COOKIE CONSENT
Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

3 भारतीय क्रिकेटर्स जिनका इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज में चयन नहीं किया जाना चाहिए था

ANALYST
28   //    23 Jul 2018, 07:55 IST
भारतीय क्रिकेट टीम फिलहाल इंग्लैंड दौरे पर है। यहां भारतीय टीम ने जहां टी20 सीरीज को 2-1 से अपने नाम किया तो वहीं वनडे सीरीज को 1-2 से गंवा भी दिया। अब भारतीय टीम को इंग्लैंड के खिलाफ पांच मैचों की टेस्ट सीरीज खेलनी है। भारत और इंग्लैंड के बीच पहला टेस्ट मैच 1 अगस्त से खेला जाएगा। वहीं शुरुआती तीन टेस्ट मैचों के लिए भारतीय टीम का ऐलान कर दिया गया है। शुरुआती 3 टेस्ट मैचों के लिए भारतीय टीम इस प्रकार से हैं..

विराट कोहली (कप्तान), शिखर धवन, केएल राहुल, मुरली विजय, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे (उप कप्तान), करुण नायर, दिनेश कार्तिक (विकेट कीपर), ऋषभ पंत (विकेट कीपर), आर अश्विन, रविंद्र जडेजा, कुलदीप यादव, हार्दिक पांड्या, ईशांत शर्मा, मोहम्मद शमी, उमेश यादव, जसप्रीत बुमराह और शार्दुल ठाकुर।

हालांकि इस टेस्ट टीम में उन खिलाड़ियों को भी मौका दिया गया है जो इंग्लैंड के खिलाफ टी20 और एकदिवसीय सीरीज में कुछ खास प्रदर्शन नहीं कर पाए थे। इसके अलावा ऐसे खिलाड़ियों का भी चयन किया गया है जिनका टेस्ट में पिछला रिकॉर्ड काफी हल्का है। वहीं उन खिलाड़ियों को टीम में शामिल किया गया है जो की फिलहाल फॉर्म में नहीं है। इन सब बातों को ध्यान में रखते हुए इस टीम में कुछ ऐसे खिलाड़ियों को भी जगह दी गई जिन्हें टेस्ट टीम में जगह नहीं दी जानी चाहिए थी।

आइए जानते हैं ऐसे ही तीन भारतीय खिलाड़ियों के बारे में जिन्हें इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट टीम में शामिल नहीं करना चाहिए था...

#3 उमेश यादव



उमेश यादव को टीम इंडिया में काफी मौके दिए गए लेकिन वो इन मौकों को भुना पाने में समर्थ नहीं रहे हैं। हालांकि अब उन्हें भारत की टेस्ट टीम में शामिल किया गया है। अक्सर जसप्रित बुमराह की गैरमौजूदगी में उमेश यादव को टीम में शामिल किया जाता है लेकिन वो उम्मीदों पर खड़े नहीं उतर पाते हैं। हाल ही में उमेश इंग्लैंड के मैदान पर भी कुछ खास कमाल नहीं दिखा पाए हैं और नाकाम साबित हुए हैं।

इंग्लैंड के खिलाफ खेली गई टी20 सीरीज में उमेश यादव ने तीन मैचों में खेलते हुए महज पांच विकेट हासिल किए। इसके अलावा उमेश ने रन भी काफी लुटाए। उनकी रन देने की इकॉनमी रेट 9 रन प्रति ओवर की रही। वहीं इंग्लैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में तो स्थिति और भी निराशाजनक देखने को मिली।

इंग्लैंड के खिलाफ खेली गई वनडे सीरीज में उमेश ने 2 मुकाबलों में खेलते हुए तीन विकेट हासिल किए। वहीं उन्होंने सात रन प्रति ओवर के हिसाब से रन लुटाए। टेस्ट क्रिकेट को ध्यान में रखते हुए उनके पिछले आंकड़ों पर गौर किया जाए तो वे भी प्रभावित नहीं करते हैं। ऐसे में उन्हें टेस्ट टीम में जगह नहीं देनी चाहिए थी।
1 / 3 NEXT
Topics you might be interested in:
Advertisement
Fetching more content...