Create

बांग्लादेशी ऑलराउंडर शाक़िब अल हसन के करियर में हुए 3 बड़े विवाद

शाक़िब अल हसन अपनी आक्रामक बल्लेबाज़ी और चतुराई से भरी गेंदबाज़ी के लिए जाने जाते हैं। इस बात में कोई शक नहीं है कि वो बांग्लादेशी क्रिकेट इतिहास के सबसे बेहतरीन ऑलराउंडर हैं और मौजूदा दौर में विश्व के टॉप ऑलराउंडर्स में गिने जाते हैं। शाकिब दुनियाभर की 10 घरेलू टीम का हिस्सा रहे हैं, ऐसा करने वाले वो बांग्लादेश के पहले क्रिकेटर हैं। हांलाकि वो बांग्लादेशी टीम के अहम सदस्य हैं लेकिन कई बार चोट और निलंबन की वजह से वो टीम से बाहर भी रहे हैं। समझदारी की कमी और मैच अधिकारी से तीखी बहसबाज़ी की वजह से उनकी छवि को काफ़ी नुक़सान पहुंचा है। हम यहां शाकिब अल हसन से जुड़े 3 बड़े विवाद के बारे में चर्चा कर रहे हैं।

#3 बल्लेबाज़ों को मैदान से बाहर बुलाने की घटना – निदहास ट्रॉफ़ी 2018

ये घटना उस वक़्त की है जब बांग्लादेश को आख़िरी ओवर में जीत के लिए 12 रन की ज़रूरत थी। अंपायर ने सिर से ऊपर फेंगे गए बाउंसर को अतिरिक्त गेंद देने से चूक गए। जिसकी वजह से शाक़िब अल हसन नाराज़ हो गए, उन्होंने बाउंड्री से ही बल्लेबाज़ों को मैदान के बाहर आने का इशारा किया। इस को देखते हुए मैच अधिकारी भी हैरान रह गए, लेकिन मामले को संभाल लिया गया। खेल आगे बढ़ा और बांग्लादेश ने लक्ष्य को पार कर लिया, इसके साथ ही निदहास ट्रॉफ़ी के फ़ाइनल में भी जगह बना ली। शाक़िब अल हसन का ये बर्ताव खेल भावना के ख़िलाफ़ था। आईसीसी ने उन्हें लेवल वन का दोषी क़रार देते हुए उन पर 25 फ़ीसदी मैच फ़ीस का जुर्माना लगाया। शाक़िब ने अपनी ग़लती स्वीकार की और माना कि उनका ये व्यवहार सही नहीं था। उन्होंने आगे से इस बात को लेकर सतर्क रहने का भी भरोसा दिलाया।

#2 फ़ील्ड अंपायर के साथ तीखी बहस – बांग्लादेश प्रीमियर लीग 2015

बांगलादेश प्रीमियर लीग के तीसरे सीज़न के दौरान शाक़िब अल हसन रंगपुर राइडर्स टीम की कप्तानी कर रहे थे। ढाका में उनकी टीम का मुक़ाबला सिलहेट सुपरस्टार्स से हो रहा था। सिलहेट टीम 109 रन के मामूली स्कोर का पीछा कर रही थी, जिसमें मुशफ़िकुर योगदान दे रहे थे। 13वें ओवर की आख़िरी गेंद पर मुशफ़िकुर ने थिसारा पेरेरा की शॉट ऑफ़ लेंथ बॉल खेली, इसके बाद आउट की ज़ोरदार अपील की गई। गेंद मुशफ़िकुर के बल्ले से लगी थी और इसकी आवाज़ साफ़ सुनाई दी थी। गेंदबाज़, विकेटकीपर और नज़दीकी फ़ीलडर ने अपील करना शुरू कर दिया, लेकिन अंपायर पर इसका कोई असर नहीं हुआ। अंपायर के फ़ैसले से नाख़ुश शाकिब ने फ़ील्ड अंपायर से तीखी बहस शुरु कर दी। हांलाकि रंगपुर राइडर्स टीम ने ये मैच जीत लिया था, लेकि शाकिब को उनके बर्ताव की सज़ा मिली और उन पर एक मैच का प्रतिबंध लगाया गया।

#1 ड्रेसिंग रूम में वाहियात हरकत

शाक़िब की ज़िंदगी में ये पल ऐसा गुज़रा है जिसे वो हमेशा भुला देना पसंद करेंगे। ढाका में वनडे सीरीज़ का दूसरा मैच जारी था। बांग्लादेश की टीम श्रीलंका के ख़िलाफ़ 290 रन के लक्ष्य का पीछा कर रही थी। मेज़बान टीम के लिए ये मैच करो या मरो का था, क्योंकि वो 3 मैच की सीरीज़ का पहला मैच हार चुके थे। 22वें ओवर में शाकिब अल हसन, अशान प्रियांजन की गेंद पर 24 रन बनाकर आउट हो गए थे। कुछ ओवर के बाद शाकिब ड्रेसिंग रूम में घिनौना इशारा करते हुए देखे गए थे, उस वक़्त टीवी पर उनके आउट होने का रिप्ले चल रहा था। उनके इस बर्ताव की वजह से उनपर 3800 अमेरिकी डॉलर का जुर्माना लगाया गया था और 3 वनडे मैच का भी बैन लगा था। लेखक- ध्रुव पोनुगुपाती अनुवादक – शारिक़ुल होदा

Edited by Staff Editor
Be the first one to comment