Create

2016-17 रणजी ट्रॉफी क्वार्टर-फाइनल के 5 बेहतरीन प्रदर्शन

aa-Cover-cql75fdcc8r8fmd6a2h40qsps0-20161226050059.Medi
चित्रा सिंह

साल 2016-17 के रणजी क्वार्टरफाइनल मुकाबले इस बार हर मायने में रोमांचक रहे। हर मैच में कई बेहतरीन खेल तो कई बेहतरीन खिलाड़ी देखने को मिले, हर टीम की तरफ से। हर मैच में एक न एक खिलाड़ी स्टार प्लेयर बनकर उभरा, फिर चाहे टीम हारी हो या जीती हो। बल्ले औऱ गेंद दोनों से ही खिलाड़ियों का दम देखने को मिला। तो चलिए साल के आखिर में रणजी क्वार्टरफाइनल के मैच के कुछ ऐसै ही खिलाड़ियों के बारे में बताते हैं: #5 मोहम्मद सिराज भले ही हैदराबाद क्वार्टरफाइनल में मुम्बई से हार गया हो लेकिन इस मैच ने हैदराबाद की रणजी टीम को एक नया स्टार खिलाड़ी दे दिया। मोहम्मद सिराज ने पहली पारी में 64 पर 4 विकेट लेकर तो वहीं दूसरी पारी में 52 पर 5 विकेट लेकर मुम्बई की टीम के स्कोर से बढ़ने से मदद की तो वहीं अपनी टीम का मनोबल बढ़ाने का काम भी किया। हांलाकि सिराज के विकेट लेने के बाद भी टीम को हार का सामना करना पड़ा क्योंकि गेंदबाजों ने तो अपना दम दिखा दिया पर बल्लेबाज़ इसे भुना नहीं पाए। #4 अभिषेक नायर nayara-1482839720-800 रोहित शर्मा और अजिंक्य रहाणे की गैर मौजूदगी में मुम्बई की टीम को सम्हालने का काम किया अभिषेक नायर ने । मुंबई ने एक रोमांचक क्वार्टर फाइनल में हैदराबाद को 30 रन से हराकर रणजी ट्रॉफी के सेमीफाइनल में जगह बना ली है। इस जीत के हीरो भी ऑलराउंडर और मैन ऑफ द मैच अभिषेक नायर रहे । उन्होंने मैच में 100 रन देकर 9 विकेट लिये इतना ही नहीं बल्कि टीम की जीत में बल्ले से भी अपना दम दिखाते हुए अर्धशतक जड़ा। यह उनके 11 साल के फर्स्ट क्लास करियर का अब तक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। खिलाड़ी ने पहली पारी में शानदार अर्धशतक भी लगाया था। मैच के अंतिम दिन हैदराबाद की टीम 232 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए 201 रन पर ऑलआउट हो गई। #3 शाहबाज नदीम shaaa-1482839652-800 लेफ्ट आर्म स्पिनर शाहबाज नदीम जिनका शानदार खेल हम साल 2012 के आईपीएल में देख चुके हैं उनकी घातक गेंदबाजी की बदौलत झारखण्ड ने क्वार्टरफाइनल में हरियाणा को पांच विकेट से हरा दिया। शाहबाज ने हरियाणा के खिलाफ खेले गए क्वार्टरफाइनल मुकाबले में 11 विकेट झटके। पहली पारी में नदीम ने 79 के स्कोर पर हरियाणा के 7 विकेट चटका कर हरियाणा को 258 पर समेट दिया ।वहीं दूसरी पारी में 4 विकेट चटका कर 262 पर समेट दिया। झारखण्ड की टीम ने मैच के चौथे ही दिन पांच विकेट पर 178 रन बनाकर जीत दर्ज की। यह पहला मौका था, जब झारखंड की टीम रणजी ट्रॉफी के सेमीफाइनल में पहुंची ।#2 अश्विन क्रिस्ट ashsin11-1482839584-800 रणजी में अपने ठीक ठाक प्रदर्शन के चलते तमिलनाडु की टीम के लिए कर्नाटक जैसी मजबूत टीम के सामने चुनौती काफी कड़ी थी लेकिन इस मैच में टीम का हौसला बढ़ाने का काम किया तेज गेंदबाज अश्विन क्रिस्ट ने। अश्विन ने अपने करियर की सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी से रणजी ट्रॉफी क्वार्टर फाइनल के पहले ही दिन कर्नाटक को 88 रन पर समेट दिया । एक ही पारी में 6 विकेट लेकर कर्नाटक के किले को ढेर कर दिया। हांलाकि दूसरी ही पारी में अश्विन सिर्फ एक ही विकेट ले सके पर पहले मैच में जिस तरह का शानदार प्रदर्शन कर टीम के मनोबल को बढाया वो वाकई काबिल-ए-तारीफ रहा।#1 समित गोहेल _02a151a4-cc2f-11e6-b3cb-dcd306bf19b8 जयपुर के सवाई मानसिंह स्टेडियम में हुए मैच में गुजरात के ओपनर समित गोहेल ने 117 साल पुराने रिकार्ड को तोड़ा डाला। रणजी क्वार्टर फाइनल मैच में गुजरात की ओर से खेलते हुए नाबाद 359 रन बनाए। समित इस मैदान पर फर्स्ट क्लास मैच में ओपनर के तौर पर एक पारी में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज भी बन गए। इसके साथ ही 26 साल के गोहेल वश्व स्तर पर किसी भी फर्स्ट क्लास मैच में ऐसे पहले ओपनिंग बल्लेबाज बन गए हैं, जिन्होने नाबाद 359 रन बनाए। इसी मैच में समित ने 117 साल पुराना रिकॉर्ड भी ध्वस्त किया। समित गोहेल से पहले साल 1899 में इंग्लिश काउंटी टीम सरे के ओपनर बॉबी अबेल ने समरसेट के खिलाफ 357 रनों की पारी खेली थी और नाबाद लौटे थे। अब समित ने उन्हें पीछे छोड़ दिया है। गुजरात रणजी टीम की ओर से साल 2016 से पहले कभी भी ट्रिपल सेंचटुरी नहीं लगी थी। गोहेल ने 723 गेंदों पर ये स्कोर खड़ा किया, जिसमें उन्होंने 45 चौके और एक छक्का जड़ा। गुजरात अपनी दूसरी पारी में 641 रन पर ऑल आउट हुआ और ओडिशा के सामने जीत के लिए 706 रन का विशाल लक्ष्य रखा।

Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...