×
Advertisement
Ad

Hockey World Cup 2018: दो बार की गत-विजेता ऑस्ट्रेलिया को हराकर नीदरलैंड्स फाइनल में, बेल्जियम ने दूसरे सेमीफाइनल में इंग्लैंड को हराया

एक मैच बेहद रोमांचक और दूसरा मैच बिलकुल एकतरफा रहा

निशांत द्रविड़
15 Dec 2018, 20:59 IST
Advertisement
Ad

भुवनेश्वर में शनिवार को हॉकी वर्ल्ड कप के दो सेमीफाइनल खेले गए। पहले सेमीफाइनल में बेल्जियम ने इंग्लैंड को 6-0 से बुरी तरह हराकर फाइनल में प्रवेश किया, वहीं दूसरा सेमीफाइनल बेहद रोमांचक रहा और नीदरलैंड्स ने 2-2 से बराबर रहने के बाद इस मुकाबले में दो बार की गत विजेता ऑस्ट्रेलिया को पेनल्टी शूटआउट में 4-3 से हराया। कल फाइनल में नीदरलैंड्स का सामना बेल्जियम से होगा और तीसरे स्थान के लिए इंग्लैंड का सामना ऑस्ट्रेलिया से होगा।

पहले सेमीफाइनल में बेल्जियम ने इंग्लैंड को कोई मौका नहीं दिया और एकतरफा मुकाबले में जीत हासिल की। बेल्जियम की तरफ से टॉम बून ने आठवें, साइमन गुगनार्ड ने 19वें, सेड्रिक चार्लियर ने 42वें, एलेक्ज़ेंडर हेंड्रिक्स ने 45वें और 50वें एवं सेबास्टियन डॉकियर ने 53वें मिनट में गोल किया। 

दूसरे सेमीफाइनल में नीदरलैंड्स ने नौवें मिनट में ग्लेन स्कूर्मैन और 20वें मिनट में सीव वैन ऐस के गोल की मदद से 2-0 की बढ़त ले ली थी, लेकिन ऑस्ट्रेलिया ने टिम होवार्ड के 45वें मिनट के और एडी ओकेंडेन के मैच के आखिरी मिनट के गोल की मदद से मुकाबले को बराबरी पर ला दिया। 

शूटआउट में पांच-पांच मौके मिलने के बाद भी दोनों टीमों के बीच विजेता घोषित नहीं हो सका और यहाँ भी मुकाबला 3-3 से बराबर रहा। आख़िरकार सडेन डेथ में नीदरलैंड्स की तरफ से जेरोएन हर्ट्ज़बर्गर ने गोल किया और ऑस्ट्रेलिया के डेनियल बील टीम को बराबरी नहीं दिला सके और पिछले दो बार की विश्व विजेता ऑस्ट्रेलिया वर्ल्ड कप से बाहर हो गई। 

हॉकी विश्व कप से जुड़ी सभी प्रमुख खबरों के लिए यहाँ क्लिक करें

Advertisement
Ad
Hockey World Cup 2018 का पूरा कार्यक्रम
हॉकी विश्वकप में ऑस्ट्रेलिया देगा भारत को सबसे बड़ी चुनौती: अशोक ध्यानचंद
FIH Series Finals 2019: भारत ने खिताब पर कब्ज़ा किया, फाइनल में दक्षिण अफ्रीका को 5-1 से हराया 
1928 जब भारत में हॉकी युग की हुई शुरूआत 
जन्मदिन विशेष: हिटलर ने मेजर ध्यानचंद को डिनर पर आमंत्रित किया था
Add a Comment
Advertisement
Ad