×
Advertisement
Ad

विजय शंकर सुलझा सकते हैं नंबर 4 की पहेली! 

भारतीय टीम अभी भी नंबर 4 के लिए उपयुक्त बल्लेबाज नहीं तलाश पाई है

Ram Prakash Yadav
ANALYST
Timeless
Advertisement
Ad

विश्व कप 2019 की घड़ी नजदीक आ चुकी है। सभी टीम में अपने 15 खिलाड़ियों का चयन कर चुकी है लेकिन विराट कोहली के सामने अभी भी नंबर 4 की पहेली उलझी हुई है इस स्थान के लिए सबसे मजबूत दावा अंबाती रायडू का है, लेकिन हाल के खराब प्रदर्शन ने उनके नम्बर 4 के स्थान के दावे को कुछ कमजोर किया है अभी भी यह माना जा रहा है कि चौथे क्रम के लिए सबसे मजबूत दावा अंबाती रायडू का ही है। विशेषज्ञों का मानना है कि नंबर 4 के लिए किसी और खिलाड़ी को मौका दिया जा सकता है। इसके लिए जो अंबाती रायडू के अलावा दो खिलाड़ी 2 खिलाड़ियों का नाम सबसे ऊपर है उनमें पहला नाम विजय शंकर और दूसरा नाम हैं ऋषभ पंत ।

ऋषभ पंत के हाल के खराब विकेटकीपिंग के प्रदर्शन से यह बातें साफ हो चुकी है कि उनको विकेट कीपर के रूप में मौका नहीं दिया जाएगा। इसलिए विजय शंकर का स्थान विश्व कप टीम में पक्का माना जा रहा है क्योंकि वह एक पार्ट टाइम गेंदबाज भी है और वह भारतीय टीम की गेंदबाजी से भी मदद कर सकते हैं। पहले भी हमने कई मौकों पर विश्व कप टीम में अचंभित करने वाले फैसले देखे हैं। इससे पहले 2003 विश्व कप में भारतीय टीम प्रबंधन ने दिग्गज वीवीएस लक्ष्मण की जगह दिनेश मोंगिया को मौका दिया था जो स्पिन स्पिन गेंदबाजी करने वाले हरफनमौला खिलाड़ी थे। भारत में 2011 में हुए विश्व कप में युवराज सिंह ने पांचवे गेंदबाज की भूमिका निभाई और टूर्नामेंट में 15 विकेट चटकाने में सफल रहे।

इंलैंड में 30 मई से शुरू होने वाले विश्वकप में चौथे नंबर के क्रम के लिए कौन खिलाड़ी होगा इसका पर्दा आईपीएल के 4-5 मैचों के बाद उठ जाएगा। विश्व कप के लिए टीम की घोषणा 18 से 20 अप्रैल के बीच हो सकती है। हालांकि भारतीय टीम प्रबंधन शंकर की तकनीक से संतुष्ट है लेकिन उनके पास अभी अनुभव की कमी है और वह दबाव की स्थिति झेलने में अभी सक्षम नहीं है। विशेषज्ञों की मानें तो अंबाती रायडू को मौका मिलना तय माना जा रहा है । उनका एक दिवसीय मैचों में औसत 47 से ज्यादा है लेकिन उनके लिए सबसे बड़ी परेशानी यह है कि वह लय में नहीं हैं और विजय शंकर का प्लस प्वाइंट यह है कि वह एक पार्ट टाइम गेंदबाज भी हैं। विजय शंकर की एकदिवसीय क्रिकेट में प्रदर्शन की बात करें तो उन्होंने अब तक 9 एकदिवसीय मैच खेले हैं जिसमें 33 की औसत से 165 रन बनाए हैं साथ ही साथ दो विकेट भी झटके हैं।

यह बातें तो बाद में पता चलेंगी कि भारतीय टीम के लिए विश्व कप में नंबर चार पर कौन बल्लेबाजी करेगा लेकिन यह बात तो तय है कि विजय शंकर, अंबाती रायडू के लिए मुश्किल खड़ी कर सकते हैं। विजय शंकर का आईपीएल में एक अच्छा प्रदर्शन और अंबाती रायडू की एक गलती अंबाती रायडू से उनका का वर्ल्ड कप टिकट छीन सकती है। अंबाती रायडू को विश्व कप टीम में जगह पाने के लिए आईपीएल में शानदार प्रदर्शन करना होगा और अपनी पुरानी लय में लौटना होगा।

Hindi Cricket Newsसभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज़ स्पोर्ट्सकीड़ा पर पाएं

Advertisement
Ad
Add a Comment