रामकुमार रामनाथन 

चैलेंजर सर्किट: रामकुमार रामनाथन अपने बर्थडे के दिन रनर-अप रहे

  • रामकुमार रामनाथन अपने बर्थडे के दिन एक बार फिर चैलेंजर सर्किट में रनर-अप रहे
  • रामकुमार रामनाथन को सेबास्टियन कोर्डा के हाथों 4-6, 4-6 से शिकस्‍त झेलनी पड़ी
Vivek Goel
SENIOR ANALYST
Modified 08 Nov 2020, 21:39 IST

भारतीय टेनिस खिलाड़ी रामकुमार रामनाथन अपने बर्थडे के दिन एक बार फिर चैलेंजर सर्किट में रनर-अप रहे। रामकुमार रामनाथन को रविवार को एकेंटल इवेंट के फाइनल में अमेरिका के सेबास्टियन कोर्डा से शिकस्‍त मिली। गैरवरीय रामकुमार रामनाथन को अपने 26वें जन्‍मदिन पर सातवीं वरीय कोर्डा से एक घंटे और 23 मिनट चले मुकाबले में 4-6, 4-6 से शिकस्‍त झेलनी पड़ी। यह पांचवां मौका है जब रामकुमार रामनाथन चैलेंजर सर्किट के फाइनल में जीत नहीं दर्ज कर सके। इससे पहले तालाहासे (अप्रैल 2017), विनेटका (जुलाई 2017), पुणे (नवंबर 2017) और ताइपे (अप्रैल 2018) में रामकुमार रामनाथन रनर-अप रहे थे।

Advertisement
Ad

बहरहाल, रामकुमार रामनाथन का 2020 सीजन में यह सर्वश्रेष्‍ठ प्रदर्शन रहा, जिसके लिए उन्‍हें ईमानी राशि के रूप में 7200 यूरो और 60 अंक मिले, जिससे वह एटीपी सिंगल्‍स रैंकिंग चार्ट्स में 206 से 185 पर पहुंचे। रामकुमार रामनाथन की इस टूर्नामेंट में सर्विस बेहतर दिखी और नेट पर चार्ट करते हुए उन्‍होंने कई अंक जीते। इंडोर खेलने के कारण भी रामकुमार रामनाथन को काफी फायदा मिला। कोर्डा ने फाइनल में बेहतरीन खेल दिखाया। 2018 में प्रो बनने के बाद कोर्डा ने रैंकिंग में काफी सुधार किया है।

दूसरे सेट में 4-4 की बराबरी पर रामकुमार रामनाथन 40-0 की बढ़त पर थे, लेकिन फिर लगातार पांच अंक गंवाकर उन्‍होंने सर्विस गंवाई। कोर्डा ने सर्विस रिटर्न में शानदार विनर्स लगाकर साबित किया कि वह इस जीत के लिए कितने भूखे हैं। कोर्डा ने ऐस के साथ मैच प्‍वाइंट हासिल किया और मुकाबला जीता जब रामकुमार रामनाथन का रिटर्न नेट पर अटका।

रामकुमार रामनाथन ने ऐसे की थी फाइनल में एंट्री

रामकुमार रामनाथन ने एकेंटल चैलेंजर के फाइनल में धमाकेदार अंदाज में एंट्री की थी। रामकुमार रामनाथन ने पहले क्‍वार्टर फाइनल में रूस के विरोधी को केवल 57 मिनट में 6-2, 6-1 से एकतरफा अंदाज में मात दी थी। रामकुमार रामनाथन ने जर्मनी के चौथी वरीय एवगेनी डोंसकोय के खिलाफ 11 ऐस जमाए थे। इसके बाद रामकुमार रामनाथन ने कड़ा सेमीफाइनल मुकाबला खेला था। मार्विन मोलर के खिलाफ रामकुमार रामनाथन ने 4-6 से पिछड़ने के बाद जोरदार वापसी की और अगले दो सेट 6-1, 6-1 से अपने नाम किए। फाइनल में भी रामकुमार रामनाथन से दमदार प्रदर्शन की उम्‍मीद थी, लेकिन वह कोर्डा की बाधा पार नहीं कर सके।

Advertisement
Ad
Published 08 Nov 2020, 21:39 IST
 
See more comments
 
 
×