Create
Notifications
New User posted their first comment
Advertisement

11 भारतीय खिलाड़ी जिन्होंने श्रीलंका के खिलाफ अपना टेस्ट डेब्यू किया

Modified 28 Jul 2017, 17:52 IST
Advertisement
2015 के बाद भारत अब अगस्त में श्रीलंका के दौरे पर होगा, जहां दोनों देशों के बीच 3 मैचों की टेस्ट सीरीज खेली जानी है। सीरीज से पहले श्रीलंका प्रेसिडेंट XI और भारत के बीच 2 दिनों का वॉर्म अप मैच खेला गया। मैच ड्रॉ रहा। मेजबान टीम 187 रनों पर ऑल आउट हो गई, जिसके जवाब में भारत ने 312/9 पर अपनी पारी घोषित की। दोनों देशों के टेस्ट क्रिकेट के 35 साल के इतिहास में कई भारतीय खिलाड़ियों ने अपने करियर की शुरूआत की। इनमें से 11 खिलाड़ियों की फेहरिस्त आपके सामने हैः #11 नमन ओझा CRICKET-SRI-IND आईपीएल-3 में अपने शानदार प्रदर्शन के बल पर इस विकेटकीपर बल्लेबाज ने टीम इंडिया में जगह बनाई। उन्हें जिम्बाब्वे दौरे पर होने वाली त्रिकोणीय श्रृंखला के लिए चुना गया। तीसरी टीम थी श्रीलंका। सीरीज में 2 टी-20 मैच भी खेले गए। श्रृंखला में ओझा का प्रदर्शन बेहद खराब रहा। वह श्रीलंका के खिलाफ खेले गए एकमात्र वनडे मैच में सिर्फ 1 रन बना सके और दोनों टी-20 मैचों में उन्होंने महज 12 बनाए। 5 साल बाद श्रीलंका दौरे पर नमन को ऋद्धिमान साहा के बैकअप कीपर के तौर पर टीम में जगह मिली। साहा के चोटिल होने की वजह से मध्य प्रदेश के इस खिलाड़ी को आखिरी टेस्ट में खेलने का मौका मिला। करियर के पहले टेस्ट में ओझा ने पहली पारी में 21 रन और दूसरी में 35 रन बनाए। उन्होंने मैच में कुल 4 कैच पकड़े और एक स्टम्पिंग भी की। भारत ने 117 रनों से मैच जीत लिया। हालांकि, इसके बाद उन्हें कभी टेस्ट टीम में जगह नहीं मिल पाई। #10 अभिमन्यु मिथुन Indian cricketer Abhimanyu Mithun reacts कर्नाटक के इस तेज गेंदबाज ने 2009-10 रणजी ट्रॉफी में शानदार प्रदर्शन किया। उन्होंने 23.23 के औसत के साथ टूर्नामेंट में सबसे ज्यादा विकेट (47) लिए। कर्नाटक फाइनल तक पहुंचा, लेकिन आखिरी मुकाबले में टीम मुंबई से हार गई। रणजी में अपने अच्छे प्रदर्शन के दम पर उन्हें टीम इंडिया में जगह मिली। उन्होंने 27 फरवरी, 2010 को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अपने वनडे करियर की शुरूआत की। कुछ महीनों बाद ही मिथुन ने गॉल में श्रीलंका के खिलाफ करियर का पहला टेस्ट खेला। पहली पारी में 104 रनों पर 4 विकेट लिए और अंतरराष्ट्रीय टेस्ट करियर में दिलशान उनके पहले शिकार बने। दूसरी पारी में किसी भी भारतीय गेंदबाज को विकेट नहीं मिला और श्रीलंका ने 10 विकेट से मैच जीत लिया। मिथुन को आगे 2 टेस्ट मैचों में भी मौका दिया गया, लेकिन वह 4 पारियों में मिलाकर कुल 2 विकेट ले सके। हालांकि, दूसरे और तीसरे टेस्ट की पहली पारियों में मिथुन ने क्रमशः 41 और 46 रन बनाए। इसके बाद मिथुन ने सिर्फ वेस्टइंडीज के खिलाफ 2011 में एक टेस्ट मैच खेला।
1 / 6 NEXT
Published 28 Jul 2017, 17:52 IST
Advertisement
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now
❤️ Favorites Edit