×

Get 10x faster user experience on app.

Advertisement
Ad

क्या महेंद्र सिंह धोनी की गैरमौजूदगी में भारतीय टीम टी20 सीरीज़ में अच्छा प्रदर्शन कर पाएगी?

धोनी की जगह टी20 में ऋषभ पंत को लगातार मौका दिया जा रहा है

मयंक मेहता
18 Sep 2019, 20:58 IST
Advertisement
Ad

महेंद्र सिंह धोनी

धर्मशाला में हुए पहले टी20 मुकाबले के रद्द होने के बाद अब बचे हुए दोनों टी20 मुकाबले काफी अहम हो गए हैं। 2020 में होने वाले टी20 वर्ल्ड कप में अब ज्यादा समय नहीं रह गया है और इसी वजह से इस सीरीज़ का महत्व काफी ज़्यादा है। भारत की ताकत हमेशा से ही उसकी बल्लेबाज़ी रही है, लेकिन सभी बल्लेबाज टीम में जगह नहीं बना सकते। BalleBaazi.Com पर आप लेकिन Classic 11 खिलाड़ियों के अलावा सिर्फ बल्लेबाजों की भी टीम बना सकते हैं। BalleBaazi.com पर अभी Batting Fantasy खेलें। आप Ballebaazi.com पर लॉग इन करें एवं अपनी टीम बनाकर निम्नलिखित कोड का उपयोग कर डिस्काउंट हासिल सकते हैं-

INDSAF: ₹ 100 - ₹100000 की जमा राशि पर 30% बोनस प्राप्त करें

FIFTY: 11000 के जमा राशि पर 50% बोनस प्राप्त करें

SIXTY: 22000 की जमा राशि पर 60% बोनस प्राप्त करें

SEVENTY: 33000 की जमा राशि पर 70% बोनस प्राप्त करें

Advertisement
Ad

महेंद्र सिंह धोनी का प्रदर्शन पिछले कुछ समय से उतना प्रभावी नहीं रहा है और टीम मैनेजमेंट भी दिग्गज खिलाड़ी के साथ कोई जोखिम नहीं उठा रही है। वो टीम के हित को ध्यान में रखते हुए संतुलित कॉम्बिनेशन तैयार करने की कोशिश कर रहे हैं।

धोनी को भारत-दक्षिण अफ्रीका टी20 सीरीज़ में शामिल नहीं किया गया

महेंद्र सिंह धोनी को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टी20 सीरीज़ के लिए चुना नहीं गया और आधिकारिक तौर पर विकेटकीपिंग की जिम्मेदारी ऋषभ पंत को दी गई, जिन्हें टीम मैनेजमेंट ज्यादा से ज्यादा मौका देना चाहती है। वो यह चाहते हैं कि पंत दुनिया के सर्वश्रेष्ठ फिनिशर की जगह को भर पाए।

धोनी का बल्लेबाज के तौऱ पर प्रभाव

Advertisement
Ad

धोनी का चेन्नई सुपर किंग्स के बल्लेबाज के तौर पर करियर शानदार रहा और आईपीएल इतिहास के सबसे सफल फिनिशर में से एक रहे हैं। हालांकि वो उस प्रदर्शन को भारत के लिए अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में दोहरा नहीं पाए हैं। 5 और 6 नंबर पर खेलते हुए बल्लेबाज से उम्मीद रहती है कि वो आक्रमक तरीके से खेलते हुए बड़े शॉट खेल पाए। हालांकि धोनी भारतीय खिलाड़ियों और टीम मैनेजमेंट की उम्मीदों पर खरे नहीं उतर पाए हैं।

धोनी वनडे में गैप्स को निकालते हुए बाउंड्री लगाने में कामयाब रहे हैं, लेकिन टी20 अंतर्राष्ट्रीय में ऐसा नहीं कर पाए हैं। उनका ट्रेडमार्क हेलिकॉप्टर शॉट टी20 में बहुत कम देखने को मिलता है। वो बहुत ज्यादा गेंदे खराब करते हैं, वो टीम के मध्यक्रम की ताकत बनने की जगह बोझ बन रहे हैं।

धोनी का कप्तान के तौर पर प्रभाव

विश्व के सबसे सफल कप्तानों में से एक धोनी ने भारत को पहले टी20 वर्ल्ड कप में जीत दिलाई थी। उन्होंने दबाव को शानदार तरीके से संभालते हुए भारत को मुश्किल स्थिति से कई बार जीत दिलाई है। धोनी के पास हर स्थिति के लिए कोई न कोई ट्रिक होती है और उनका अनुभव भी काफी अहम साबित होता है। वो बल्लेबाजों के हिसाब से गेंदबाजों को रोटेट करते हैं और साथ ही में गेंदबाजों को विकेट के पीछे से अहम सलाह भी देते हैं। कुलदीप यादव-युजवेंद्र चहल की वर्ल्ड क्लास जोड़ी ने धोनी के अंडर ही काफी सफलता हासिल की। इसके अलावा अश्विन, जडेजा और भुवनेश्वर कुमार समेत दूसरे भारतीय गेंदबाजों को धोनी से हमेशा ही सलाह मिलती रही है।

