Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

IPL 2018: 3 विदेशी खिलाड़ी जो इस साल अब तक रहे हैं सुपर फ़्लॉप

  • किंग्स-XI पंजाब शानदार खेल रही है लेकिन आरोन फ़िंच ने अब तक बेहद निराश किया है
Rahul Pandey
ANALYST
Modified 20 Dec 2019, 18:38 IST
  किसी भी आईपीएल टीम में विदेशी खिलाड़ी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। आईपीएल में उनकी टीम की सफलता में उनका प्रदर्शन महत्वपूर्ण है। इस साल के आईपीएल में शेन वॉटसन, एबी डीविलियर्स और क्रिस गेल ने कुछ बेहतरीन मैच जिताने वाली परियाँ खेली हैं। वहीं दूसरी ओर, कुछ खिलाड़ी ऐसे भी रहे हैं जो अच्छा प्रदर्शन करने में संघर्ष कर रहे हैं। इन खिलाड़ियों को बड़ी क़ीमत अदा कर के खरीदा गया है और उनका ख़राब प्रदर्शन उनकी टीमों के लिए चिंताजनक है। विकल्पों की कमी के कारण, कुछ टीमें ऐसे खिलाड़ियों को अंतिम एकादश में जगह देती रही हैं, जबकि अन्य ने इन खिलाड़ियों की जगह बेहतर खिलाड़ियों को मौका दे दिया है। यहां हम ऐसे तीन विदेशी खिलाड़ियों पर नज़र डाल रहे हैं जो इस साल के आईपीएल में फ़्लॉप रहे हैं:  

# 3 काइरोन पोलार्ड


  मुंबई इंडियंस ने जब आरटीएम कार्ड के साथ काइरोन पोलार्ड शामिल किया था, तो इस ऑलराउंडर से बड़ी उम्मीदें थीं। इस वर्ष के आईपीएल में उनका खराब प्रदर्शन टूर्नामेंट में मुंबई के संघर्ष करने के प्रमुख कारणों में से एक है। इस आईपीएल में बल्लेबाज के रूप में खेलते हुए, उन्हें एक फिनिशर की भूमिका निभानी थी और पारी के अंत में रनों का अम्बार लगाने की जिम्मेदारी थी। मुंबई की ओर से अपने नौवें सीजन में खेलते हुए, पोलार्ड प्रभाव बनाने में नाकाम रहे। उन्होंने अभी तक खेले गए 7  मैचों में 15 से भी कम की औसत से केवल 76 रन बनाए हैं। उनकी लगातार विफलताओं के बाद, मुंबई के कोच महेला जयवर्धने ने पोलार्ड के प्रदर्शन के संबंध में निराशा व्यक्त की। विस्फोटक बल्लेबाज़ी करने वाले पोलार्ड को गेंद को टाइम करने में संघर्ष करते हुए देखकर दुख होता है। ऐसे में टीम प्रबंधन ने भी पोलार्ड को काफी मौके देने के बाद, जेपी डुमिनी को चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ इस साल के आईपीएल में पहली बार उतारा। हालांकि इसके बाद रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के ख़िलाफ़ पोलार्ड को दोबारा टीम में जगह दी गई लेकिन एक बार फिर पोलार्ड ने निराश किया।
1 / 3 NEXT
Published 02 May 2018, 16:15 IST
Advertisement
Fetching more content...