Create
Notifications

चैंपियंस ट्राफी से ठीक पहले ये 10 खिलाड़ी शानदार फॉर्म में चल रहे हैं

जितेंद्र तिवारी
visit

जून में इंग्लैंड की मेजबानी में होने वाले चैंपियंस ट्राफी में दुनिया के 8 देश भाग लेंगे। वनडे प्रारूप में होने वाले इस टूर्नामेंट के लिए सभी टीमें अपने बेहतरीन संयोजन को तैयार करने में लगी हुई हैं। जिनमें ज्यादातर टीमों ने अपने अंतिम 15 खिलाड़ी तैयार कर लिए हैं और कुछ अभी भी 2-3 जगहों पर नये चेहरों को मौका देकर फिट करने की कोशिश कर रही हैं। जिनमें कई टीमें ऐसी हैं, जिनके पास वनडे मैच बचे हैं, जबकि कुछ के पास नहीं हैं। पिछले साल के अंत और नये साल के आरम्भ में वनडे की कई द्विपक्षीय सीरिज हुई। जिनमें कई खिलाड़ियों ने अपनी क्षमता का परिचय देते हुए चैंपियंस ट्राफी के लिए अपना दावा पेश किया। इस लेख के जरिये हम आज 10 बेहतरीन खिलाड़ियों पर नजर डाल रहे हैं: बेन स्टोक्स- इंग्लैंड ben-stokes-1485779825-800 बेन स्टोक्स ने इंग्लैंड के बहुचर्चित आलराउंडर हैं। जिन्होंने अपनी क्षमता का लोहा मनवाया है। गेंदबाज़ी में वह डेथ ओवर में और बल्लेबाज़ी में वह कभी भी किसी भी विरोधी टीम के लिए खतरे की घंटी बनकर बज सकते हैं। स्टोक्स की गेंदों में अतिरिक्त उछाल देखने को मिलता है। साल 2016 अगस्त तक स्टोक्स के नाम 45 के स्ट्राइक रेट और 67 के औसत से 8 विकेट दर्ज हैं। इसके लिए उन्हें 469 रन खर्च किये हैं। हसन अली – पाकिस्तान पाकिस्तान के नये तूफानी गेंदबाज़ हसन अली ने शानदार खेल दिखाकर वनडे टीम में अपनी जगह सुनिश्चित की है। मोहम्मद आमिर के साथ हसन अली ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ गेंदबाज़ी की शुरुआत करते नजर आये थे। साल 2016 अगस्त से लेकर अबतक अली ने 13 मुकाबलों से 23 विकेट लिए हैं। जहां उन्होंने एक पारी में 52 रन देकर 5 विकेट लिए हैं तो उनका स्ट्राइक रेट 28।12 है। ऐसे में हसन अली चैंपियंस ट्राफी में पाकिस्तान के लिए खेलते नजर आ सकते हैं। मिचेल स्टार्क – ऑस्ट्रेलिया दुनिया के तूफानी गेंदबाजों में से एक मिचेल स्टार्क ऑस्ट्रेलिया के अहम तेज गेंदबाज़ हैं। उनकी तेज तर्रार यॉर्कर गेंदें बल्लेबाजों के लिए खौफ से कम नहीं होती हैं। पिछले 5 महीनों में 13 मैचों में स्टार्क ने सबसे ज्यादा 28 विकेट अपने नाम किये हैं। केदार जाधव – भारत केदार जाधव भारतीय टीम नये मध्यक्रम के बल्लेबाज़ हैं। मनीष पाण्डेय के साथ उन्हें अजमाया गया, जहां वह खरे उतरे। ऐसे में उनमें ये क्षमता देखी गयी कि वह धोनी बाद भारतीय टीम के छठे नम्बर पर खेलने वाले बल्लेबाज़ बन सकते हैं। जाधव ने 64 के औसत से 8 मैचों में 322 रन बनाये हैं। इंग्लैंड के खिलाफ केदार जाधव ने जिस तरह बल्लेबाज़ी की थी वह वाकई काबिलेतारीफ रही है। क्विंटन डीकॉक – दक्षिण अफ्रीका दक्षिण अफ्रीका के विकेटकीपर बल्लेबाज़ डीकाक मौजूदा समय के सबसे खतरनाक सलामी बल्लेबाज़ हैं। डीकाक ने प्रोटेस को कई मुकाबलों में जीत दिलाया है। पॉवरप्ले में डीकाक सर्किल घेरे का बढ़िया इस्तेमाल करते हैं उनका औसत बीते कुछ महीने से 60 का रहा है। ऐसे में चैंपियंस ट्राफी में अपनी टीम के अहम अंग होंगे। स्टीवन स्मिथ – ऑस्ट्रेलिया ऑस्ट्रेलया के कप्तान स्टीवन स्मिथ मौजूदा समय में दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज़ हैं। बीते 5 महीने में स्मिथ ने 3 शतक और 4 अर्धशतक लगाये हैं। वार्नर के बाद स्मिथ ऑस्ट्रेलियाई टीम के सबसे बेहतरीन बल्लेबाजों में शुमार हैं। 16 मैचों में स्मिथ ने 53 से ज्यादा के औसत से 755 रन बनाये हैं। जेसन रॉय – इंग्लैंड इंग्लैंड के सलामी बल्लेबाज़ जेसन रॉय वनडे में धमाकेदार शुरुआत करने के लिए जाने जाते हैं। भारत के खिलाफ उन्होंने 3 अर्धशतक बनाये थे। हालांकि उन्हें 50 को 100 में बदलना होगा। रॉय ने बीते 5 अर्धशतक और एक शतक बनाया है। रूट, मॉर्गन, बटलर और स्टोक्स के साथ मिलकर रॉय अपनी टीम को बढ़िया शुरुआत दे सकते हैं। उनका कन्वर्शन रेट भी चैंपियंस ट्राफी में मायने रखता है। डेविड वार्नर – ऑस्ट्रेलिया ऑस्ट्रेलिया के विध्वंसक बल्लेबाज़ डेविड वार्नर मौजूदा फॉर्म की बदौलत दुनिया के नम्बर एक बल्लेबाज़ बन गये हैं। अगस्त 2016 से उन्होंने 7 शतक लगाते हुए 1200 रन बनाये हैं। उनका स्ट्राइक रेट इस दौरान 108 का रहा है। उनकी खासियत वह लम्बी पारी और तेजी से रन जुटाते हैं। जो ऑस्ट्रेलिया के लिए काफी अहम साबित होगा। बाबर आज़म – पाकिस्तान पाकिस्तान को लम्बे समय बाद मध्यक्रम का एक बेहतरीन बल्लेबाज़ मिल गया है। बाबर आजम वनडे में बीते कुछ महीनों से लगातार रन बना रहे हैं। वार्नर के बाद 56 से ज्यादा के औसत से आज़म ने सबसे ज्यादा 793 रन बनाये हैं। आज़म के नाम 4 शतक है। जिसमें से उन्होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ 3 शतक लगातार बनाये थे। उनकी मौजूदा फॉर्म को देखते हुए वह चैंपियंस ट्राफी में खेलते हुए नजर आ सकते हैं। विराट कोहली – भारत जोशीले भारतीय कप्तान विराट कोहली ने सभी फॉर्मेट में शानदार खेल दिखाने का काम किया है। वनडे में कोहली ने रन चेज मास्टर बन गये हैं। उनकी तुलना दुनिया के किसी बल्लेबाज़ से नहीं है। बिना किसी शक के कोहली बढ़िया परिस्थितियों में भारत के शानदार बल्लेबाज़ साबित हो सकते हैं। पिछले कुछ महीनों में कोहली ने 2 शतक और 3 अर्धशतक बनाये हैं। जहां उनका औसत 90 का रहा है। ऐसे में चैंपियंस ट्राफी में उन्हें देखना दिलचस्प होगा।

Edited by Staff Editor
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now