3 बड़े कप्तान जो अपने डेब्यू मैच में जीरो पर आउट हुए थे

महेंद्र सिंह धोनी

अपने डेब्यू मैच में अच्छा प्रदर्शन करना एक क्रिकेटर का सपना होता हैं। इस कार्य मे कुछ खिलाड़ी सफल होते हैं तो वही कुछ खिलाड़ियों के लिए उनका डेब्यू मैच अच्छा नही होता हैं। विश्व क्रिकेट में बहुत से ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्होंने अपने डेब्यू मैच में साधारण प्रदर्शन किया था।

भारत के महान खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर ने भी अपने डेब्यू मैच में साधारण प्रदर्शन किया था। कोई भी बल्लेबाज अपने पहले मैच में जीरो रन पर आउट होना नही चाहेगा। आज हम यहां 3 बड़े कप्तान के बारे में बताने जा रहे है जो अपने डेब्यू मैच में जीरो पर आउट हुए थे।


#3 एंजेलो मैथ्यूज (श्रीलंका)

एंजेलो मैथ्यूज

एंजेलो मैथ्यूज श्रीलंका के सबसे अनुभवी खिलाड़ियों में से एक है। मैथ्यूज काफी समय से श्रीलंका टीम की कप्तानी करते आ रहे हैं। उन्होंने साल 2008 में जिम्बाब्वे के खिलाफ वनडे क्रिकेट में डेब्यू किया था। मैथ्यूज अपने डेब्यू मैच में 9 गेंदो का सामना करके जीरो के स्कोर पर बोल्ड आउट हो गए थे। समय के साथ उन्हें श्रीलंका टीम की कप्तानी करने का भी मौका भी मिला था।

एंजेलो मैथ्यूज ने श्रीलंका के लिए 203 वनडे मुकाबले खेले हैं। मैथ्यूज अभी श्रीलंका टीम में बतौर ऑल राउंडर खेलते है। उन्होंने गेंद और बल्ले दोनो से अच्छा प्रदर्शन किया हैं। इन्होंने 40 से ज्यादा की औसत से बल्लेबाजी करते हुए वनडे में 5000 से ज्यादा रन बनाए हैं। इस दौरान मैथ्यूज ने 37 अर्धशतक और 2 शतक भी लगाए हैं। इसके अलावा मैथ्यूज ने वनडे क्रिकेट में 34.22 की औसत से गेंदबाजी करते हुए 114 विकेट लिए हैं।

मैथ्यूज ने टेस्ट क्रिकेट में भी 5000 से ज्यादा रन बनाए हैं, जिसमे 33 अर्धशतक और 9 शतक भी शामिल हैं। इस साल विश्व कप इंग्लैंड में होने वाला है। ऐसे में टीम में एंजेलो मैथ्यूज जैसा एक ऑल राउंडर खिलाड़ी होना श्रीलंका के लिए काफी फायदेमंद साबित हो सकता है।

#2 केन विलियमसन (न्यूजीलैंड)

केन विलियमसन

न्यूजीलैंड के केन विलियमसन वर्तमान क्रिकेट के सबसे बेस्ट बल्लेबाजो में से एक हैं। उन्होंने क्रिकेट के तीनों फॉर्मेट में न्यूजीलैंड के लिए कप्तानी की है। केन विलियमसन ने साल 2010 में भारतीय टीम के खिलाफ वनडे क्रिकेट में डेब्यू किया था। उस मैच में इन्हें भारत के गेंदबाज प्रवीण कुमार ने शून्य के स्कोर पर बोल्ड कर दिया था।

इन्होंने वनडे क्रिकेट में 137 मैचों में 45.76 की औसत से बल्लेबाजी करते हुए 5445 रन बनाए हैं। इस दौरान उन्होंने 36 अर्धशतक और 11 शतक भी मारे हैं। विलियम्सन एक अच्छे बल्लेबाज होने के साथ-साथ एक अच्छे कप्तान भी हैं।


#1 महेंद्र सिंह धोनी (भारत)

महेंद्र सिंह धोनी

भारत के पूर्व कप्तान और मौजूदा विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी विश्व क्रिकेट के सबसे अनुभवी खिलाड़ियों में से एक हैं। धोनी की कप्तानी में भारतीय टीम ने कई रिकॉर्ड बनाये हैं। उनकी कप्तानी में भारत ने 2007 टी-20 वर्ल्ड कप, 2011 वर्ल्ड कप और 2013 चैंपियंस ट्रॉफी जैसे टूर्नामेंट को जीता था। धोनी ने बांग्लादेश के खिलाफ साल 2004 में वनडे क्रिकेट में अपना डेब्यू किया था। उस मैच में धोनी शून्य के स्कोर पर रन आउट हो गए थे।

उन्होंने वनडे क्रिकेट में 50 से ज्यादा की औसत से बल्लेबाजी करते हुए 10415 रन बनाए हैं। इस दौरान धोनी ने 70 अर्धशतक और 10 शतक मारे हैं। धोनी ने अपने करियर में ज्यादातर रन निचले क्रम में बल्लेबाजी करते हुए बनाये हैं।

Quick Links

App download animated image Get the free App now