Create
Notifications

10 भारतीय खिलाड़ी जिन्हें टी20 वर्ल्ड कप टीम का हिस्सा होने के बावजूद प्लेइंग इलेवन में खेलने का मौका नहीं मिला 

इन भारतीय खिलाड़ियों को नहीं मिला खेलने का मौका
इन भारतीय खिलाड़ियों को नहीं मिला खेलने का मौका
मयंक मेहता
visit

भारतीय टीम ने 2007 में हुए पहले टी20 वर्ल्ड कप को जीता था। उसके बाद से अभी तक 6 टी20 वर्ल्ड कप (2009,10,12,14,16 और 2021) और हो चुके हैं। हालांकि भारतीय टीम पहले टूर्नामेंट के बाद सिर्फ 2014 और 2016 में ही नॉकआउट मुकाबलों तक पहुंची।

2009, 2010 और 2012 में भारतीय टीम का सफर सुपर 8 में ही समाप्त हो गया। दूसरी तरफ 2014 में हुए टूर्नामेंट में भारत ने फाइनल तक का सफर तय किया, जहां उन्हें श्रीलंका के खिलाफ हार का सामना करना पड़ा था। 2016 में भारत सेमीफाइनल तक पहुंचा था। इसके अलावा 2021 टी20 वर्ल्ड कप में टीम सुपर 12 से ही बाहर हो गई।

हालांकि टी20 वर्ल्ड कप में अभी तक ऐसे कई खिलाड़ी रहे हैं जो 15 सदस्यीय टीम का हिस्सा तो थे, लेकिन उन्हें प्लेइंग इलेवन में खेलने का मौका नहीं मिला।

आइए नजर डालते हैं उन 10 खिलाड़ियों पर जिन्हें टी20 वर्ल्ड कप की टीम का हिस्सा होने के बावजूद खेलने का मौका नहीं मिला:

#) 2007 टी20 वर्ल्ड कप (पीयूष चावला)

पीयूष चावला
पीयूष चावला

भारतीय टीम: महेंद्र सिंह धोनी, युवराज सिंह, वीरेंदर सहवाग, गौतम गंभीर, दिनेश कार्तिक, रॉबिन उथप्पा, रोहित शर्मा, यूसुफ पठान, हरभजन सिंह, आरपी सिंह, श्रीसंत ,इरफान पठान, अजीत अगरकर, पीयूष चावला और जोगिंदर शर्मा।

2007 में दक्षिण अफ्रीका में पहला टी20 वर्ल्ड कप हुआ था। फाइनल में भारत ने पाकिस्तान को हराते हुए खिताबी जीत दर्ज की थी। 2007 टी20 वर्ल्ड कप में भारतीय टीम की 15 सदस्यीय टीम से 14 खिलाड़ियों को खेलने का मौका मिला था। हालांकि लेग स्पिनर पीयूष चावला एक भी मैच नहीं खेल पाए और उन्हें पूरे टूर्नामेंट के दौरान बाहर ही बैठना पड़ा था।

नोट: 2021 टी20 वर्ल्ड कप में सभी 15 सदस्यों को प्लेइंग XI में खेलने का मौका मिला

#) 2009 टी20 वर्ल्ड कप (दिनेश कार्तिक और प्रवीण कुमार)

दिनेश कार्तिक
दिनेश कार्तिक

भारतीय टीम: महेंद्र सिंह धोनी, युवराज सिंह, रोहित शर्मा, गौतम गंभीर, सुरेश रैना, यूसुफ पठान, रविंद्र जडेजा, हरभजन सिंह, प्रज्ञान ओझा, आरपी सिंह, इरफान पठान, जहीर खान, इशांत शर्मा, दिनेश कार्तिक और प्रवीण कुमार।

2009 में दूसरा टी20 वर्ल्ड कप इंग्लैंड में हुआ था। बतौर गत विजेता टूर्नामेंट में भारत का प्रदर्शन काफी खराब रहा था और टीम सुपर 8 में अपने सभी मुकाबले हारने के कारण टूर्नामेंट से बाहर हो गई थी। भारतीय 15 सदस्यीय टीम में 13 खिलाड़ियों को प्लेइंग इलेवन में खेलने का मौका मिला, लेकिन दो खिलाड़ी ऐसे रहे जिन्हें एक भी मैच खेलने का मौका नहीं मिला।

वीरेंदर सहवाग की जगह टीम में शामिल किए गए दिनेश कार्तिक और तेज गेंदबाज प्रवीण कुमार पूरे टूर्नामेंट में एक भी मैच नहीं खेल पाए।

#) 2010 टी20 वर्ल्ड कप (उमेश यादव)

India v Pakistan - Twenty20 Warm Up Match
India v Pakistan - Twenty20 Warm Up Match