Advertisement
Ad

मेंटर के तौर पर धोनी का प्रभाव

धोनी प्लेइंग इलेवन का हिस्सा नहीं है और टीम मैनेजमेंट की तरफ से मेसेज साफ है कि धोनी को टीम मेंटर की जिम्मेदारी लेनी चाहिए और आने वाले खिलाड़ियों को मुश्किल स्थितियों को संभालना सिखाए। खिलाड़ी धोनी के अनुभव से भी काफी कुछ सीख सकते हैं। हालांकि इस बात का फैसला धोनी को करना है कि वो एक खिलाड़ी के तौर पर खेलना चाहते हैं या मेंटर बनना चाहते हैं।

क्या महेंद्र सिंह धोनी के बिना विराट कोहली सफल हो पाएंगे?

विराट कोहली मौजूदा दौर के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज हैं और एक कप्तान के तौर पर भारत को सभी फॉर्मेट में जीत दिलाई है। हालांकि उन्हें धोनी से काफी मदद मिली और मुश्किल परिस्थितियों में धोनी का अनुभव भारत और कोहली के काफी काम आया। धोनी टी20 सीरीज़ का हिस्सा नहीं है और देखना होगा कि कोहली किस तरह से दबाव को संभालते हैं और धोनी के बिना टीम को आगे ले जा सकते हैं।

Advertisement
Ad

ऋषभ पंत का प्रदर्शन भविष्य तय करेगा

ऋषभ पंत को भारतीय टीम के भविष्य के रूप में देखा जाता है। उनके पास वो BalleBaazi एक्स फैक्टर है और जितना टैलेंट उनके पास है वो भारत को अपने दम पर मैच जिता सकते है। हालांकि अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर खुद को साबित करने में कामयाब नहीं हुए हैं। साउथ अफ्रीका के खिलाफ सीरीज़ में पंत का प्रदर्शन ही भविष्य तय करेगा। हम उम्मीद करते हैं कि पंत इस सीरीज़ में शानदार प्रदर्शन करते हुए टीम को जीत दिलाए और टी20 वर्ल्ड कप के लिए अपनी दावेदारी को मजबूत करें।

तो अब जबकि धोनी टी20 सीरीज़ का हिस्सा नहीं हैं, ऐसे में BalleBaazi में आपको ऋषभ पंत और क्विंटन डी कॉक में से एक को चुनना होगा। दिमाग लगाकर चुनिए और BalleBaazi पर Oppo Reno 2Z जीतने का मौका पाइये।


Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज स्पोर्ट्सकीड़ा पर पाएं

Advertisement
Ad
ओपिनियन : क्या वास्तव में महेंद्र सिंह धोनी का प्रदर्शन वर्ल्ड कप में शानदार नहीं रहा? 
5 कारण जिससे भारतीय टीम महेंद्र सिंह धोनी के बिना विश्वकप नहीं जीत सकती
Hindi Cricket News: महेंद्र सिंह धोनी के भारतीय टीम से बाहर होने का बड़ा कारण सामने आया
Hindi Cricket News: 2007 में भारत के टी20 चैंपियन बनने को लेकर महेंद्र सिंह धोनी ने किया बड़ा खुलासा
Hindi Cricket News: महेंद्र सिंह धोनी अभी नहीं करेंगे क्रिकेट में वापसी, बांग्लादेश के खिलाफ नहीं खेलेंगे टी20 सीरीज- रिपोर्ट
वर्ल्ड कप 2019: योगराज सिंह ने महेंद्र सिंह धोनी को बताया भारत की हार का जिम्मेदार
Cricket Special: भारत की ऑलटाइम टी20 अंतर्राष्ट्रीय इलेवन पर नजर 
 महेंद्र सिंह धोनी का फिनिशर के रोल में लौटना टीम के लिए फायदेमंद हो सकता है
3 विकेटकीपर जिन्हें ऋषभ पंत की जगह बांग्लादेश के खिलाफ टी20 सीरीज में मौका मिल सकता है 
वर्ल्ड कप से पहले धोनी का फॉर्म में आना टीम इंडिया के लिए ट्रंप कार्ड साबित हो सकता है
Add a Comment
Advertisement
Ad