Create

रूस-यूक्रेन युद्ध पर नहीं बोले फेडरर-नडाल, नाराज हुआ ये यूक्रेनी खिलाड़ी

राफेल नडाल और रॉजर फेडरर की ओर से रूस-यूक्रेन युद्ध पर कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।
राफेल नडाल और रॉजर फेडरर की ओर से रूस-यूक्रेन युद्ध पर कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।

रूस की ओर से यूक्रेन पर हुए हमले और उसके बाद जारी संघर्ष का असर पिछले एक हफ्ते में खेल जगत पर भी होता हुआ दिखा है। हाल ही में यूक्रेनी रिजर्व सेना में अपना नामांकन कराने वाले पूर्व यूक्रेनी टेनिस खिलाड़ी सर्गी स्ताखोवस्की ने रूस के हमले पर रॉजर फेडरर और राफेल नडाल की ओर से प्रतिक्रिया नहीं दिए जाने पर नाराजगी जताई है। खबरों के मुताबिक सर्गी ने इटली के अखबार ला स्टैम्पा को दिए अपने इंटर्व्यू में इस बात की जानकारी दी कि उन्होंने रूस के हमले के मुद्दे पर रॉजर फेडरर, राफेल नडाल और नोवाक जोकोविच का समर्थन मांगा था, लेकिन सिर्फ जोकोविच ने उनसे फोन पर बात कर उनका साथ दिया।

सर्गी (तस्वीर में) के इंटर्व्यू के मुताबिक नोवाक जोकोविच ने उन्हें समर्थन दिया।
सर्गी (तस्वीर में) के इंटर्व्यू के मुताबिक नोवाक जोकोविच ने उन्हें समर्थन दिया।

खबरों के मुताबिक सर्गी को जोकोविच ने समर्थन भरा मैसेज भेजा। लेकिन फेडरर और नडाल दोनों ने ही कोई संदेश, कोई साथ नहीं दिया। सर्गी के मुताबिक दोनों ने शांत रहना ठीक समझा क्योंकि ये उनकी लड़ाई नहीं है। लेकिन सर्गी इस बात से खुश हैं कि कम से कम कुछ हस्तियों ने इस मसले पर यूक्रेन का साथ देने की बात कही है। सर्गी साल 2013 में रॉजर फेडरर को विम्बल्डन चैंपियनशिप के दूसरे दौर में हराने के बाद सुर्खियों में आए थे। तब फेडरर विश्व नंबर 3 थे और डिफेंडिंग चैंपियन भी थे। सर्गी फिलहाल यूक्रेन में हैं और अपने परिवार को हंगरी में छोड़कर रूस के खिलाफ युद्ध लड़ने के लिए लड़ाई के मैदान में हैं।

यूक्रेनी सेना की यूनिफॉर्म में तैयार पूर्व टेनिस खिलाड़ी सर्गी की ये फोटो वायरल हो रही है।
यूक्रेनी सेना की यूनिफॉर्म में तैयार पूर्व टेनिस खिलाड़ी सर्गी की ये फोटो वायरल हो रही है।

रूस पर लग चुका है बैन

रूस के हमले के बाद टेनिस जगत ने रूस और उसका साथ दे रहे बेलारूस पर टेनिस कोर्ट में भी शिकंजा कसा है। ITF, ATP, WTA जैसे टेनिस संघों ने सभी टीम प्रतियोगिताओं में रूस और बेलारूस के खेलने पर रोक लगा दी है। यही नहीं, किसी भी अंतर्राष्ट्रीय टेनिस टूर्नामेंट में रूस या बेलारूस के खिलाड़ी एकल और युगल प्रतियोगिताओं में भाग तो ले पाएंगे लेकिन इन दो देशों के राष्ट्रीय ध्वज का इस्तेमाल नहीं होगा। इस साल अक्तूबर के महीने में मॉस्को में होने वाले ATP और WTA ईवेंट को भी कैंसिल कर दिया गया है। दुनियाभर में टेनिस प्रेमी और कई खिलाड़ी यूक्रेन के हालात पर उसका समर्थन करते दिखाई दे रहे हैं। खुद रूस के निवासी और विश्व नंबर 1 डेनिल मेदवेदेव ने युद्ध खत्म करने की मांग की है, तो वहीं दुबई ओपन के दौरान विश्व नंबर 6 रूस के ही एंड्री रूब्लेव ने कैमरे पर No War Please लिखते हुए युद्ध खत्म करने की अपील की।

Edited by Prashant Kumar
Be the first one to comment