COOKIE CONSENT
Create
Notifications
Favorites Edit

वर्ल्ड कप 2018: फिर फेल हुए मेस्सी, क्रोएशिया ने अर्जेंटीना को 3-0 से रौंदा

36   //    22 Jun 2018, 02:14 IST

फीफा विश्व कप 2018 में गुरुवार को खेले गए तीसरे मुकाबले में क्रोएशिया ने अर्जेंटीना को 3-0 से करारी शिकस्त दी। ग्रुप डी के इस मैच में क्रोएशिया के एंते रेबिच ने 53वें, कप्तान लुका मोद्रिच ने 80वें और इवान रेकिटिक ने इंजुरी टाइम में गोल किया। इसके साथ ही टीम ने अंतिम 16 में जगह बना ली। अर्जेंटीना के लिए अब आगे का सफर काफी मुश्किल भरा हो गया। क्रोएशिया ने पहली बार किसी दक्षिण अफ्रीकी टीम को मात दी है।
पहले हाफ के चौथे मिनट में ही क्रोएशिया के पास गोल दागने का बेहतरीन मौका था लेकिन अर्जेंटीनी गोलकीपर ने पेरीसिच के शॉट को रोक दिया। लगभग 12 साल पहले अर्जेंटीना के कप्तान मेस्सी ने क्रोएशिया के खिलाफ ही अपना पहला अंतरराष्ट्रीय गोल दागा था लेकिन इस मैच में वे कोई कमाल नहीं कर सके। मैच के शुरूआती मिनटों में मेस्सी ने कुछ अटैक किए लेकिन इसका विपक्षी पर कोई असर नहीं हुआ। 29वें मिनट में अर्जेंटीना के पास गोल का एक मौका था लेकिन स्ट्रिनीच ने उसे बचा लिया। दोनों के बीच पहला हाफ गोलरहित ड्रॉ पर समाप्त हुआ।
दूसरे हाफ में क्रोएशिया ने अटैक शुरू किया। 51वें मिनट में अर्जेंटीना के मकार्डो को पीला कार्ड दिखाया गया। इसके तुरंत बाद ही क्रोएशिया ने गोल दागा। क्रोएशिया के लिए 54वें मिनट में रेबिच ने यह गोल किया। 63वें मिनट में मेस्सी को बराबरी का मौका मिला लेकिन क्रोएशिया के डिफेंस को भेदने में वे नाकाम रहे।
इस दौरान मेस्सी लगातार आक्रमण करते रहे और क्रोएशिया के डिफेंडर इसे नाकाम करते रहे। दूसरे हाफ में हालांकि क्रोएशिया बेहतर खेल रही थी। मैच समाप्त होने में लगभग 10 मिनट बचा था कि 80वें मिनट में क्रोएशिया की तरफ से लुका मोद्रिच ने गोल दाग कर टीम की बढ़त दुगनी कर दी। मैच के आखिरी मिनट में मेस्सी ने गोल करने की भरपूर कोशिश की लेकिन वे नाकाम रहे। इवान रेकिटिक ने इंजुरी टाइम के दौरान एक और गोल कर अर्जेंटीना की शर्मनाक हार पक्की कर दी।



