Create

सौंफ के उपयोग, फायदे और नुकसान-Saunf Ke Upyog, Fayde Aur Nuksan

सौंफ के उपयोग, फायदे और नुकसान(फोटो-Sportskeeda hindi)
सौंफ के उपयोग, फायदे और नुकसान(फोटो-Sportskeeda hindi)

सौंफ (Fennel Seeds) का उपयोग एक एक मसाले के रूप में किया जाता है। जो खाने में स्वाद को बढ़ाने का काम करता है। लेकिन क्या आप जानते हैं सौंफ न कि सिर्फ खाने में स्वाद को बढ़ाता है। बल्कि इसका सेवन स्वास्थ्य के लिए भी काफी फायदेमंद माना जाता है। क्योंकि सौंफ को आयुर्वेद में औषधी के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। इसलिए इसका सेवन करने से कई बीमारियां दूर होती है। सौंफ में कैल्शियम, सोडियम, आयरन, फाइबर और पोटैशियम जैसे तत्व पाए जाते हैं। जो स्वास्थ्य के लिहाज से काफी लाभदायक साबित होते हैं। लेकिन सौंफ का अधिक मात्रा में सेवन नहीं करना चाहिए। क्योंकि इससे आपके स्वास्थ्य को फायदा की जगह नुकसान पहुंच सकता है। आइए जानते हैं कि सौंफ के क्या-क्या उपयोग, फायदे और नुकसान होते हैं।

सौंफ के उपयोग, फायदे और नुकसान (Saunf Ke Upyog, Fayde Aur Nuksan In Hindi)

सौंफ के उपयोग

- सौंफ के उपयोग से आप चाय (Tea) बना सकते हैं। सौंफ की चाय स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद मानी जाती है। इसके सेवन से कई बीमारियां दूर होती है।

- सौंफ का उपयोग ज्यादातर लोग एक माउथ फ्रेशनर (Mouth Freshner) के रूप में करते हैं। जिससे मुंह की दुर्गंध खत्म होती है।

- सौंफ का उपयोग एक मसाले के रूप में भी किया जाता है। जिसको सब्जी में डालने से सब्जी स्वादिष्ट बनती है।

- सौंफ के बीजों का उपयोग अचार बनाने के लिए भी किया जाता है।

सौंफ के फायदे

- सौंफ में कैल्शियम की भरपूर मात्रा पाई जाती है, इसलिए इसका सेवन करने से हड्डियां (Bones) मजबूत होती है। इसलिए जिन लोगों की हड्डियां कमजोर होती है, उनको रोजाना सौंफ का सेवन करना चाहिए।

- सौंफ का उपयोग सबसे अधिक पाचन संबंधी समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए किया जाता है। अगर कोई खाना खाने के बाद सौंफ का सेवन करता है, तो इससे खाना अच्छी तरह से पच जाता है, जिससे पाचन तंत्र मजबूत होता है। साथ ही कब्ज और एसिडिटी की शिकायत दूर होती है।

- सौंफ का सेवन आंखों के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है। सौंफ का सेवन करने से आंखों की समस्याएं ठीक होती है। क्योंकि सौंफ में विटामिन-ए और विटामिन-सी मौजूद होता है, जो आंखों की रोशनी को तेज करता है।

- सौंफ का सेवन करने से वजन (Weight) को नियंत्रित किया जा सकता है। क्योंकि सौंफ में फाइबर की अच्छी मात्रा पाई जाती है, इसलिए इसका सेवन करने से वजन कम होता है।

- सौंफ का सेवन कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol) लेवल को नियंत्रित करने में काफी मददगार साबित होता है। क्योंकि सौंफ में फाइबर की प्रचुर मात्रा पाई जाती है। इसलिए जिन लोगों का कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ा हो, उनको रोजाना सौंफ का सेवन करना चाहिए।

- सौंफ का सेवन ब्लड प्रेशर (Blood pressure) वाले मरीजों के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है। क्योंकि सौंफ में पोटैशियम की अच्छी मात्रा पाई जाती है। इसलिए इसका सेवन करने से ब्लड प्रेशर कंट्रोल रहता है।

- सौंफ का सेवन करने से अनिद्रा (insomnia) की शिकायत दूर होती है। क्योंकि सौंफ में मैग्निशियम मौजूद होता है, जो अनिद्रा की समस्या को दूर भगाता है।

- जिन महिलाओं को पीरियड्स (Periods) में असहनीय दर्द की शिकायत होती है। उनको सौंफ का सेवन करना चाहिए। क्योंकि पीरियड्स की समस्याओं से छुटकारा दिलाने में सौंफ कुछ हद तक लाभकारी साबित होता है।

- सौंफ का सेवन स्किन (Skin) के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है। क्योंकि सौंफ में एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटीमाइक्रोबियल और एंटीएलर्जिक गुण पाए जाते हैं, जो स्किन संबंधी कई परेशानियों को दूर करते हैं।

सौंफ के नुकसान

- सौंफ का अधिक मात्रा में सेवन करने से पेट दर्द (Stoamch pain) की शिकायत हो सकती है।

- सौंफ से कई लोगों को एलर्जी (Allergy) की शिकायत होती है। ऐसे में अगर सौंफ का सेवन करने के बाद किसी भी तरह की एलर्जी हो, तो इसका सेवन नहीं करना चाहिए।

- स्तनपान कराने वाली महिलाओं को सौंफ का अधिक मात्रा में सेवन नहीं करना चाहिए।

- जिन लोगों को छींक आने की एलर्जी होती है, उनको भी सौंफ का अधिक सेवन नहीं करना चाहिए।

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है। यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है। अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें। स्पोर्ट्सकीड़ा हिंदी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है।

Edited by Rakshita Srivastava
Be the first one to comment