Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

योगेश्वर दत्त को हराने वाले पहलवान कांस्य मुक़ाबला जीतने से पहले मनाने लगे जश्न, रेफ़री ने दी हार

Syed Hussain
ANALYST
Modified 11 Oct 2018, 13:52 IST
Advertisement

रियो ओलंपिक्स 2016 के आख़िरी दिन कुछ ऐसा हुआ जो शायद ही कोई कभी भूल पाएगा और इसका असर दूसरे प्रतिभागियों पर भी पड़ेगा। दरअसल, कुश्ती के 65 किग्रा वर्ग में मंगोलिया के पहलवान मनदाखनरन गानज़ोरिग जिन्होंने क्वालीफ़िकेशन राउंड में भारत के योगेश्वर दत्त को शिकस्त देकर भारतीय उम्मीदों को तगड़ा झटका दिया था। हालांकि इसके बाद क्वार्टरफ़ाइनल में उन्हें भी हार का सामना करना पड़ा था, लेकिन इसके बाद उन्हें रेपचेज़ राउंड के ज़रिए कांस्य पदक जीतने का मौक़ा मिला। कांस्य पदक मैच में मंगोलिया के मनदाखनरन गानज़ोरिग का मुक़ाबला उज़बेकिस्तान के इख़्तियोर नवरुज़ोव के ख़िलाफ़ था। जहां पहले राउंड में 2-4 से पिछड़ने के बाद उन्होंने शानदार वापसी की और दूसरे दौर में उज़बेकिस्तान के पहलवान के ख़िलाफ़ 7-7 की बराबरी कर ली थी। मंगोलियन पहलवान के एक दांव पर अपने ख़िलाफ़ गए प्वाइंट्स पर उन्होंने ने रेफ़रल लिया जो फ़ेल हो गया, जिसके बाद एक अंक मंगोलियन पहलवान को मिल गया और अब 8-7 से मनदाखनरन गानज़ोरिग ने बढ़त बना ली थी। मैच में बस 4 सेकंड्स का खेल रह गया था, जिसका मतलब था मंगोलिया के पहलवान की जीत पक्की। कोच और समर्थक जश्न मनाने लगे और मंगोलिया के पहलवान भी पदक जीतने की ख़ुशी में मैच ख़त्म होने से पहले झूमने लगे थे। उज़बेकिस्तान के पहलवान इख़्तियोर नवरुज़ोव इससे नाराज़ होकर रेफ़री से शिकायत कर बैठे और फिर रेफ़री ने जानबूझकर डिफ़ेंसिव रवैया अपनाने के लिए मंगोलियन पहलवान पेनल्टी लगा दी और एक अंक उज़बेकिस्तान के पहलवान को मिल गया। यानी एक बार फिर स्कोर बराबर और नियमानुसार स्कोर बराबर होने पर जिसे आख़िरी अंक मिलता है जीत उसकी मानी जाती है, लिहाज़ा उज़बेकिस्तान के पहलवान अब कांस्य के हक़दार हो गए थे। इससे नाराज़ होकर मंगोलियन पहलवान के कोच और सपोर्ट स्टाफ़ ने रेफ़री के साथ साथ वहां बैठे जज और ऑफ़िशियल के ख़िलाफ़ प्रदर्शन करने लगे। सभी ने अपने कपड़े उतार दिए और नंगधड़ंग होकर मैच बहिष्कार  के नारे लगाने लगे। रेफ़री ने जब मंगोलिया के पहलवान को अखाड़े में आने को कहा तो उन्होंने इंकार कर दिया, लिहाज़ा एक और अंक उज़बेकिस्तान के पहलवान को मिला और उन्हें विजेता घोषित कर दिया गया। जो कांस्य पदक मंगोलिया के पहलवान के पास जा रहा था, जश्न मनाने की जल्दबाज़ी की वजह से उसके विजेता उज़बेकिस्तान के इख़्तियोर नवरुज़ोव हो गए। वहां बैठे तमाम दर्शक और पूरी दुनिया में इस मुक़ाबले को टीवी पर देख रहे खेल प्रेमी हतप्रभ रह गए, कुछ देर के लिए उन्हें कुछ समझ में ही नहीं आ रहा था कि आख़िर हो क्या रहा है। आप इस विवादास्पद मैच का वीडियो यहां देख सकते हैं:

Published 21 Aug 2016, 23:37 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit