अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के 3 खिलाड़ी जिन्हें जेल जाना पड़ा, भारतीय खिलाड़ी भी शामिल

नवजोत सिद्धू
नवजोत सिद्धू

क्रिकेट को हमेशा से ही जेंटलमैन का खेल कहा जाता है। इस बात को लगभग हर क्रिकेट खिलाड़ी ने चरितार्थ करने की भी कोशिश की है लेकिन कई मौकों पर ऐसा नहीं हुआ है। क्रिकेटरों को मैदान पर रन बनाते हुए देखकर या विकेट लेते हुए देखने पर दर्शक फैन हो जाते हैं। उन्हें खेल की वजह से ख़ासा प्यार मिलने लगता है लेकिन वही खिलाड़ी कुछ ऐसे काम करते हैं जिनसे दर्शकों को ठेस पहुँचने के क्रिकेट की भी खासी बदनामी होती है।

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के कई खिलाड़ियों ने अपनी हरकतों के कारण खेल और खुद का नाम खराब किया है। कई मामलों में उन्हें जेल की हवा भी खानी पड़ी है। दर्शकों को कुछ समय के लिए तो यह घटनाएं याद रहती है लेकिन एक समयकाल के बाद इन्हें भूलना स्वाभाविक है। भारतीय क्रिकेट टीम के भी कुछ खिलाड़ी अजीब कारणों से जेल की हवा खा चुके हैं। उन्हें अदालतों के चक्कर काटने और लम्बे मुकदमे चलने के बाद राहत मिली लेकिन एक बार आरोप लगने के बाद स्थिति वापस ठीक होने में काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के कई खिलाड़ी विभिन्न मामलों में जेल गए हैं, उनमें से कुछ का जिक्र इस आर्टिकल में किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें: 3 बल्लेबाज जो निचले क्रम से भारतीय टीम में ओपनर बने

जेल जाने वाले क्रिकेट खिलाड़ी

शेन वॉर्न

शेन वॉर्न
शेन वॉर्न

हमेशा से ही यह दिग्गज ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी लड़कियों को लेकर चर्चा और विवादों में रहा है। एक अफ़्रीकी महिला ने उन पर गलत मैसेज भेजने के आरोप लगाए थे। इसके बाद काफी समय तक जांच और केस भी चला था। शेन वॉर्न को इस मामले में जेल भी जाना पड़ा था। इसके अलावा भी कई अन्य लड़कियों के साथ गलत हरकत करने की खबरें भी समय-समय पर आती रही हैं।

मखाया एनटिनी

मखाया एनटिनी
मखाया एनटिनी

इस दक्षिण अफ़्रीकी तेज गेंदबाज को कौन भूल सकता है। बेहतरीन गेंदबाज होने वाले इस इंसान पर एक छात्रा का बलात्कार करने आरोप लगा था। मखाया एनटिनी पर मैदान में ही उक्त लड़की के साथ रेप का आरोप था। हालांकि उन्हें ज्यादा समय जेल नहीं हुई। मामले में उनके खिलाफ कोई सबूत नहीं मिला और लम्बे समय की सजा से एनटिनी बच गए थे।

नवजोत सिद्धू

 नवजोत सिद्धू
नवजोत सिद्धू

इस भारतीय खिलाड़ी पर एक व्यक्ति की हत्या करने का आरोप लगा था। गुरनाम नामक व्यक्ति को पंच मारने के आरोप सिद्धू पर लगे। व्यक्ति की बाद में मौत हो गई। इसके बाद सिद्धू को गिरफ्तार भी किया गया था। मामले में उन्हें हाई कोर्ट से जेल की सजा भी सुनाई गई थी। नवजोत सिद्धू ने इस मामले में सुप्रीम कोर्ट में अपील की और उन्हें बरी करने का आदेश आ गया।

Quick Links