Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

AUS vs IND, तीसरा वन-डे: भारत ने ऑस्ट्रेलिया को 7 विकेट से हराकर 2-1 से सीरीज जीती

Naveen Sharma
FEATURED WRITER
न्यूज़
Timeless

भारत ने मेलबर्न में खेले गए तीसरे और अंतिम वन-डे में ऑस्ट्रेलिया को 7 विकेट से हराकर तीन मैचों की सीरीज 2-1 से जीत ली। पहले बल्लेबाजी करते हुए ऑस्ट्रेलिया की टीम 48.4 ओवर में महज 230 रन बनाकर आउट हो गई। लक्ष्य का पीछा करते हुए टीम इंडिया ने 49.2 ओवर में 3 विकेट के नुकसान पर 234 रन बनाते हुए मैच जीत लिया। तीन मैचों में 193 रन बनाने वाले एमएस धोनी को मैन ऑफ़ द सीरीज चुना गया, मैच में 6 विकेट लेने वाले युजवेंद्र चहल मैन ऑफ़ द मैच रहे।

टॉस जीतकर भारतीय कप्तान विराट कोहली ने पहले फील्डिंग करने का निर्णय लिया। भुवनेश्वर कुमार ने इस फैसले को सही साबित करते हुए एलेक्स कैरी (5) को चलता किया। लगातार फ्लॉप चल रहे आरोन फिंच भी 14 रन बनाकर भुवनेश्वर कुमार का शिकर बने। इस समय कुल स्कोर 27 रन था। यहां से उस्मान खवाजा (34) और शॉन मार्श (39) ने 73 रन की साझेदारी की। इन दोनों को युजवेंद्र चहल ने एक ही ओवर में आउट कर कंगारूओं की स्थिति खराब कर दी। कुल स्कोर 101/4 हो गया। पीटर हैंड्सकोंब ने इस नाजुक स्थिति में टीम के लिए धीमी बल्लेबाजी शुरू की। उन्हें कुछ हद तक ग्लेन मैक्सवेल (26) का साथ मिला लेकिन उन्हें शमी ने आउट कर दिया। 40 ओवर में ऑस्ट्रेलिया का कुल स्कोर 6 विकेट पर 190 रन था। हैंड्सकोम्ब एक छोर पर खेलते रहे और अर्धशतक बनाने के बाद उन्हें 58 रन के निजी स्कोर पर युजवेंद्र चहल ने आउट किया। इसके बाद पूरी कंगारू टीम 48.4 ओवर में 230 रन बनाकर आउट हो गई।

युजवेंद्र चहल ने जबरदस्त गेंदबाजी का प्रदर्शन करते हुए 10 ओवर में 42 रन देकर 6 विकेट चटकाए। उनके अलावा भुवनेश्वर कुमार और शमी को भी 2-2 विकेट मिले।

लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत की शुरुआत खराब रही। रोहित शर्मा महज 9 रन के निजी स्कोर पर पीटर सिडल का शिकार हुए। शिखर धवन को अच्छी शुरुआत मिली लेकिन वे इसका फायदा उठाने में नाकाम रहे और 23 रन बनाकर मार्कस स्टोइनिस का शिकार हुए। इस समय कुल स्कोर 59 रन था और भारतीय टीम मुश्किल में नजर आ रही थी। यहां से विराट कोहली और महेंद्र सिंह धोनी ने एक अर्धशतकीय साझेदारी कर टीम को मुश्किल स्थिति से निकाला। झाय रिचर्डसन ने कोहली (46) को आउट कर इस साझेदारी को तोड़ा। धोनी ने पूरी जिम्मेदारी अपने कन्धों पर लेते हुए केदार जाधव को भी दूसरे छोर पर समझाते रहे। माही ने एक धीमी पारी खेलते हुए अर्धशतक बनाया और संयम से बल्लेबाजी करते रहे। जाधव ने मौकों पर फायदा उठाकर गेंद को सीमा रेखा से बाहर भेजा लेकिन धोनी के साथ सिंगल और डबल पर ध्यान रखते हुए आगे बढ़ते गए। दोनों ने मिलकर नाबाद शतकीय साझेदारी कर टीम को 49.2 ओवर में 234 रन बनाकर 7 विकेट से जीत दिलाई। धोनी ने 87* और जाधव ने 61* रनों की पारी खेली। स्टोइनिस, सिडल और रिचर्डसन को 1-1 विकेट मिला।


Tags:
Advertisement
Advertisement
Fetching more content...