खेल

CWG 2018: निशानेबाजी में भारत को मिले 2 गोल्ड और एक सिल्वर मेडल

तेजस्विनी सावंत और अनीश भनवाला ने गोल्ड मेडल जीता, अंजुम मोदगिल ने सिल्वर मेडल अपने नाम किया

गोल्ड कोस्ट में चल रहे 21वें कॉमनवेल्थ गेम्स में भारत का बेहतरीन प्रदर्शन जारी है। खेल के 10वें दिन अभी तक भारत ने 2 गोल्ड मेडल समेत कुल 3 पदक जीत लिए हैं। इसमें एक सिल्वर मेडल है। तीनों ही पदक निशानेबाजी से आए हैं। 50 मीटर राइफल में तेजस्विनी सावंत ने गोल्ड मेडल तो अंजुम मोदगिल ने सिल्वर मेडल अपने नाम किया। वहीं पुरुषों की 25 मीटर रैपिड फायर पिस्टल स्पर्धा में अनीश भानवाल ने गोल्ड मेडल जीता। वहीं भारत की एक और निशानेबाज श्रेयसी सिंह ट्रैप स्पर्धा में पांचवे स्थान पर रहीं।

 

महिलाओं की 50 मीटर राइफल थ्री पोजिशन स्पर्धा में भारत की तेजस्विनी सावंत ने रिकॉर्ड बनाते हुए गोल्ड मेडल जीता। उन्होंने 457.9 स्कोर हासिल करते हुए कॉमनवेल्थ गेम्स का रिकॉर्ड बनाया। वहीं इसी स्पर्धा में अंजुम मोदगिल ने 455.7 स्कोर के साथ रजत पदक हासिल किया। तेजस्विनी का कॉमनवेल्थ खेलो में ये चौथा गोल्ड मेडल है।
वहीं भारत के 15 वर्षीय निशानेबाज अनीश भनवाला ने फाइनल में कुल 30 अंक हासिल करते हुए गोल्ड मेडल अपने नाम किया। उन्होंने 2014 में ग्लाग्सो में आयोजित कॉमनवेल्थ गेम्स में आस्ट्रेलिया के डेविड चापमान की ओर से बनाए रिकॉर्ड को तोड़ दिया। इसके साथ ही अनीश भनवाला ने सबसे कम उम्र में गोल्ड जीतने का मनु भाकर का रिकॉर्ड तोड़ दिया। मनु ने इन्हीं गेम्स में 16 साल की उम्र में गोल्ड मेडल जीतने का कारनामा किया था। हालांकि इस स्पर्धा में नीरज कुमार को निराशा हाथ लगी। उन्होंने पांचवां स्थान हासिल किया।
एक और स्टार निशानेबाज श्रेयसी सिंह को आज निराश होना पड़ा। ट्रैप स्पर्धा में वो पदक नहीं ला सकीं और पांचवे स्थान पर रहीं। इससे पहले उन्होंने डबल ट्रैप शूटिंग में गोल्ड मेडल जीता था। भारत के सभी खिलाड़ी कॉमनवेल्थ गेम्स में अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं और हर दिन भारत को पदक दिला रहे हैं। कुल 35 मेडल्स के साथ भारत अभी पदक तालिका में तीसरे स्थान पर है। मेजबान ऑस्ट्रेलिया पहले और इंग्लैंड दूसरे पायदान पर है।