Create
Notifications

ICC Under 19 World Cup की सर्वश्रेष्ठ एकादश, पृ्थ्वी शॉ हैं कप्तान

Himanshu Kothari

क्रिकेट के मैदान में अंडर-19 विश्व कप एक ऐसा टूर्नामेंट हैं जहां युवा अपने खेल का प्रदर्शन कर सकते हैं। हाल ही में न्यूजीलैंड में अंडर-19 क्रिकेट विश्व कप का समापन हुआ। इस टूर्नामेंट में 16 टीमों ने हिस्सा लिया और आखिर में भारतीय क्रिकेट टीम ने रिकॉर्ड चौथी बार इस खिताब को अपने नाम कर लिया। अंडर-19 क्रिकेट विश्व कप के फाइनल मुकाबले में भारतीय टीम का सामना ऑस्ट्रेलिया से हुआ। फाइनल मुकाबले में ऑस्ट्रेलियाई टीम ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया। जिसके बाद भारतीय गेंदबाजों ने अपना जलवा दिखाया और ऑस्ट्रेलियाई टीम को 47.2 ओवर में 216 रनों के स्कोर पर ही समेट कर रख दिया। इसके जवाब में भारतीय टीम ने आसानी से 38.5 ओवर में 2 विकेट के नुकसान पर 220 रन बनाकर लक्ष्य हासिल कर लिया और खिताब पर कब्जा जमा लिया। इस टूर्नामेंट में कई खिलाड़ियों ने अपने प्रदर्शन से लोगों का दिल जीता लेकिन इस टूर्नामेंट से कुछ ही खिलाड़ी आखिरी ग्याराह में जगह बना पाने में कामयाब हो पाए। आइए अंडर 19 वर्ल्ड कप की बेस्ट प्लेइंग-XI पर डालते हैं एक नजर:

राचीन रवींद्र (न्यूजीलैंड)

न्यूजीलैंड के धाकड़ बल्लेबाज राचीन रवींद्र ने अंडर 19 विश्व कप में जमकर रन बनाए। साथ ही अपने बल्ले के अलावा उन्होंने अपने गेंदबाजी से भी जलवा बिखेरा। इस टूर्नामेंट में उन्होंने न्यूजीलैंड के लिए 6 पारियों में खेलते हुए 38.83 की औसत और करीब 90 की स्ट्राइक रेट से 233 रन बनाए। इसके साथ ही इस 18 वर्षीय खिलाड़ी ने ऑलराउंड प्रदर्शन करते हुए विकेट टेकिंग गेंदबाजी भी की। इस टूर्नामेंट में उन्होंने शानदार गेंदबाजी करते हुए 13 विकेट हासिल किए। अंडर 19 विश्व कप 2018 में सबसे ज्यादा विकेट लेने के मामले में राचीन चौथे पायदान पर रहे। इस टूर्नामेंट में उनका बेस्ट बॉलिंग फिगर साउथ अफ्रीका के खिलाफ 32 रन पर 4 विकेट रहा।

पृथ्वी शॉ, कप्तान (भारत)

भारतीय टीम ने पृथ्वी शॉ की कप्तानी में ही अंडर 19 विश्व कप के खिताब को अपने नाम किया है। भारतीय टीम को अंडर 19 का खिताब जिताने के साथ ही शॉ ने इतिहास के पन्नों में अपना नाम दर्ज करवा लिया है। शॉ हमारी प्लेइंग-XI में एक सलामी बल्लेबाज और कप्तान होंगे। पृथ्वी शॉ ने अंडर 19 विश्व कप में शानदार प्रदर्शन किया और टीम की जीत में अहम भूमिका निभाई। इस टूर्नामेंट में पांच पारियां खेलते हुए पृथ्वी शॉ ने 65.25 की औसत से 261 रन बनाए। हर मैच में शॉ अपनी टीम को मजबूत शुरुआत देने की बात जरूर ध्यान में रखते थे। अंडर 19 टूर्नामेंट में खेली गई पांच पारियों में शॉ ने 94, 57*, 40, 41 और 29 रन बनाए।

शुबमन गिल (भारत)