भारतीय टीम: महेंद्र सिंह धोनी, युवराज सिंह, मुरली विजय, गौतम गंभीर, दिनेश कार्तिक, रोहित शर्मा, यूसुफ पठान, रविंद्र जडेजा, आशीष नेहरा, पीयूष चावला, हरभजन सिंह, जहीर खान, सुरेश रैना, विनय कुमार और उमेश यादव।

2010 में टी20 वर्ल्ड कप वेस्टइंडीज में हुआ था। 2009 की तरह 2010 में भी ग्रुप स्टेज में दोनों मैच जीतने वाली भारतीय टीम सुपर 8 में तीनों मैच हारने के कारण टूर्नामेंट से बाहर हो गई। वैसे तो भारतीय टीम के 15 खिलाड़ियों को खेलने का मौका मिला, लेकिन ग्रुप स्टेज के बाद प्रवीण कुमार टूर्नामेंट से बाहर हो गए।

प्रवीण कुमार की जगह टीम में शामिल किए गए उमेश यादव को एक भी मैच में प्लेइंग इलेवन में खेलने का मौका नहीं मिला।

#) 2012 टी20 वर्ल्ड कप (मनोज तिवारी)

मनोज तिवारी
मनोज तिवारी

भारतीय टीम: महेंद्र सिंह धोनी, युवराज सिंह, रोहित शर्मा, वीरेंदर सहवाग, गौतम गंभीर, सुरेश रैना, इरफान पठान, रविचंद्रन अश्विन, पीयूष चावला, लक्ष्मीपति बालाजी, हरभजन सिंह,अशोक डिंडा, जहीर खान और मनोज तिवारी।

2012 में टी20 वर्ल्ड कप श्रीलंका में हुआ था, लेकिन एक बार फिर भारतीय टीम का प्रदर्शन खास नहीं रहा और सुपर 8 स्टेज के बाद ही भारत टूर्नामेंट से बाहर हो गई थी। हालांकि भारत ने इस बार सुपर 8 में दो मुकाबले जीते, लेकिन फिर भी अंतिम दौर में नहीं पहुंच पाई। भारतीय टीम के 15 सदस्यीय टीम में से सिर्फ मनोज तिवारी को ही खेलने का मौका नहीं मिला।

#) 2014 टी20 वर्ल्ड कप (वरुण आरोन और स्टुअर्ट बिन्नी)

भारतीय टीम
भारतीय टीम

भारतीय टीम: महेंद्र सिंह धोनी, युवराज सिंह, विराट कोहली, रोहित शर्मा, शिखर धवन, सुरेश रैना, अजिंक्य रहाणे, रविंद्र जडेजा, रविचंद्रन अश्विन, मोहम्मद शमी, भुवनेश्वर कुमार, मोहित शर्मा, अमित मिश्रा, वरुण आरोन और स्टुअर्ट बिन्नी।

बांग्लादेश में 2014 में हुआ टी20 वर्ल्ड कप हुआ था। भारतीय टीम का प्रदर्शन पूरे टूर्नामेंट में बेहतरीन रहा था और बिना कोई मैच हारे फाइनल तक पहुंची थी। फाइनल में श्रीलंका ने भारत को हराया था। भारतीय टीम से सिर्फ ऑलराउंडर स्टुअर्ट बिन्नी और तेज गेंदबाज वरुण आरोन को पूरे टूर्नामेंट में एक भी मैच खेलने का मौका नहीं मिला।

#) 2016 टी20 वर्ल्ड कप (भुवनेश्वर कुमार, हरभजन सिंह और पवन नेगी)

हरभजन सिंह
हरभजन सिंह

भारतीय टीम: महेंद्र सिंह धोनी, युवराज सिंह, विराट कोहली, रोहित शर्मा, शिखर धवन, मनीष पांडे, अजिंक्य रहाणे, रविंद्र जडेजा, रविचंद्रन अश्विन, जसप्रीत बुमराह, आशीष नेहरा, सुरेश रैना, हार्दिक पांड्या, हरभजन सिंह, भुवनेश्वर कुमार और पवन नेगी।

भारत में ही 2016 टी20 वर्ल्ड कप का आयोजन हुआ था। भारत ने 4 में से तीन मुकाबले जीतकर सेमीफाइन में जगह बनाई। हालांकि सेमीफाइनल में भारत को वेस्टइंडीज के हाथों शिकस्त का सामना करना पड़ा था। भारतीय टीम के तीन ऐसे खिलाड़ी रहे जिन्हें पूरे टूर्नामेंट में एक भी मुकाबला खेलने का मौका नहीं मिला। इसमें हरभजन सिंह, पवन नेगी और भुवनेश्वर कुमार के नाम शामिल हैं।

Edited by मयंक मेहता
Article image

Go to article

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now