Create
Notifications

जायफल के 5 औषधीय गुण - Jaiphal Ke 5 Aushadhiye Gun

जायफल के औषधीय गुण (फोटो - sportskeedaहिंदी)
जायफल के औषधीय गुण (फोटो - sportskeedaहिंदी)
reaction-emoji
Vineeta Kumar

सर्दी-जुकाम जैसी आम बीमारियों से आजकल हम लोग परेशान हो कर डॉक्टर के पास पहुंच जाते हैं। इसका मुख्य कारण यह है कि हमारे किचन में जो सामान उपलब्ध है उनके गुणों के बारे में हमें पता ही नहीं होता है। आज हम बात करते हैं प्रकृति के उपहार जायफल के बारे में, जायफल को हम लोग मसाला के रूप में प्रयोग करते हैं। लेकिन उसके क्या-क्या औषधीय गुण होते हैं इनको भी जानना जरूरी है। मिरिस्टिका नामक वृक्ष से जावित्री और जायफल प्राप्त होता है। मिरिस्टिका प्रजाति की लगभग 80 जातियां हैं जो ऑस्ट्रेलिया-भारत तथा पसिफ़िक ओसियन के द्वीपों पर उपलब्ध हैं। मिरिस्टिका वृक्ष के बीज को जायफल कहते हैं। इस लेख में जायफल के औषधीय गुणों (Medicinal properties of nutmeg) के बारे में बताने जा रहे हैं।

जायफल के 5 औषधीय गुण

1. सर्दी-खांसी के लिए लाभदायक (Beneficial for cold cough)

सुबह-सुबह खाली पेट आधा चम्मच जायफल के सेवन से सर्दी-खांसी की समस्या नहीं होती है। और पेट में दर्द होने पर चार से पांच बूंद जायफल का तेल और चीनी को मिलाकर खाने से लाभ होता है।

2. सिर दर्द के लिए (Treats headache)

आज के समय में सिर दर्द हर दूसरे व्यक्ति को होता है। सिर में बहुत ज्यादा दर्द हो रहा हो तो जायफल को पानी में घिसकर लगाने से आराम मिलता है।

3. पेट दर्द में लाभदायक (Beneficial in stomach ache)

पेट में दर्द हो या दस्त की परेशानी हो तो जायफल को भून लीजिए और उसके चार हिस्से कर लीजिए। इसका एक हिस्सा चूस कर खाने को कहा जाता है तथा रोगी को सुबह-शाम एक हिस्सा खिलाएं।

4. हृदय स्वास्थ्य के लिए लाभदायक (Beneficial for heart health)

जायफल के गुण हृदय स्वास्थ्य का ख्याल रखने के लिए अच्छे माने जाते हैं। उपयोग के लिए, जायफल के चूर्ण को शहद के साथ खाने से हृदय मजबूत होता है और पेट भी ठीक रहता है।

5. दस्त व मुंहासों में उपयोगी (Useful in diarrhea and acne)

दस्त और चेहरे के मुंहासों के उपचार के लिए जायफल के फायदे देखने को मिलते हैं। उपयोग के लिए - जायफल को घिसकर पानी में मिलाएं, उस पानी का सेवन करें तथा जायफल का लेप बनाकर नाभि पर लगाने से दस्त आना बंद हो जाते हैं। मुंहासे होने पर जायफल को दूध में घिस कर चेहरे पर उसका लेप लगाने से मुंहासे समाप्त हो जाते हैं।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Vineeta Kumar
reaction-emoji

Comments

Fetching more content...