पेरू को हराकर फ्रांस अंतिम सोलह में पहुंचा
कीलियन मबाप्पे के गोल की बदौलत फ्रांस ने एकातेरिनबर्ग में खेले गए ग्रुप सी के मुकाबले में पेरू को 1-0 से शिकस्त दी। इसी के साथ फ्रांस ने टूनार्मेंट के टॉप 16 राउंड में प्रवेश कर लिया। यह फ्रांस की इस विश्व कप में लगातार दूसरी जीत है। उसने अपने पहले मैच में आॅस्ट्रेलिया को 2-1 से हराया था।
दो मैचों में जीत से उसके अब छह अंक हो गए हैं और वह तलिका में शीर्ष पर है। पेरू को अपने दोनों मैचों में हार का सामना करना पड़ा है। इससे यह भी साफ हो गया कि उसकी विश्व कप से विदाई तय है। फ्रांस के लिए 19 साल के मबाप्पे ने 34वें मिनट में गोल दागा। इसी के साथ वह विश्व कप में अपने देश के लिए गोल करने वाले सबसे युवा खिलाड़ी बन गए हैं। उनसे पहले डेविड ट्रेजेगुएट ने 20 साल की उम्र में फ्रांस के लिए विश्व कप में गोल किया था।
पूरे मैच में दोनों टीमों के बीच बेहतरीन मुकाबला देखने को मिला। मैच के पहले 10 मिनट में पेरू के खिलाड़ी हावी रहे। सातवें मिनट में क्रिस्टिन कुएवा और पाउलो गुएरो ने पेरू के लिए मौके बनाए जिसे सैमुअल उमतिति ने बेहतरीन तरीके से रोका। 12वें मिनट में फ्रांस के लिए पॉल पोग्बा ने प्रयास किया लेकिन गेंद गोल पोस्ट में नहीं पहुंच सकी। 14वें मिनट में वाराने ने कॉर्नर पर एंटोनी ग्रीजमान की किक से हेडर कर गेंद को गोल पोस्ट में भेजने का प्रयास किया लेकिन वे नाकाम रहे।
दूसरे हाफ में पेरू ने शुरू में आक्रामक खेल का प्रदर्शन किया। मैच के 50वें मिनट में पेड्रो एक्वीनो ने बॉक्स के मध्य से शानदार किक लगई लेकिन गेंद पोल से टकरा कर बाहर चली गई और उसके मैच में बराबरी के मौके खत्म हो गए।



 

आॅस्ट्रेलिया ने डेनमार्क को 1-1 की ड्रॉ पर रोका
फीफा विश्व कप के ग्रुप सी के मुकाबले में 1-1 से ड्रॉ खेलकर आॅस्ट्रेलिया ने डेनमार्क के नॉकआउट दौर में पहुंचने के इरादे को मुश्किल में डाल दिया है। आॅस्ट्रेलिया के पास अभी अंतिम लीग मैच में जीत दर्ज कर अंतिम 16 में प्रवेश का मौका है। इस मैच में डेनमार्क के लिए क्रिस्टियन एरिक्सन ने गोल किया। वहीं आॅस्ट्रेलियाई कप्तान मिले जेडिनाक ने पेनल्टी पर गोल दागा। डेनमार्क के पहले मैच में पेरू के खिलाफ 1-0 की जीत से अब चार अंक हैं।
मैच शुरू होते ही डेनमार्क ने अपना दबदबा बनाया और मैच के सातवें मिनट में ही गोल कर खाता खोला। निकोलई जोगेर्नसन ने फॉरवर्ड लाइन में प्रवेश कर गेंद को एरिक्सन को पास किया। एरिक्सन ने बगैर मौका गंवाए बाईं ओर से शॉट मारकर इसे आॅस्ट्रेलियाई गोल पोस्ट में पहुंचा दिया। यह एरिक्सन का डेनमार्क के लिए 20 मैचों में 17वां गोल है।
34वें मिनट में आॅस्ट्रेलिया को कॉर्नर हासिल हुआ। इस पर गोल करने की कोशिश में लगे खिलाड़ी को युसुफ यूरेरी ने धक्का दिया जिससे आॅस्ट्रेलिया को पेनल्टी पर गोल दागने का बेहतरीन मौका मिला और कप्तान जेडिनाक ने गोल कर टीम को बराबरी पर पहुंचा दिया।
दूसरे हाफ का खेल काफी रोमांचक दिखा। दोनों टीमें गेंद को अपने पास रखने के लिए जद्दोजहद करती दिखीं। डेनमार्क के सिस्टो ने 72वें मिनट में एक मौका बनाया लेकिन गेंद आॅस्ट्रेलिया के नेट की बाईं ओर से बेहद करीब से निकल गई। फुट टाइम की समाप्ति तक दोनों टीमें 1-1 से बराबरी पर थीं और इंजुरी टाइम में भी किसी ने गोल नहीं दागा।



 

ANALYST
संदीप भूषण राष्ट्रीय अखबार जनसत्ता में खेल पत्रकार के तौर पर कार्यरत हैं। इससे पहले वह दैनिक जागरण में भी काम कर चुके हैं। इनके क्रिकेट और हॉकी के साथ ही कबड्डी, फुटबॉल और कुश्ती से जुडे कई लेख राष्ट्रीय अखबारों में छप चुके हैं।
Fetching more content...