Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

ISL ने बदली इन 5 भारतीय खिलाड़ियों की तकदीर

Modified 06 Oct 2016, 00:19 IST
Advertisement

इंडियन सुपर लीग उन तमाम भारतीय फुटबॉल खिलाड़ियों का जवाब है, जो अभी तक खुद की पहचान बनाने के लिए संघर्ष कर रहे थे। आईएसएल का पहला उद्देश्य भारतीय फुटबॉल खिलाड़ियों को एक प्लेफॉर्म मुहैया कराना है जिससे भारत के फुटबॉलर्स की प्रतिभा को सबके सामने लाया जा सके और ये भी सुनिश्तिच किया जाए कि भारतीय फुटबॉल टीम में खिलाड़ियों का निरंतर प्रवाह बना रहे। अगर, अब तक के इंडियन सुपर लीग के सफर पर नजर डालें, तो वो एक सफल इवेंट रहा है। अब दर्शकों को अपनी पसंदीदा टीम के नाम के अलावा खिलाड़ियों के नाम भी याद होने लगे हैं। एक नजर उन 5 भारतीय फुटबॉल खिलाड़ियों पर, जिनका करियर आईएसएल ने बदल दिया:



  1. रेहनेश टीपी

rehnesh

निसंदेह रेहनेश टीपी इस टूर्नामेंट की सबसे बड़ी खोज हैं। 23 वर्षीय इस केरला के गोलकीपर ने अपने शानदार प्रदर्शन के दम पर नॉर्थ ईस्ट यूनाइटिड एफसी टीम की प्लेइंग 11 से अनुभवी विदेशी कीपर्स को बाहर कर दिया है। आईएसएल के पहले सीजन में रेहनेश ने दिल्ली डायनामोज और एफसी सिटी पूणे के खिलाफ कई खतरनाक गोल रोके और मैच के परिणाम तक बदलने में कारगर साबित हुए। दूसरे सीजन में भी टीपी का शानदार खेल जारी रहा, हालांकि टूर्नामेंट की शुरुआत में उन्हें टीम में अपनी जगह बनाने के लिए काफी संघर्ष करना पड़ा। आईएसएल के शुरुआत में नॉर्थ ईस्ट यूनाइटिड अपने प्रदर्शन से दर्शकों को खुश करने में असफल रही लेकिन रेहनेश की वजह से गोल कीपिंग क्षेत्र में ये टीम मजबूत हुई और मैदान पर इसका भाग्य भी बदल गया। सेट पीस के दौरान निडर और हवा में शानदार होने की वजह से, रेहनेश इस टीम के बड़े खिलाड़ी बनकर उभर सकते हैं। अगर उनका शानदार प्रदर्शन आगे भी इसी तरह जारी रहा तो, वो भारतीय फुटबॉल की दुनिया में आईएसएल की बड़ी देन साबित होंगे।
1 / 5 NEXT
Published 06 Oct 2016, 00:19 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit