खेल

CWG 2018: रेसलिंग में भारत ने जीते दो गोल्ड और दो कांस्य पदक

विनेश फोगाट और सुमित मलिक ने गोल्ड मेडल जीता, जबकि साक्षी मलिक और सोमवीर ने ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया

गोल्ड कोस्ट में चल रहे कॉमनवेल्थ गेम्स के 11वें दिन भारत को गोल्ड मेडल मिलने का सिलसिला जारी है। भारतीय पहलवानों ने रेसलिंग में दो गोल्ड मेडल और दिला दिए हैं। जबकि दो कांस्य पदक भी भारत के खाते में आए हैं। सुमित मलिक और विनेश फोगाट ने गोल्ड मेडल जीता तो ओलंपकि ब्रॉन्ज मेडलिस्ट साक्षी मलिक ने ब्रॉन्ज मेडल जीता। इसके अलावा सोमवीर ने भी रेसलिंग में भारत को गोल्ड मेडल दिलाया।

50 किलोग्राम महिला फ्री स्टाइल कैटेगरी में विनेश फोगाट ने भारत को गोल्ड दिलाया। फाइनल मुकाबले में उन्होंने कनाडा की पहलवान जेसिका मैक्डोनाल्ड को 13-3 से  हराकर स्वर्ण पदक अपने नाम किया। विनेश ने आते ही जेसिका को पटखनी देते हुए 4 अंक हासिल किए। उन्होंने अगले दांव में भी 4 अंक लिए।इस बीच जेसिका ने भी 2-3 अंक लिए, लेकिन विनेश ने अपने अंकों के अंतर को बनाए रखा और अंतर को 10 तक पहुंचा दिया। दूसरे राउंड में विनेश ने अंकों के अंतर को एक बार फिर 10 तक पहुंचा दिया और यहीं रेफरी ने विनेश को तकनीकी तौर पर विजेता घोषित कर दिया।विनेश ने 2014 में ग्लासगो में हुए राष्ट्रमंडल खेलों में भी 48 किलोग्राम भारवर्ग में गोल्ड मेडल जीता था।


वहीं सुमित मलिक ने पुरुषों के 125 किलोग्राम फ्री स्टाइल वर्ग में गोल्ड मेडल जीता। उनके प्रतिद्वंद्वी नाइजीरिया के सिनिवी बोल्टिक चोट के कारण मुकाबले में उतर नहीं सके, जिसकी वजह से सुमित को वॉक ओवर दे दिया गया।इससे पहले सुमित ने पाकिस्तान के तैयब रजा को 10-4 से हराया था।

महिलाओं की 62 किलोग्राम कैटेगरी में साक्षी मलिक ने कांस्य पदक जीता।उन्होंने न्यूजीलैंड की टेलर फोर्ड को मात देकर ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया।साक्षी ने यह मुकाबला अपने मजबूत डिफेंस के दम पर 6-5 से जीता. अंतिम राउंड में टेलर ने साक्षी को पटक दिया था, लेकिन इस दिग्गज पहलवान ने अपने डिफेंस के कारण टेलर को जरूरी अंक नहीं लेने दिए और महज एक अंक के अंतर से ब्रॉन्ज मेडल पर कब्जा किया। इसके अलावा सोमवीर ने भी रेसलिंग में भारत को कांस्य पदक दिलाया। पुरुषों के 86 किलोग्राम फ्री स्टाइल वर्ग में उन्होंने कनाडा के अलेक्जेंडर मूरे को 7-3 से हराया।