Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

फ्रांस के स्‍टार फुटबॉलर कायलिन मबापे निकले कोविड-19 पॉजिटिव

कायलिन मबापे
कायलिन मबापे
Vivek Goel
ANALYST
Modified 08 Sep 2020, 20:37 IST
न्यूज़
Advertisement

फ्रांस और पेरिस सेंट जर्मेन के स्‍टार स्‍ट्राइकर कायलिन मबापे कोरोना वायरस टेस्‍ट में पॉजिटिव निकले हैं, जिसके बाद फुटबॉल जगत में हड़कंप मच गया है। कोविड-19 पॉजिटिव निकलने के बाद कायलिन मबापे यूएफा नेशंस लीग में क्रोएशिया के खिलाफ मुकाबले से बाहर हो गए हैं। फ्रांस टीम प्रबंधन ने सोमवार को कहा कि कायलिन मबापे विश्‍व कप की रनर्स अप क्रोएशिया के खिलाफ यूएफा नेशंस लीग के मुकाबले से बाहर हो गए हैं क्‍योंकि वह कोविड-19 टेस्‍ट में पॉजिटिव निकले हैं। कायलिन मबापे वायरस के संक्रमण में आने वाले पेरिस सेंट जर्मेन क्‍लब के सातवें खिलाड़ी बन गए हैं। पिछले सप्‍ताह नेमार भी कोविड-19 पॉजिटिव पाए गए थे।

कायलिन मबापे ने सोमवार को फ्रांस के ट्रेनिंग में हिस्‍सा लिया था, लेकिन जैसे ही उन्‍हें कोविड-19 पॉजिटिव होने की जानकारी मिली, तो वह ट्रेनिंग छोड़कर घर में पृथकवास होने के लिए चले गए। फ्रांस टीम प्रबंधन ने कहा, 'ट्रेनिंग के अंत तक परिणाम आने के बाद कायलिन मबापे को ग्रुप से अलग कर दिया गया है और उन्‍हें शाम को घर भेज दिया गया। शेष टीम के समान कायलिन मबापे को भी कोविड-19 टेस्‍ट से गुजरना पड़ा।'

कायलिन मबापे लीग 1 सीजन में पीएसजी के पहले मुकाबले में भी नहीं खेलेंगे। इसमें मबापे के छह साथी नेमार और एंजेल डी मारिया सहित जैसे दिग्‍गज नाम शामिल हैं। कायलिन मबापे रविवार को मार्सेल के खिलाफ भी मुकाबले से बाहर रह सकते हैं। लीग के स्‍वास्‍थ्‍य प्रोटोकॉल के मुताबिक जो खिलाड़ी कोविड-19 टेस्‍ट में पॉजिटिव पाया जाएगा, उसे कम से कम आठ दिन तक एकांतवास में रहना होगा।

कायलिन मबापे कोविड-19 टेस्‍ट में पॉजिटिव पाए जाने के बाद फ्रांस की टीम से नाम वापस लेने वाले चौथे खिलाड़ी बन गए हैं। पिछले महीने जब कोच दीदियर डेसचैंप्‍स ने 23 लोगों के नाम की घोषणा की थी तब पॉल पोग्‍बा का नाम हटा दिया गया था। कुछ दिनों के बाद होसेम ओउर भी टीम से बाहर हुए। गोलकीपर स्‍टीव मंडांडा 16 अगस्‍त को कोविड-19 पॉजिटिव पाए गए थे और उन्‍हें भी टीम से बाहर होना पड़ा था।

कायलिन मबापे के गोल की हुई थी तारीफ

बता दें कि हाल ही में कायलिन मबापे ने स्‍वीडन के खिलाफ जो गोल दागा था, उसकी फ्रांस टीम ने जमकर तारीफ की थी। यूएफा नेशंस लीग में फ्रांस ने स्‍वीडन को एकमात्र गोल से शिकस्‍त दी थी और यह गोल कायलिन मबापे ने ही दागा था। कायलिन मबापे ने स्‍वीडन के तीन डिफेंडरों और गोलकीपर को चकमा देते हुए दाएं तरफ से बाएं पैर के सहारे दर्शनीय गोल दागा था। पता हो कि 21 साल के कायलिन मबापे को दुनिया के सर्वश्रेष्‍ठ फुटबॉलर्स में शुमार किया जाने लगा है।

Published 08 Sep 2020, 20:37 IST
Advertisement
Fetching more content...
Get the free App now
❤️ Favorites Edit