोआन खेलने उतरी ऑस्ट्रेलिया की टीम पर इंद्रदेव की मेहराबानी की वजह से जहां चौथे दिन का खेल जल्दी खत्म करना पड़ा तो वहीं आखिरी दिन को बारिश की वजह रद्द कर दिया गया और इस टेस्ट के ड्रा होने के साथ भारतीय टीम ने पहली बार ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट सीरीज़ को अपने नाम पर किया।

आइये इस सीरीज़ के दौरान 5 ऐसी प्रमुख बातों पर नज़र डालते हैं जो काफी अहम रहीं।

1 / 6
Advertisement
Ad
Add a Comment