×
Advertisement
Ad

पिछले एक दशक के दौरान वन-डे क्रिकेट में श्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले टॉप 5 गेंदबाज

इस सूची में ज्यादातर तेज गेंदबाजों के नाम शामिल हैं

Naveen Sharma
FEATURED WRITER
Published 14 Dec 2019, 13:19
Advertisement
Ad

स्टार्क और जॉनसन

नए नियमों और पावरप्ले से एकदिवसीय क्रिकेट अब बल्लेबाजों का प्रारूप नजर आता है। इसके बाद भी इस प्रारूप में कुछ गेंदबाजों ने बल्लेबाजों को ख़ासा परेशान करते हुए धमाकेदार तरीके से अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। पिछले एक दशक में जो वर्ल्ड कप मुकाबले खेले गए, उनमें गेंदबाजों ने अहम किरदार निभाया।

तेज गेंदबाज किसी भी बल्लेबाज को रोकने के लिए सबसे बेहतरीन गेंद यॉर्कर का प्रयोग करता है। स्पिनर इस स्थिति में विविधताओं से भरी चमत्कारिक गेंदबाजी करने में विश्वास रखते हैं। पिछले दस साल में वन-डे क्रिकेट के श्रेष्ठ पांच गेंदबाजों के बारे में इस आर्टिकल में बताया गया है।

यह भी पढ़ें: वेस्टइंडीज के दिग्गज खिलाड़ी ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वापस आने का ऐलान किया

1. ऑस्ट्रेलिया के बाएँ हाथ के तेज गेंदबाज मिचेल स्टार्क ने इस मामले में पहला स्थान हासिल किया है। उन्होंने अपनी तेज और घातक गेंदबाजी से दबदबा बनाया है। स्टार्क ने 85 मैच खेलकर 172 विकेट अपने नाम किये। 28 रन देकर 6 विकेट उनका टॉप प्रदर्शन रहा।

2. इस श्रेणी में दूसरे स्थान पर भी एक बाएँ हाथ का तेज गेंदबाज ही है। यह ऑस्ट्रेलिया के पड़ौसी देश न्यूजीलैंड के ट्रेंट बोल्ट हैं। उन्होंने 89 मुकाबलों में 164 विकेट हासिल किये हैं। इस दौरान बोल्ट का श्रेष्ठ प्रदर्शन 34 रन देकर 7 विकेट रहा है।

Advertisement
Ad

3. श्रीलंका के लसिथ मलिंगा इस सूची में तीसरे नम्बर पर आते हैं। यॉर्कर गेंद डालने में मशहूर यह तेज गेंदबाज मिश्रण और गति दोनों के लिए जाना जाता है। उन्होंने पिछले एक दशक में 162 मैचों में 248 विकेट हासिल किये, 38 रन देकर 6 विकेट उनका टॉप प्रदर्शन रहा।

4. इमरान ताहिर पिछले एक दशक के श्रेष्ठ लेग स्पिनरों में से एक रहे हैं। उन्होंने 107 वन-डे मैच खेले और 173 विकेट हासिल किये। 45 रन देकर 7 विकेट उनका टॉप प्रदर्शन रहा।

5. इस सूची में अंतिम पायदान पर ऑस्ट्रेलिया के मिचेल जॉनसन का नाम आता है। उन्होंने इस समयकाल के दौरान 81 मैचों में 128 विकेट हासिल किये और 31 रन देकर 6 विकेट जैसा श्रेष्ठ प्रदर्शन भी किया।

Advertisement
Ad
Add a Comment