Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

स्पोर्ट्सकीड़ा एक्सक्लूसिव: कबड्डी के अलावा क्रिकेट को काफी फॉलो करता हूं और मेरा पसंदीदा खिलाड़ी धोनी हैं- अभिषेक सिंह 

FEATURED WRITER
विशेष
Published 06 Oct 2019, 17:15 IST
06 Oct 2019, 17:15 IST

अभिषेक सिंह
अभिषेक सिंह

प्रो कबड्डी सीजन 2 की विजेता टीम यू मुंबा ने इस सीजन में भी प्लेऑफ के लिए क्वालीफाई कर लिया है। हालांकि सीजन शुरू होने से पहले टीम के रेडिंग को देखते हुए ज्यादा उम्मीद किसी ने नहीं लगाई थी। हालांकि यू मुंबा के युवा रेडर्स ने जिम्मेदारी उठाई और टीम मैनेजमेंट के फैसले को सही साबित किया।

खासकर अपना दूसरी सीजन खेल रहे अभिषेक सिंह, जिन्होंने मुख्य रेडर की भूमिका शानदार तरीके से निभाई। अभिषेक सिंह ने इस सीजन में 18 मुकाबलों में 7 सुपर 10 की मदद स 125 रेड पॉइंट हासिल किए।

अभिषेक सिंह ने अपने प्रदर्शन को लेकर स्पोर्ट्सकीड़ा से खास बातचीत की, जानिए उन्होंने क्या कहा:

-यह आपका दूसरा ही सीजन है और आप टीम के मुख्य रेडर की भूमिका में थे, तो किस तरह का दबाव था आपके ऊपर?

-इस सीजन मेरी पिछले सीजन की तुलना में बेहतर रही। इस साल मुझे मेन रेडर की भूमिका मिली और मौके भी ज्यादा दिए गए। मैं कोच और मैनेजमेंट का भी शुक्रिया अदा करना चाहूंगा। टीम के लिए जितना कर रहा हूं, प्लेऑफ में उससे बेहतर करना चाहूंगा। प्लेऑफ के मैच काफी अहम होंगे और लक्ष्य फाइनल में पहुंचना होगा। मेन रेडर को फ्री होकर खेलना चाहिए और मेरे ऊपर इतना दबाव नहीं था। मैं सिर्फ टीम के लिए ही खेल रहा था।

-आपने बीच में कुछ मुकाबलों को मिस किया, लेकिन जब आपने वापसी की तो पूरी लय में नजर आए, तो किस तरह की रही आपकी वापसी?

-होम लेग के दौरान कंधे में चोट लगी थी, उसके बाद मुझए 15 दिन आराम करने की सलाह दी गई थी। हरियाणा के खिलाफ मैच से मैंने वापसी की। टीम को जरूरत थी इसी वजह से जल्दी वापसी करनी पड़ी।

-कबड्डी में आने का मुख्य कारण और कौन से खिलाड़ियों को देखकर आप इस खेल के लिए प्रेरित हुए?

-मैंने 4-5 साल पहले ही कबड्डी खेलना शुरू किया। मैंने स्कूल में खेलना शुरू किया था फिर बीच में इसे छोड़ दिया था। गांव में मेरे दोस्त खेलते थे, तो उनके साथ ही खेलना फिर शुरू कर दिया। अपने डिस्ट्रिक्ट के लिए खेला और साल 2017 में नेशनल में चयन हो गया। मैं शुरुआत से अजय ठाकुर को फॉलो करता था और पापा भी राहुल चौधरी और अजय को ही फॉलो करता था।

-कबड्डी खेलने के लिए फैमिली से किस तरह का सपोर्ट मिला?

Advertisement

-पहले जब कबड्डी के चक्कर में स्कूल को मिस करता था, तो परिवार को काफी दिक्कत होती थी। मेरे पापा पढ़ाई पर काफी जोर देते थे। शुरू में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा, लेकिन फिर जब वो एक-दो टूर्नामेंट देखने गए, तो उन्हें अच्छा लगा और फिर सपोर्ट करने लगे।

-इस समय आप कबड्डी नहीं खेल रहे होते, तो क्या करते और कबड्डी के अलावा आपका पसंदीदा खेल कौन सा है?

-मैं इस समय कबड्डी नहीं खेल रहा होता, तो सॉफ्टवेयर में जॉब कर रहा होता, क्योंकि मुझे कंप्यूटर काफी पसंद है। कबड्डी के अलावा मुझे क्रिकेट पसंद हैं। मैं सारे मैच फॉलो करता हूं, मेरा पसंदीदा खिलाड़ी महेंद्र सिंह धोनी हैं और पुराने खिलाड़ियों में सचिन तेंदुलकर और एबी डीविलियर्स काफी पसंद हैं।

Modified 21 Dec 2019, 00:39 IST
Advertisement
Advertisement
Fetching more content...