Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

World Championships 2019: पीवी सिंधु ने रचा इतिहास, खिताबी जीत हासिल करने वाली पहली भारतीय खिलाड़ी

FEATURED WRITER
न्यूज़
Modified 21 Dec 2019, 00:11 IST

पीवी सिंधु 
पीवी सिंधु 

भारतीय दिग्गज पीवी सिंधु ने स्विट्ज़रलैंड में खेले गए वर्ल्ड चैंपियनशिप के फाइनल में जापान की नोजोमी ओकुहारा को हराकर इतिहास रच दिया। वर्ल्ड चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीतकर सिंधु ने ऐसा रिकॉर्ड बनाया, जो आज तक किसी भी भारतीय खिलाड़ी ने नहीं बनाया था। गौरतलब है कि 2017 और 2018 के वर्ल्ड चैंपियनशिप फाइनल में लगातार दो साल सिंधु को हार का सामना करना पड़ा था, लेकिन इस बार उन्होंने एक कदम आगे बढ़ते हुए खिताबी जीत हासिल की। 

पांचवीं वरीयता प्राप्त सिंधु ने फाइनल में तीसरी वरीयता प्राप्त जापानी खिलाड़ी को एकतरफा मुकाबले में 21-7, 21-7 से हराया। पूरे मैच में सिंधु ने बेहतरीन खेल का प्रदर्शन किया और विपक्षी खिलाड़ी को वापसी का कोई मौका नहीं दिया। फाइनल से पहले सिंधु ने क्वार्टरफाइनल में चीनी तायपेई की दूसरी वरीयता प्राप्त ताई ज़ू यिंग को 12-21, 23-21, 21-19 और सेमीफाइनल में चीन की चौथी वरीयता प्राप्त चेन यूफेई को 21-7, 21-14 से हराकर फाइनल में प्रवेश किया था।

पीवी सिंधु 
पीवी सिंधु 

महिला सिंगल्स में भारत की साइना नेहवाल को तीसरे राउंड में हार का सामना कर बाहर होना पड़ा था। उन्हें डेनमार्क की मिया ब्लिचफेल्ट ने 15-21, 27-25, 21-12 से हराया था।

पुरुष सिंगल्स में भारत के बी.साईं प्रणीत ने कांस्य पदक जीता। सेमीफाइनल में उन्हें जापान के केंटो मोमोटा ने 21-13, 21-8 से हराया और फिर फाइनल में डेनमार्क के एंडर्स एंटंसन को 21-9, 21-3 से हराकर खिताबी जीत हासिल की।

महिला डबल्स में जापान की माया मात्सुमोटो और वकाना नागाहारा की जोड़ी ने जापान की ही युकी फुकुशिमा और सयाका हिरोटो की जोड़ी को 21-11, 20-22, 23-21 से हराकर स्वर्ण पदक जीता।

मिक्स्ड डबल्स में चीन के झेंग सिवेई और हुआंग याकिओंग की जोड़ी ने थाईलैंड के डेचापोल पुआवारानुकरोह और सापसिरी ताएरातनाचाई की जोड़ी को 21-8, 21-12 से हराकर स्वर्ण पदक जीता।

Published 25 Aug 2019, 20:34 IST
Advertisement
Fetching more content...