क्रिकेट

4 मौके जब विराट कोहली की कप्तानी में भारत ने टेस्ट सीरीज़ में पिछड़ने के बाद मैच जीता

भारतीय टीम ने इन मुकाबलों में धमाकेदार तरीके से जीत दर्ज की थी

विराट कोहली की कप्तानी में कई बार ऐसा हुआ है जब टीम इंडिया ने मुश्किल हालात के बाद भी विपक्षी टीम को माकूल जवाब दिया है। कोहली एक आक्रामक और जोशीले कप्तान हैं, वो अपनी टीम को प्रेरणा देने में माहिर हैं। हम यहां उन 4 मौकों की बात कर रहे हैं जब विराट के नेतृत्व में टीम इंडिया ने टेस्ट सीरीज में शुरुआती मैच हारने के बावजूद विपक्षी टीम के ख़िलाफ़ मैच जीता है।

भारत बनाम श्रीलंका, कोलंबो
2015

 
एक फ़ुल टाइम कप्तान के तौर पर ये विराट कोहली की ये पहली सीरीज़ थी। पहला टेस्ट गॉल के मैदान में खेला गया था। भारत को इस मैच में जीत के लिए 176 रन का लक्ष्य मिला था, लेकिन पूरी टीम इंडिया महज़ 112 रन ही बना सकी। हेराथ की घातक गेंदबाज़ी का सामना करने में कोहली की टीम नाकाम रही। इसके बाद कोलंबो में हुए दूसरे टेस्ट मैच में केएल राहुल ने 108 रन बनाए और भारत का स्कोर पहली पारी में 393 रन हो गया। फिर भारतीय गेंदबाज़ों ने श्रीलंका को 303 रन पर रोक दिया। भारत ने अपनी दूसरी पारी 325/8 पर घोषित कर दी और श्रीलंका को 431 रन का लक्ष्य दिया। भारतीय स्पिनर्स ने श्रीलंका की दूसरी पारी 134 रन पर समेट दी और भारत ये मैच 278 रन से जीत गया। टीम इंडिया ने इस सीरीज़ का तीसरा मैच भी जीत लिया और टेस्ट सीरीज़ पर 2-1 से कब्ज़ा जमाया।
Page 1 of 4 Next