टेनिस

नडाल के साथ 23वां फाइनल खेलेंगे फेडरर

दोनों दिग्गज मियामी ओपन के फाइनल में आमने-सामने होंगे

यह दोनों दिग्गज मियामी ओपन के फाइनल में आमने-सामने होंगे।

फेडरर ने आस्ट्रेलिया के निक किर्जियोस और नडाल ने फ्रांस के फाबियो फोगिनिनि को मात देते हुए फाइनल में जगह बनाई।


फेडरर ने किर्जियोस को सेमीफाइनल मुकाबले में 7-6 (11-9) 6-7 (9-11) 7-6 (7-5) से मात दी।

नडाल ने सेमीफाइनल में इटली के फोगनिनि को 6-1 7-5 से मात देते हुए फाइनल में प्रवेश किया। फोगनिनि इस टूर्नामेंट के पिछले 10 साल के इतिहास में पहले ऐसे गैरवरीय खिलाड़ी हैं जिन्होंने अंतिम चार में जगह बनाई हो।


इस फाइनल में भिड़ने वाले यह दोनों खिलाड़ी आस्ट्रेलियन ओपन-2017 के फाइनल में आमने-सामने हुए थे, जहां फेडरर ने स्पेनिश खिलाड़ी को मात देते हुए अपना 18वां ग्रैंड स्लैम खिताब जीता था।

फेडरर और किर्जियोस के बीच मुकाबला बेहद रोमांचक रहा। आस्ट्रेलियाई खिलाड़ी ने पूर्व नंबर-1 खिलाड़ी को कड़ी टक्कर दी। फेडरर को यह मुकाबला जीतने में कुल तीन घंटे का समय लगा।

किर्जियोस ने सातवें गेम में फेडरर पर सर्विस तोड़ते हुए दबाव बनाया। इसी गेम में किर्जियोस ने दो गलती की जिसका फायदा फेडरर को हुआ। फेडरर ने 5-5 से बराबरी कर ली।

टाई ब्रेक 72 मिनट तक चला जिसमें फेडरर ने नियंत्रित खेल खेला जबिक किर्जियोस ने नियंत्रण खो बैठे। फेडरर ने पहला सेट 11-9 से अपने नाम किया।

अगले सेट का भी फैसला टाई ब्रेकर से निकला जिसे आस्टेलियाई खिलाड़ी ने जीता। तीसरे सेट को फेडरर ने अपने नाम किया।

एटीपी की वेबसाइट ने फेडरर के हवाले से लिखा है, "मुझे अच्छा महसूस हो रहा क्योंकि आप आमतौर पर तीन टाई ब्रेकर नहीं खेलते। इस तरह से जीत हासिल करना शानदार होता है खासकर तब जब आपके विरोधी ने आपको कुछ वर्षो पहले हराया हो।"

नडाल ने वहीं पहले सेमीफाइनल में एक तरफा प्रदर्शन किया।

बीसीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, सेमीफाइनल जीतने के बाद नडाल ने कहा, "मेरे लिए फाइनल में पहुंचना बड़ी बात है। मैं एक और बड़े टूर्नामेंट के एक और फाइनल में खेलने को लेकर उत्सुक हूं।"

नडाल ने कहा, "फाइनल में फेडरर हैं। यह हम दोनों के बीच होने वाला एक और मुकाबला है।"

--आईएएनएस