Create

3 चौंकाने वाले रिकॉर्ड जो भारतीय क्रिकेटरों के नाम दर्ज़ हैं 

E

पिछले दो दशकों में क्रिकेट काफ़ी विकसित हुआ है। खेल के कम समय लेने वाले रूप, जैसे वनडे व टी-20 मैचों को विश्व भर से प्रसिद्धि व प्यार मिला है। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खेलने वाले खिलाड़ियों ने अपना खून पसीना बहा कर यह मुक़ाम हासिल किया है।

भारतीय क्रिकेट टीम पर हर भारतीय को उनके शानदार प्रदर्शन के कारण गर्व है। कई महान खिलाड़ी इस टीम का हिस्सा रह चुके हैं, जिन्होनें अपने प्रदर्शन से न केवल टीम, बल्कि पूरे देश का नाम रोशन किया।

ऐसे ही कई विश्व प्रसिद्ध खिलाड़ियों ने अनेक विश्व रिकॉर्ड बना कर देश की शान में चार चाँद लगाए हैं। कई खिलाड़ियों को अपने बनाए रिकॉर्ड पर गर्व होता है, भले ही वे एक न एक दिन किसी और द्वारा तोड़ दिए जाएँ।

हालाँकि कई रिकॉर्ड खिलाड़ी व उनके देशवासियों को गर्व का एहसास कराते हैं, कई रिकॉर्ड ऐसे भी होते हैं जो अच्छे नहीं माने जाते हैं। जहाँ हर देश के नाम कई गौरवशाली रिकॉर्ड हैं, तो कई देशों के नाम कुछ अनचाहे रिकॉर्ड भी हैं।

आज हम भारतीय खिलाड़ियों द्वारा स्थापित ऐसे ही तीन रिकॉर्ड के बारे में चर्चा करने वाले हैं:

#1 अजीत अगरकर

अजीत अगरकर
अजीत अगरकर

अजीत अगरकर निश्चित ही भारत के सबसे उम्दा तेज़ गेंदबाज़ों में से एक थे। अगरकर भारत के लिए सबसे ज़्यादा वनडे विकेट लेने वाले गेंदबाज़ों की सूची में तीसरे नंबर पर आते हैं। 1998 में अपना पहला अंतरराष्ट्रीय एकदिवसीय मैच खेलने के बाद अगरकर वनडे में सबसे कम मैचों में 50 विकेट लेने वाले गेंदबाज़ बने। उन्होंने यह रिकॉर्ड केवल 23 मैचों में बना लिया। अगरकर के नाम सबसे कम वनडे मैचों में 200 विकेट और 1000 रन बनाने का रिकॉर्ड भी है।

1999 में भारत के ऑस्ट्रेलिया दौरे में अगरकर लगातार 5 टेस्ट मैचों पर बिना अपना खाता खोले पवेलियन लौट गए। यह टेस्ट मैचों में सबसे अधिक ज़्यादा मैचों में लगातार डक आउट होने का रिकॉर्ड है। अगरकर ऑस्ट्रेलिया के रॉबर्ट हॉलैंड के साथ इस रिकॉर्ड के धारक हैं।

Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज़ स्पोर्ट्सकीड़ा पर पाएं

#2 मोहिंदर अमरनाथ

मोहिंदर अमरनाथ
मोहिंदर अमरनाथ

मोहिंदर अमरनाथ ने एक मध्य गति से गेंदबाज़ी करने वाले ऑलराउंडर के रूप में शुरुआत की थी, लेकिन वे आगे चलकर भारत के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज़ों में से एक बने। उन्होनें भारत के लिए 4000 से ज़्यादा टेस्ट रन बनाए, वह भी 85.52 के बढ़िया स्ट्राइक रेट से।

लेकिन, अमरनाथ ऐसे इकलौते बल्लेबाज़ हैं जिन्हें गेंद को हाथ लगाने व फील्ड में बाधा डालने के कारण वनडे में आउट करार दिया गया था।

1986 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेलते हुए, अमरनाथ पहले ऐसे बल्लेबाज़ बने जिन्हें आउट करार दिया गया क्योंकि उन्होनें हाथ लगाकर गेंद की दिशा बदली थी। तीन साल बाद, नेहरू कप में श्रीलंका के खिलाफ खेलते हुए अमरनाथ को फील्ड में बाधा डालने के कारण आउट कर दिया गया क्योंकि उन्होनें स्टंप्स पर जा रही गेंद को पैर मारकर उसकी दिशा बदल दी।


#3 राहुल द्रविड़

Enter

राहुल द्रविड़ निश्चित ही टेस्ट मैचों में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाले सबसे महान बल्लेबाज़ों में से एक हैं। इंग्लेंड के खिलाफ अपने पहले टेस्ट में 95 बनाने के बाद से अपने संन्यास तक द्रविड़ भारतीय टीम का एक अनमोल हिस्सा रहे। उनके सम्भल कर खेलने वाले अंदाज़ ने ही उन्हें 'भारतीय टीम की दीवार' का दर्जा दिया है।

द्रविड़ वनडे व टेस्ट मैचों में 10000 से अधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज़ों के महान समूह का हिस्सा भी हैं। द्रविड़ टेस्ट श्रेणी में सबसे ज़्यादा गेंदें (31258) खेलने के विश्व रिकॉर्ड धारक भी हैं। दूसरी तरफ, 55 बार बोल्ड आउट होकर वे इस तरीके से टेस्ट मैचों में सबसे ज़्यादा बार आउट होने वाले बल्लेबाज भी हैं।

Quick Links

Edited by निशांत द्रविड़
Be the first one to comment