कबड्डी
Ad

Asian Games 2018: भारतीय पुरुष कबड्डी टीम की सेमीफाइनल में हार के बाद अनूप कुमार ने दिया बड़ा बयान

भारतीय पुरुष कबड्डी टीम 28 सालों के इतिहास में पहली बार स्वर्ण पदक जीतने में नाकाम रही

भारतीय कबड्डी टीम को कल एशियन गेम्स के सेमीफाइल में ईरान के हाथों करारी शिकस्त मिली थी और 28 सालों के इतिहास में भारतीय टीम पहली बार स्वर्ण पदक जीतने से चूकी और टीम को सिर्फ कांस्य पदक से ही संतोष करना पड़ा। भारत की करारी हार के बाद पूर्व कप्तान अनूप कुमार का मानना है कि यह एक ऐतिहासिक हार है और इसका दुष्परिणाम जरूर देखने को मिलेगा।

2014 में एशियन गेम्स में भारत को स्वर्ण पदक जिताने वाले अनूप कुमार ने पीटीआई से कहा, "मैं इस हार से काफी हैरान हूं और इससे संभलने में काफी समय लगेगा। हालांकि मैं कह सकता हूं कि इस हार का दुष्परिणाम देखने को मिलेगा। ईरान इस मैच में पूरी तैयारी के साथ आई थी और उन्होंने काफी सुधार भी किया था। 2022 एशियन गेम्स तक इस टीम के ज्यादातर खिलाड़ी देखने को नहीं मिलेंगे।
Ad

भारतीय टीम की हार की उम्मीद को किसी को भी नहीं थी। इस पूरे टूर्नामेंट में भारतीय रेडर्स ने काफी हद तक निराश किया औऱ फाइनल में भी इसे दोहराया गया। लीग मैच में भारत को दक्षिण कोरिया के हाथों शिकस्त झेलनी पड़ी थी, जो भारत की एशियन गेम्स में कबड्डी़ में पहली हार थी।

भारत की हार की वजह पूछे जाने पर अनूप कुमार ने कहा, "यह एक ऐतिहासिक थी। मेरे हिसाब से अजय ठाकुर की हार से हमें काफी नुकसान हुआ। जब टीम का कप्तान ज्यादा समय के लिए बाहर रहे, तो आप राह से भटक जाते हैं। अजय के बाहर रहने से काफी फर्क पड़ा।

1990 से भारत ने अबतक एशियन गेम्स में कबड्डी में 7 स्वर्ण पदक जीते हैं और इससे पहले एक भी मैच नहीं हारा था। हालांकि इस बार भारत का वो रिकॉर्ड भी टूट गया। ईरान टीम के कई खिलाड़ी प्रो कबड्डी लीग में खेलते हैं, इससे उन्हें काफी अनुभव मिला है और उन्होंने इसका उन्होंने फायदा भी उठाया।
Ad
Ad