भारत के लिए अंडर-19 वर्ल्डकप में नंबर तीन पर बल्लेबाजी करने वाले बल्लेबाज शुबमन गिल निश्चित रूप से स्टार बनने जा रहे हैं। अंडर 19 विश्व कप में अपनी धाकड़ बल्लेबाजी से शुभमन गिल ने हर किसी को हैरानी में डाल दिया। इस टूर्नामेंट में उन्होंने शानदार 124 की औसत और 112.38 की स्ट्राइक रेट से पांच पारियों में 372 रन ठोक डाले। जिम्बाब्वे के खिलाफ 140 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए गिल ने लाजवाब बल्लेबाजी पेश की और टीम के लिए बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए नाबाद 90 रन बना डाले। इस टूर्नामेंट में ये उनका बेस्ट स्कोर भी रहा।

रेनार्ड वैन टोंडर (दक्षिण अफ्रीका)

दक्षिण अफ्रीका के कप्तान रेनार्ड वैन टोंडर इस अंडर 19 विश्व कप में टीम की जान थे। इस दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज ने इस टूर्नामेंट में अपनी टीम को कई बार बुरी परिस्थितियों से भी बचाया। टोंडर ने 6 पारियों में 69.6 की औसत से 348 रन बनाए और गंभीर हालातों में भी उन्होंने अपनी स्ट्राइक रेट को कभी नीचे नहीं गिरने दिया। इस टूर्नामेंट में उनका स्कोर रेट प्रति 100 गेंदों पर 94.31 रहा, जिसके कारण उन्होंने साउथ अफ्रीका को जल्दी रन स्कोर करने में मदद की।

फिन एलेन, विकेटकीपर (न्यूजीलैंड)

कीवी विकेटकीपर फिन एलेन ने इस टूर्नामेंट की शानदार शुरुआत की थी। उन्होंने विंडीज के खिलाफ ओपनिंग मैच में शतक लगाकर अंडर 19 विश्व कप 2019 की शुरुआत की थी। स्टंप के पीछे एलेन का प्रदर्शन जबरदस्त था, जिसके कारण एलेन हमारी टीम में विकेटकीपर के लिए एक स्वाभाविक विकल्प के तौर पर सामने आए। एलेन ने अंडर 19 विश्व कप 2018 में 67.6 की औसत से 338 रन बनाए, जिसमें उनकी स्ट्राइक रेट शानदार 120 रही। 18 वर्षीय एलेन की स्टंप के पीछे की चुस्ती और बल्लेबाजी में शानदार प्रदर्शन के चलते हुए उन्हें इस प्लेइंग इलेवन में जगह मिल पाई है।

एलिक अथांजे (वेस्टइंडीज)

विंडीज की अंडर 19 टीम में एलिक अथांजे ने छठे नंबर पर बल्लेबाजी की है। इस पूरे टूर्नामेंट में उन्होंने निचले क्रम में बल्लेबाजी करते हुए बहुत तेजी से रन बटोरे हैं। अंडर 19 विश्व कप में एलिक अथांजे सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं। उन्होंने छह पारियों में 104.5 की औसत और 95 की स्ट्राइक रेट से 418 रन बनाए हैं। टूर्नामेंट में 19 वर्षीय एलिक अथांजे ने दो शतक लगाने में भी सफलता हासिल की है। इस टूर्नामेंट में उनका सर्वोच्च स्कोर नाबाद 116 रन रहा, जो कि केन्या के खिलाफ उन्होंने लगाया। एलिक अथांजे का स्ट्राइक को रोटेट करते रहना और तेजी से रन बटोरने की कला ही उन्होंने सबसे अलग बनाती है। इसके अलावा एलिक अथांजे ने गेंदबाजी करते हुए इस टूर्नामेंट में तीन विकेट अपने नाम किए।

अनुकूल रॉय (भारत)

भारतीय स्पिनर अनुकूल रॉय ने अपनी धीमी बाएं हाथ की गेंदबाजी से पूरे टूर्नामेंट में विरोधी बल्लेबाजों की नाम में दम करके रखा। अंडर 19 विश्व कप 2018 में अनुकूल रॉय सबसे ज्यादा विकेट हासिल करने वाले गेंदबाज रहे। अनुकूल रॉय ने इस टूर्नामेंट में 6 पारियों में 14 विकेट हासिल किए। इस दौरान उनकी इकॉनमी रेट 3.84 की रही। पापुआ न्यू गिनी के खिलाफ शानदार गेंदबाजी करते हुए 19 वर्षीय अनुकूल रॉय ने पांच विकेट हासिल किए। वहीं जिम्बाब्वे के खिलाफ उन्होंने 20 रन देकर 4 विकेट चटकाए। गेंदबाजी के अलावा बल्लेबाजी में भी अनुकूल रॉय ने अपना प्रदर्शन दिखाया और पाकिस्तान के खिलाफ सेमीफाइनल मुकाबले में टीम के लिए रन बटोरे।

