Create

बवासीर में चावल खाना चाहिए या नहीं - Bawasir Me Chawal Khana Chahiye Ya Nahi

बवासीर में चावल खाना चाहिए या नहीं
बवासीर में चावल खाना चाहिए या नहीं
Shilki

बवासीर (Piles) की समस्या आजकल बहुत से लोगों में देखी जा सकती है। गलत खानपान बदलती लाइफस्टाइल इन सबका कारण बनता जा रहा है। बवासीर आम बीमारी जरुर है लेकिन ये बहुत ही तकलीफ देने वाली बीमारी भी है। पहले के जमाने में ये बीमारी एक उमर के बाद कुछ लोगों को ही होती थी। लेकिन अब ये जवान लोगों, बल्कि बच्चों में भी देखी जा सकती है। बवासीर में व्यक्ति को बहुत सोच समझ कर खाना पीना होता है और सही टाइम पर खाना होता है। कई लोग इस कशमकश में भी होते हैं कि क्या बवासीर में चावल का सेवन किया जा सकते है या नहीं। तो आइए जानते हैं इस लेख के जरिए की बवासीर में चावल खाना चाहिए या नहीं।

बवासीर में चावल खाना चाहिए या नहीं (Bawasir Me Chawal Khana Chahiye Ya Nahi)

बवासीर की समस्या से जूझ रहे लोगों को सफेद चावल (White Rice) की जगह ब्राउन चावल का सेवन करना चाहिए। बवासीर में भूरे रंग का चावल (Brown Rice) का सेवन बहुत अच्छा माना गया है। भूरे रंग के चावल में कार्बोहाइड्रेट, मैंगनीज, आयरन (Iron), फास्फोरस, फाइबर, नियासिन, विटामिन B6, फैटी एसिड सफेद चावल की अपेक्षा दोगुने होते है। सफेद चावल की तुलना अगर ब्राउन राइस से की जाए, तो ब्राउन राइस स्वास्थ्य (Health) के लिए ज्यादा अच्छा है। ब्राउन राइस साबुत अनाज है और सफेद चावल बाहरी चोकर परत को हटाने का परिणाम है।

सफेद चावल में जो चोकर की परत हटाई जाती है उसमें बहुत से पोषक तत्व शामिल होते हैं जिसको हटाने पर चावल से भी सार पोषक तत्व (Nutrient) हट जाते हैं। इसलिए आजकल ज्यादातर लोग सफेद चावल की जगह भूरा चावल खाना पसंद करते हैं और ये बवासीर की समस्या को कम करने में मदद करता है और न ही सिर्फ बवासीर, ये और भी कई बीमारी को ठीक करने में मदद करता है।

बवासीर के दौरान लोगों को ज्यादा से ज्यादा फाइबर चीजों का सेवन करने को कहा जाता है। क्योंकि फाइबर (Fiber) चीजें खाने से मल त्याग करते समय परेशानी नहीं होती। साथ ही बवासीर को ठीक करने में भी आसानी होती है। बवासीर में यदि आप ब्राउन राइस खाते हैं, तो इससे आपका पाचन भी सुधरेगा क्योंकि ये चावल खाने में बहुत हल्का होता है। ब्राउन चावल का सेवन आप हर दिन अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं। इसको बनाने के लिए अलग से कुछ नहीं करना होगा जिस तरह से आप सफेद चावल पकाते हैं उसी तरह से ब्राउन राइस को भी पका सकते हैं और सब्जी या दाल के साथ इसका सेवन कर सकते हैं।

सफेद चावल की जगह आप रोज के खाने में ब्राउन राइस को शामिल करें। ऐसा करने से आपको बवासीर जैसी बीमारी में सुधार दिखेगा साथ ही स्वास्थ्य को भी कई फायदे मिलेंगे।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए जिम्मेदारी का दावा नहीं करता है।


Edited by Shilki

Comments

Fetching more content...