Create

3 ऐतिहासिक चीजें जो कपिल देव ने 1983 वर्ल्ड कप के दौरान की थी 

कपिल देव भारत को वर्ल्ड कप जिताने वाले पहले कप्तान थे
कपिल देव भारत को वर्ल्ड कप जिताने वाले पहले कप्तान थे

भारत के विश्व विजेता कप्तान कपिल देव (Kapil Dev) पर बन रही फिल्म ‘83’ रिलीज हो चुकी है। इस फिल्म में कपिल देव के जीवन में हासिल की गई उपलब्धियों को दिखाया गया हैं, जिसमें खासकर कपिल देव की कप्तानी में भारतीय टीम की 1983 वर्ल्ड कप (World Cup) जीत की कहानी है। कपिल देव की कप्तानी में भारतीय टीम ने फाइनल मुकाबले में वेस्टइंडीज जैसी घातक टीम को हराकर खिताब जीता था। कपिल देव ने ऑलराउंडर के तौर पर शानदार प्रदर्शन किया था और बल्ले के साथ 303 रन और गेंद के साथ 12 विकेट चटकाए थे।

वैसे तो पूरी भारतीय टीम ने उस वर्ल्ड कप में शानदार खेल दिखाया था और हर एक खिलाड़ी ने अपनी भूमिका से न्याय किया था। हालांकि टीम के कप्तान कपिल देव का कुछ खास ही जलवा देखने को मिला था और उस दौरान वह कई ऐतहासिक पल का हिस्सा बने। इस आर्टिकल में हम ऐसे ही कुछ 3 ऐतिहसिल पलों का जिक्र करने जा रहे हैं।

3 ऐतिहासिक चीजें जो कपिल देव ने 1983 वर्ल्ड कप के दौरान की थी

#1 ज़िम्बाब्वे के खिलाफ एक जबरदस्त पारी

कपिल देव के करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी खेली
कपिल देव के करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी खेली

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान कपिल देव का सबसे जबरदस्त प्रदर्शन ज़िम्बाब्वे के खिलाफ देखने को मिला था। इस मैच में कपिल देव ने जो प्रदर्शन किया वो भारतीय टीम की वर्ल्ड कप जीत में सबसे खास रहा। इस मैच में भारत ने केवल 9 रन पर ही 4 विकेट गंवा दिए थे, जब कपिल देव बल्लेबाजी करने पहुंचे। इसके बाद 17 रन तक आधी पारी निपट गई थी। यहां से कपिल देव ने मैच पूरी तरह से पलट दिया। इस दिग्गज ने शानदार बल्लेबाजी की और 138 गेंदों में 175 रन की नाबाद पारी खेली। कपिल की शानदार पारी की बदौलत भारत ने 266/8 का स्कोर बनाया और बाद में 33 रन से जीत दर्ज की।

#2 विवियन रिचर्ड्स का पीछे भागकर कैच पकड़ना

कपिल देव ने शानदार फील्डिंग करते हुए एक बेहतरीन कैच लपका था
कपिल देव ने शानदार फील्डिंग करते हुए एक बेहतरीन कैच लपका था

कपिल देव का इस पूरे विश्व कप में शानदार प्रदर्शन रहा। फाइनल मुकाबले में वेस्टइंडीज के खिलाफ विव रिचर्ड्स जैसे खतरनाक बल्लेबाज का कैच नहीं भुलाया जा सकता है। यहां पर भारतीय टीम फाइनल मैच में वेस्टइंडीज जैसी शक्तिशाली टीम के खिलाफ केवल 183 रन के स्कोर का बचाव कर रही थी। इस मैच में विव रिचर्ड्स का विकेट बहुत ही अहम था। विव रिचर्ड्स 33 रन बना चुके थे और उन्होंने मदन लाल की गेंद पर शॉट खेला जो हवा में गई, जिसको पीछे की तरफ भागते हुए कपिल देव ने एक करिश्माई कैच किया। इसके बाद भारतीय टीम के लिए मैच आसान बन गया और भारत ने 43 रन से जीत हासिल कर खिताब अपने नाम किया।

#3 कप्तानी से किया टीम को प्रेरित

वर्ल्ड कप की ट्रॉफी के साथ कपिल देव
वर्ल्ड कप की ट्रॉफी के साथ कपिल देव

भारतीय टीम के लिए जब कभी भी 1983 के विश्व कप के जीत का जिक्र होता है। तब कपिल देव का नाम हर किसी के जेहन में आ जाता है। इस विश्व कप में कपिल देव का प्रदर्शन बहुत ही जबरदस्त रहा था, जिन्होंने बल्लेबाजी और गेंदबाजी दोनों में कमाल का प्रदर्शन किया और साथ ही भारत के खिलाड़ियों को प्रेरित किया। कपिल ने शुरू से ही जीतने का विश्वास रखा और टीम के खिलाड़ियों में भी यह विश्वास जगाया कि वे यह वर्ल्ड कप जीत सकते हैं। अंत में भारतीय टीम ने टूर्नामेंट जीतने में सफलता हासिल की।

Quick Links

Edited by Prashant Kumar
Be the first one to comment