राफेल नडाल

'महान उपलब्धि': राफेल नडाल ने 1000वीं टूर-स्‍तर जीत हासिल की

  • राफेल नडाल ने पेरिस मास्‍टर्स में हमवतन लोपेज को 4-6, 7-6 (7/5), 6-4 से मात दी
  • राफेल नडाल एटीवी टूर में 1000 जीत दर्ज करने वाले दुनिया के चौथे खिलाड़ी बन गए हैं
Vivek Goel
SENIOR ANALYST
Modified 05 Nov 2020, 18:13 IST

राफेल नडाल ने बुधवार को 1000वीं टूर-स्‍तर जीत दर्ज करने के बाद कहा कि उन्‍हें 'महान उपलब्धि' पर नाज है। राफेल नडाल यह आंकड़ा छूने वाले दुनिया के चौथे खिलाड़ी बने। राफेल नडाल ने पेरिस मास्‍टर्स के दूसरे राउंड में फेलिसिनो लोपेज को मात देकर यह उपलब्धि हासिल की। 20 बार के ग्रैंड स्‍लैम विजेता ने 13वां फ्रेंच ओपन खिताब जीतने के बाद पेरिस मास्‍टर्स में हमवतन लोपेज को 4-6, 7-6 (7/5), 6-4 से मात दी।

राफेल नडाल ने कहा, 'मुझे कई चीजों पर गर्व है, लेकिन शरीर में चोट के चलते मैंने अपने करियर में कई चुनौतियों का सामना किया। मगर मेरे अंदर हमेशा आगे बढ़ने का जुनून रहा और जब चीजें आपकी उम्‍मीद के मुताबिक नहीं चल रही हो, तब आपको व्‍यक्तित्‍व का ध्‍यान भी रखना पड़ता है। यह मेरे लिए महान उपलब्धि है।'

Advertisement
Ad

राफेल नडाल जब 15 साल के थे जब अप्रैल 2002 में उन्‍होंने एटीपी टूर में पहली जीत हासिल की थी। वह अब 1000 जीत दर्ज करने वाले दुनिया के चौथे खिलाड़ी बन गए हैं। जिमी कॉनर्स 1,274 जीत के साथ शीर्ष स्‍थान पर है। रोजर फेडरर दूसरे स्‍थान पर हैं, जो कॉनर्स से 32 जीत पीछे हैं। इवान लेंडल ने भी 1000 जीत का आंकड़ा पार किया था। राफेल नडाल ने कहा, '1000 जीत पर पहुंचने की एक नकारात्‍मक चीज यह है कि आप काफी उम्रदराज हो चुके हैं। इसका मतलब कि आपका करियर बहुत लंबा हो चुका है। मगर मैं खुश हूं।'

राफेल नडाल की 1000वीं जीत का ऐसे मना जश्‍न

राफेल नडाल का मैच के बाद खाली बर्सी एरीना में एक विशेष प्रेजेंटेशन के जरिये इस उपलब्धि का जश्‍न मनाया गया। बता दें कि फ्रांस में पिछले सप्‍ताह कोरोना वायरस के कारण दूसरा लॉकडाउन लगा और पेरिस मास्‍टर्स बिना दर्शकों के खेला जा रहा है।

34 साल के रोफल नडाल पहली बार पेरिस मास्‍टर्स खिताब के लिए जोर लगा रहे हैं। अब तीसरे राउंड में उनका मुकाबला ऑस्‍ट्रेलिया के जॉर्डन थॉम्‍प्‍सन से होगा, जिन्‍होंने तीसरे राउंड में क्रोएशिया के बोर्ना कोरिक को 2-6, 6-4, 6-2 से मात दी। अगर इस सप्‍ताह राफेल नडाल पेरिस मास्‍टर्स का खिताब जीतने में सफल होते हैं तो सर्बिया के नोवाक जोकोविच के 36 मास्‍टर्स खिताब की बराबरी कर लेंगे।

बहरहाल, लोपेज के खिलाफ राफेल नडाल को अपनी लय हासिल करने में समय लगा। लोपेज ने पहले गेम में राफेल नडाल को 6-4 से शिकस्‍त दी। इसके बाद दूसरा गेम टाईब्रेक में गया, जहां राफेल नडाल ने बाजी मारी। तीसरा गेम भी रोमांचक रहा, जिसमें फ्रेंच ओपन खिताब विजेता ने बाजी मारी। राफेल नडाल ने कहा, 'यह बड़ा कठिन मैच था। मेरी शुरूआत बेहद खराब थी। लोपेज के खिलाफ आप पूरे समय मैच में दबाव में रहते हैं।'

दुनिया के नंबर-2 राफेल नडाल अपने करियर में आठवीं बार पेरिस ओपन में हिस्‍सा ले रहे हैं। राफेल नडाल ने पिछले दो बार चोट के कारण बीच टूर्नामेंट से हटने का फैसला किया था। बर्सी में राफेल नडाल का सर्वश्रेष्‍ठ प्रदर्शन 2007 में रनर्स अप रहना है।

Advertisement
Ad
Published 05 Nov 2020, 18:13 IST
 
See more comments
 
 
×