×

रोमन रेंस-ब्रॉन स्ट्रोमैन के बीच होने वाले Hell in a Cell मैच को जीतने के नियम-कायदे

हैल इन ए सैल के इस मुकाबले के नियम काफी अलग होते हैं

अंकित प्रमोद
Updated 21 Sep 2018, 20:50 IST
Advertisement
Ad

हैल इन ए सैल का काउंडडाउन शुरु हो गया है उससे पहले पीपीवी की सभी तैयारियां हो चुकी हैं। 16 सितंबर (भारत में 17 सितंबर) को ये होगा। रोमन रेंस हैल इन ए सैल पीपीवी में मनी इन द बैंक 2018 के विजेता ब्रॉन स्ट्रोमैन के खिलाफ लड़ने वाले हैं। इन दोनों का मैच स्टील के केज में होगा।

हैल इन ए सैल पे-पर-व्यू की शुरुआत WWE द्वारा साल 2009 से की गई। आपको बता दें कि हैल इन ए सैल पीपीवी जरूर साल 2009 में आया हो, लेकिन हैल इन ए सैल मैच काफी पुराना है और इसकी शुरूआत साल 1997 में हुई थी, जहां अंडरटेकर को शॉन माइकल्स के हाथों हार का सामना करना पडा था। हैल इन सैल के ऊपर से अंडरटेकर मिक फोली और रिकीशी जैसे सुपरस्टार्स को नीचे फेंक चुके हैं।

हैल इन ए सैल के केज की लंबाई 24 फुट की होती है जो पूरी तरह से बंद होता है। इस मैच में नो डिसक्वालिफिकेश और काउंड आउट नहीं होता है और ना ही कोई बाहर जा पाता है।  इस मैच को जीतने के सिर्फ दो तरीके है एक पिन फॉल और दूसरा रिंग के अंदर सबमिशन। रोमन रेंस और ब्रॉन स्ट्रोमैन को अगर ये मैच जीतना है तो उन्हें क्लीयर विन चाहिए होगी।

स्ट्रोमैन बार बार बोल रहे हैं कि वो रोमन रेंस का बुरा हाल करने वाले हैं जबकि अब रेंस भी स्ट्रोमैन पर पलटवार कर चुके हैं।  रेंस को ये मैच जीतना है तो उन्हें स्पीयर और सुपर मैन की बौछार करनी होगी साथ ही कुछ अलग पैतरा भी अपनाना होगा।  वहीं स्ट्रोमैन को भी रेंस पर जीत के लिए पावरस्लैम के साथ कुछ नया करना होगा क्योंकि एक पावरस्लैम में रोमन रेंस हार नहीं मानने वाले।

इस मैच के लिए मिक फोली स्पेशल गेस्ट रेफरी होंगे जबकि जिसका एलान इस हफ्ते की रॉ में हुआ। हैल इन ए सैल का ये 10वां सीजन है और ये पहला मौका है जब हैल इन ए सैल में स्ट्रोमैन और रोमन रेंस का मैच होना है।

 
Add a Comment
Advertisement
Ad