कैस अहमद (अफगानिस्तान)

अफगानिस्तान के लेग ब्रेक गेंदबाज कैस अहमद इस टूर्नामेंट की खोज रहे। उन्होंने पांच पारियों में टीम के लिए 14 विकेट हासिल किए। अपने टूर्नामेंट का आगाज करते हुए उन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ खेले गए मैच में तीन विकेट हासिल किए। इसके बाद के मैचों में भी कैस अहमद का शानदार प्रदर्शन जारी रहा। क्वार्टर फाइनल में अपनी गेंदबाजी के दम पर उन्होंने न्यूजीलैंड की टीम को तहस नहस करके रख दिया और सेमीफाइनल में टीम की जगह पक्की करने में अहम भूमिका निभाई। उन्होंने 3.84 की अपनी शानदार इकॉनमी रेट से विपक्षी टीमों पर दबाव बनाए रखा।

कमलेश नागरकोटी (भारत)

तेज गेंदबाज के रूप में भारत की ओर से कमलेश नागरकोटी एक सनसनी के तौर पर सामने आए हैं। कमलेश नागरकोटी ने अपनी धारदार गेंदबाजी के दम पर लोगों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया है। अंडर 19 विश्व कप में कमलेश नागरकोटी ने 6 पारियों में 9 विकेट हासिल किए हैं लेकिन अपनी रफ्तार के दम पर वे लोगों के दिल और दिमाग पर छा चुके हैं। कमलेश नागरकोटी नई गेंद के साथ प्रभावशाली गेंदबाजी करने में माहिर हैं और आखिरी ओवर में यॉर्कर गेंदबाजी करने की उनकी क्षमता भी टीम के लिए काफी फायदेमंद साबित होती है। इस टूर्नामेंट में उनका सर्वश्रेष्ठ आंकड़ा बांग्लादेश के खिलाफ 18 रन देकर 3 विकेट रहा है। 18 वर्षीय नागरकोटी की इकॉनमी रेट 6 पारियों में 3.48 की रही है।

फैसल जामखंडी (कनाडा)

कनाडा के तेज गेंदबाज फैसल जामखंडी ने भी अपनी गेंदबाजी से बल्लेबाजों को काफी परेशान करके रखा। इस टूर्नामेंट में उन्होंने 6 पारियों में 14 विकेट हासिल किए। इसके साथ ही वो अपनी टीम का भी एक महत्वपूर्ण अंग थे। उनकी इकॉनमी रेट 6.76 की रही, जब मैच में टीम के दूसरे खिलाड़ी विरोधी बल्लेबाजों पर दबाव बना रहे होते तो फैसल बल्लेबाजों का विकेट ले रहे होते।

शाहीन शाह आफरीदी (पाकिस्तान)

पाकिस्तान तेज गेंदबाजों के निर्माण के लिए प्रसिद्ध है। पाकिस्तान के मिचेल स्टार्क के रूप में पहचाने जाने वाले शाहीन शाह आफरीदी भी पाकिस्तान की एक नई खोज है। शाहीन आफरीदी ने अंडर 19 विश्व कप में तेज गेंदबाजी करते हुए विरोधी बल्लेबाजों को क्रीज पर टिकने नहीं दिया और पैवेलियन भेजते चले गए। इस टूर्नामेंट में शाहीन ने 5 पारियों में 12 विकेट हासिल किए। इस दौरान उनकी गेंदबाजी औसत 14 और इकॉनमी रेट 3.61 की रही। शाहीन निश्चित तौर पर पाकिस्तान के लिए भविष्य की संभावना को पूरा करने की काबिलियत रखते हैं।

इन खिलाड़ियों के अलावा जिन अन्य नामों पर विचार किया गया वे हैं-

आकाश गिल (कनाडा) केगन सिमंस (वेस्टइंडीज) जैकोब भूला (न्यूजीलैंड) शिवम मावी (भारत) लेखक: शिव धवन अनुवादक: हिमांशु कोठारी

Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...