Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

टेस्ट क्रिकेट की 10 सबसे बड़ी साझेदारियां जिन्होंने मैच बचाया

Modified 15 Sep 2017
Advertisement
क्रिकेट के किसी भी प्रारुप में एक अच्छी साझेदारी की बहुत ही अहमियत होती है। टी20 क्रिकेट से लेकर टेस्ट मैच तक हर जगह साझेदारी से ही मैच जीते जाते हैं। टेस्ट मैचों में लंबी साझेदारी का बहुत बड़ा रोल होता है। पार्टरनशिप से मैच बचाए भी जाते हैं और जीते भी जाते हैं। टेस्ट क्रिकेट में कुछ पार्टनरशिप इतनी महत्वपूर्ण रही हैं कि उन्होंने हारे हुए मैच को भी बचा लिया है। कुछ ऐसी आश्चर्यचकित साझेदारियां रहीं जिनसे किसी को उम्मीद नहीं थी और उन्होंने मैच को जिता दिया। पिछले कई वर्षों में टेस्ट क्रिकेट में कई भव्य साझेदारियां हुई हैं लेकिन उनमें से ज्यादातर ऐसी नहीं रही हैं जिन्होंने मैच में जीत दिलायी है। आईये ऐसी ही 10 बेहतरीन पारियों पर नजर डालते हैं- #10 फाफ डू प्लेसी और एबी डिविलियर्स बनाम ऑस्ट्रेलिया, एडिलेड, 2012   du plesi   दक्षिण अफ्रीका ने 2012 के अंत में 3 टेस्ट मैचों की टेस्ट सीरीज़ के लिए ऑस्ट्रेलिया का दौरा किया। ब्रिस्बेन में खेला गया पहला टेस्ट ड्रॉ हो गया था और दूसरा टेस्ट एडिलेड में हुआ था। ऑस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाजी की और कप्तान माइकल क्लार्क के बेहतरीन 257 गेंदों में 230 रन और डेविड वार्नर और माइकल हसी की शतकीय पारी की बदौलत पहली पारी में 550 रनों का स्कोर खड़ा किया। जिसके जवाब में मेजबान टीम ग्रीम स्मिथ के शानदार 122 रन, अल्विरो पीटरसन, फाफ डू प्लेसी और जैक कैलिस के अर्धशतक की बदौलत भी सिर्फ 388 रन ही बना सकी। दूसरी पारी में ऑस्ट्रेलिया ने 267/8 पर पारी घोषित कर दी और साउथ अफ्रीका के सामने 430 रनों का लक्ष्य रखा। दक्षिण अफ्रीका के पास लक्ष्य का पीछा करने के लिए पूरा डेढ़ दिन का समय था। लेकिन दक्षिण अफ्रीका की पारी की शुरुआत बेहद खराब रही और शुरुआती 4 विकेट सिर्फ 45 रन पर गिर गये। इसके बाद क्रीज पर उतरे डू प्लेसी और एबी डीविलियर्स ने रक्षात्मक रणनीति को अपनाते हुए चौथे दिन की समाप्ति तक कोई और विकेट गिरने नहीं दिया। डीविलियर्स आम तौर पर आक्रामक बल्लेबाजी के लिये जाने जाते है, लेकिन उस मैच में उन्होंने 220 गेंदों में सिर्फ 33 रन बनाये। इस साझेदारी को आखिरकार पीटर सिडल ने तोड़ा जब उन्होंने टीम को एबीडी से छुटकारा दिलाया लेकिन डु प्लेसी ने अपनी पारी को बढ़ाते हुए आखिरकार अपना पहला टेस्ट शतक बनाया। आखिरकार मैच ड्रॉ पर समाप्त हुआ और साउथ अफ्रीका ने फाफ डू प्लेसी के नाबाद 110 रनों की पारी की बदौलत 8 विकेट खोकर 248 रन बनाए। डू प्लेसी और डीविलियर्स के बीच साझेदारी महत्वपूर्ण साबित हुई और दोनों ने अपनी साझेदारी की बदौलत टीम को हार से बचाा।
1 / 10 NEXT
Published 15 Sep 2017, 16:37 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now