खेल

CWG 2018: मैरी कॉम और गौरव सोलंकी ने बॉक्सिंग में जीता गोल्ड मेडल

अमित पंघल और मनीष कौशिक को रजत पदक से संतोष करना पड़ा

भारत की दिग्गज बॉक्सर एमसी मैरी कॉम ने ऑस्ट्रेलिया के गोल्ड कोस्ट में चल रहे 21वें कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड मेडल जीत लिया है। मैरी कॉम ने 48 किलोग्राम कैटेगरी में गोल्ड मेडल जीता। वहीं भारत के युवा मुक्केबाज गौरव सोलंकी ने 52 किलोग्राम कैटेगरी में गोल्ड मेडल जीता। 49 किलोग्राम कैटेगरी में अमित पंघल और 60 किलोग्राम कैटेगरी में मनीष कौशिक ने सिल्वर मेडल जीता।

5 बार की विश्व चैंपियन और ओलंपिक ब्रॉन्ज मेडलिस्ट एमसी मैरी कॉम ने फाइनल मुकाबले में नॉर्दन ऑयरलैंड की क्रिस्टीना ओ हारा को हराया। ये मैरी कॉम का पहला कॉमनवेल्थ गेम था और उन्होंने निराश नहीं किया। 5-0 की जीत के साथ उन्होंने कॉमनवेल्थ गेम में गोल्ड मेडल पक्का कर लिया। जीत के बाद उन्होंने कहा कि एक बार फिर से इतिहास बनाकर मैं खुश हूं। इतने बड़े मेडल को जीतना काफी खास है। मेरा हर एक मेडल मेरे लिए बेहद खास है, क्योंकि इसके लिए मैं कड़ी मेहनत करती हूं। जब तक मैं फिट हूं अपनी कोशिश जारी रखुंगीं।

वहीं पुरुषों के 52 किलोग्राम कैटेगरी में युवा मुक्केबाज गौरव सोलंकी ने नॉर्दन ऑयरलैंड के ब्रेंडन इरविन को हराकर गोल्ड मेडल जीता। तीसरे राउंड में गौरव सौलंकी हार गए थे लेकिन पहले दो राउंड में उनका प्रदर्शन काफी बढ़िया था जिसकी वजह से उनको मेडल जीतने में कोई परेशानी नहीं हुई। उन्होंने अपने मेडल को अपनी मां को समर्पित किया और कहा कि वो टोक्यो में होने वाले 2020 के ओलंपिक गेम्स में भारत की तरफ से खेलना चाहते हैं।

49 किलोग्राम कैटेगरी में अमित पंघल और 60 किलोग्राम कैटेगरी में मनीष कौशिक फाइनल मुकाबले में हार गए और उन्हें रजत पदक से ही संतोष करना पड़ा। अमित पंघल को इंग्लैंड के गलाल याफई ने हराया वहीं मनीष को हैरी गर्सिडे ने मात दी। गौरतलब है भारतीय खिलाड़ी कॉमनवेल्थ खेलो में लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं और भारत को लगातार पदक दिला रहे हैं। भारत अभी पदक तालिका में 48 मेडल के साथ तीसरे नंबर पर है। पहले पायदान पर ऑस्ट्रेलिया और दूसरे पायदान पर इंग्लैंड की टीम है।