Create
Notifications

IPL के 3 ऐसे सबसे कम स्कोर जिनको सफलतापूर्वक डिफेंड किया गया

सनराइजर्स और मुंबई इंडियंस के बीच मुकाबला जबरदस्त हुआ
सनराइजर्स और मुंबई इंडियंस के बीच मुकाबला जबरदस्त हुआ
reaction-emoji
सावन गुप्ता
visit

टी-20 में लक्ष्य का बचाव करना आसान नहीं होता है। टी-20 वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में भारत और वेस्टइंडीज के मुकाबले में क्या हुआ सबको पता है। लगभग 200 रन बनाने के बावजूद भारतीय टीम स्कोर का बचाव नहीं कर पाई। अक्सर देखा गया है कि बड़े स्कोर का पीछा आसानी से किया जा सकता है जबकि छोटे स्कोर में टीमें फंस जाती हैं।

टी-20 का पूरा मैच 40 ओवरों का होता है ऐसे में किसी टीम की हार-जीत में पिच का भी ज्यादा योगदान नहीं रहता है। ओस एक वजह हो सकती है लेकिन इसका फायदा दूसरी पारी में बल्लेबाजी करने वाली टीम को मिलता है। जो टीमें लक्ष्य का पीछा करती हैं उन्हें पता होता है कि कब और कैसे खेलना है। इसलिए टी-20 में लो स्कोर बहुत कम बार डिफेंड किए गए हैं।

हालांकि आईपीएल में कुछ कम स्कोर ऐसे रहे हैं जिनका सफलतापूर्वक बचाव किया गया। यहां पर हमने उन 3 मैचों का लेखा-जोखा निकाला है जिनमें कम स्कोर का सफलतापूर्वक बचाव किया गया।

(यहां आपको बता दें कि हमने बैंगलोर में 2013 में खेले गए आरसीबी और चेन्नई के उस मैच को नहीं शामिल किया है जिसमें महज 8 ओवरों में 106 रन बने थे और आरसीबी ने उसका सफलतापूर्वक बचाव किया था)।

IPL के 3 ऐसे सबसे कम स्कोर जिनको सफलतापूर्वक डिफेंड किया गया

3.किंग्स इलेवन पंजाब - 119 रनों का बचाव

सचिन तेंदुलकर सस्ते में आउट हो गए थे
सचिन तेंदुलकर सस्ते में आउट हो गए थे

2009 के आईपीएल सीजन के 20वें मैच में किंग्स इलेवन पंजाब (अब पंजाब किंग्स) और मुंबई इंडियंस के बीच जबरदस्त मुकाबला हुआ। पहले बल्लेबाजी करते हुए पंजाब की शुरूआत काफी खराब रही। 11वें ओवर में 52 रनों तक टीम ने अपने 4 विकेट गंवा दिए। कुमार संगकारा ने 44 गेंदों पर 45 रनों की पारी खेली। जिसकी वजह से पंजाब की टीम 20 ओवरो में 8 विकेट पर 119 रन बनाने में कामयाब रही।

जवाब में पंजाब के तेज गेंदबाजों ने भी नई गेंद से अपनी टीम को शानदार शुरुआत दिलाई। गेंदबाजों ने शुरूआती विकेट जल्द निकालकर पंजाब को मैच में वापस ला दिया। सनथ जयसूर्या का विकेट जहां पहले ही ओवर में पंजाब को मिल गया वहीं दूसरे ओवर में सचिन तेंदुलकर का भी विकेट निकालकर पंजाब ने मुंबई इंडियंस को दबाव में ला दिया।

आखिरी 3 ओवरो में मुंबई को जीत के लिए 26 रन चाहिए थे जबकि उनके हाथ में 6 विकेट थे। लेकिन टीम 3 रनों से मैच हार गई। इरफान पठान ने 4 ओवर में 20 रन देकर 2 विकेट चटकाए।

2.सनराइजर्स हैदराबाद - 118 रनों का बचाव

Pसनराइजर्स हैदराबाद की गेंदबाजी काफी जबरदस्त है
सनराइजर्स हैदराबाद की गेंदबाजी काफी जबरदस्त है

सनराइजर्स हैदराबाद ने आईपीएल 2018 में एक रोमांचक मुकाबले में मुंबई इंडियंस की टीम को मात दी थी। सनराइजर्स ने 118 रनों को डिफेंड करते हुए शानदार जीत दर्ज की थी। हैदराबाद के 118 रनों के जवाब में मुंबई की टीम सिर्फ 87 रन बनाकर ऑलआउट हो गई और इस मैच को 31 रनों से हार गई।

#1.चेन्नई सुपर किंग्स - 116 रनों का बचाव

मुथैया मुरलीधरन
मुथैया मुरलीधरन

आईपीएल इतिहास में सबसे कम स्कोर का बचाव करने का रिकॉर्ड इसी मैच में बना। मजबूत बैटिंग लाइन अप होने के बावजूद चेन्नई सुपर किंग्स की टीम 20 ओवर में महज 116 रन ही बना पाई, लेकिन चेन्नई की टीम ने इस स्कोर का काफी अच्छे से बचाव किया। पहले बल्लेबाजी करते हुए चेन्नई की शुरूआत अच्छी रही। टीम का स्कोर एक समय 7 ओवर में 54 रन पर 1 विकेट था लेकिन पूरी टीम 116 रनों पर ऑल आउट हो गई। पार्थिव पटेल ने सबसे ज्यादा 32 रन बनाए।

छोटे लक्ष्य का पीछा करते हुए पंजाब की शुरूआत खराब रही। दूसरे ओवर में ही 6 रनों के योग पर टीम को पहला झटका लग गया। इसके बाद 26 रनों की छोटी सी साझेदारी हुई। कुमार संगकारा और युवराज सिंह जैसे दिग्गज बल्लेबाजों के होने के बावजूद पंजाब की टीम 119 के स्कोर का पीछा नहीं कर पाई।

किंग्स इलेवन पंजाब (अब पंजाब किंग्स) की टीम निर्धारित 20 ओवर में 8 विकेट के नुकसान पर 92 रन ही बना पाई। मुथैया मुरलीधरन और अश्विन जीत के हीरो रहे। मुरलीधरन ने 4 ओवर में 8 रन देकर 2 विकेट चटकाए। वहीं अश्विन ने भी उनका बखूबी साथ निभाया और 4 ओवर में 13 रन देकर 2 विकेट चटकाए। वहीं पार्ट टाइम गेंदबाज सुरैश रैना ने भी 4 ओवर में 17 रन देकर 2 विकेट लिए। गेंदबाजों की शानदार प्रदर्शन की बदौलत चेन्नई की टीम ने छोटे स्कोर का बचाव कर रिकॉर्ड बना दिया।

Edited by सावन गुप्ता
reaction-emoji
Article image

Go to article

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now