Create
Notifications

3 भारतीय खिलाड़ी जिन्हें घरेलू क्रिकेट में बेहतर प्रदर्शन के बाद भी टीम में नहीं चुना गया

प्रियांक पांचाल
प्रियांक पांचाल
निरंजन

भारतीय क्रिकेट टीम में सालों से अच्छे खिलाड़ी आते और जाते रहे हैं। कई खिलाड़ियों ने टीम में लम्बसे समय तक अपनी जगह बनाए रखी, तो कुछ खिलाड़ी ऐसे भी रहे जो मौकों को भुनाने में कामयाब नहीं रहे। घरेलू क्रिकेट में शानदार खेल के बाद भारतीय टीम में जगह बनाना आसान माना जाता है और यह होता भी है। हनुमा विहारी, मयंक अग्रवाल जैसे खिलाड़ियों को घरेलू क्रिकेट में लगातार रन बनाने की वजह से भारतीय टेस्ट टीम में जगह मिली। कई बार खिलाड़ी टीम से बाहर होने के बाद रणजी और अन्य टूर्नामेंट खेलकर मजबूत फॉर्म के साथ टीम में वापसी करते हुए देखे गए हैं। उन्होंने वापस आकर टीम में कई सालों तक क्रिकेट खेली और स्थायी जगह बनाने में भी कामयाब रहे। कुछ खिलाड़ियों ने बाहर होने के बाद वापसी के प्रयास किये लेकिन उन्हें सफलता नहीं मिल पाई।

भारतीय टीम में जगह बनाने का सीधा रास्ता घरेलू क्रिकेट में रन बनाना या गेंदबाजी में विकेट लेना है। लगातार बेहतर खेल के दम पर टीम इंडिया में जगह बनाई जा सकती है लेकिन घरेलू क्रिकेट के तीन ऐसे खिलाड़ी हैं जो लगातार बेहतर खेलकर भी टीम में नहीं चुने गए। इन खिलाड़ियों का रिकॉर्ड देखकर हर किसी को आश्चर्य होगा। उन खिलाड़ियों के बारे में इस आर्टिकल में जिक्र किया गया है।

शाहबाज नदीम

शाहबाज नदीम
शाहबाज नदीम

इस 30 वर्षीय लेफ्ट आर्म गेंदबाज ने घरेलू क्रिकेट के सभी प्रारूप में उम्दा खेल दिखाया है। उन्होंने प्रथम श्रेणी क्रिकेट में 110 मैच खेलकर 424 विकेट चटकाए हैं। इसके अलावा लिस्ट ए में 102 मैचों में 144 और टी20 क्रिकेट में 117 मैच में 98 विकेट चटकाए हैं। कई बार उन्होंने घरेलू क्रिकेट में रणजी, दिलीप ट्रॉफी, विजय हजारे ट्रॉफी और सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में शानदार खेल दिखाया है लेकिन भारतीय टीम के चयनकर्ताओं ने उनके चयन के बारे में कभी नहीं सोचा।

Hindi Cricket News, सभी मैच के क्रिकेट स्कोर, लाइव अपडेट, हाइलाइट्स और न्यूज़ स्पोर्ट्सकीड़ा पर पाएं।

जलज सक्सेना

जलज सक्सेना
जलज सक्सेना

इस खिलाड़ी को एक बेहतरीन ऑलराउंडर कहा जा सकता है। प्रथम श्रेणी क्रिकेट में 115 मैच खेलकर जलज सक्सेना ने 14 शतकों की मदद से 6 हजार से ज्यादा रन बनाए हैं। इसके अलावा उन्होंने 307 विकेट भी चटकाए हैं। बात अगर लिस्ट ए क्रिकेट की करें तो उन्होंने 86 मैचों में 1700 से ज्यादा रन बनाने के अलावा 96 विकेट चटकाए हैं। दिसंबर में जलज सक्सेना 33 साल के हो जाएंगे। इतने बढ़िया खेल के बाद विजय शंकर जैसे खिलाड़ी टीम में चुने गए लेकिन जलज सक्सेना को नहीं चुना गया।

प्रियांक पांचाल

प्रियांक पांचाल
प्रियांक पांचाल

गुजरात से आने वाला यहाँ खिलाड़ी पिछले तीन वर्ष से लगातार घरेलू क्रिकेट में रन बना रहा है लेकिन भारतीय टीम में अभी तक नहीं चुना गया। प्रथम श्रेणी क्रिकेट के 88 मैचों में पांचाल ने 6 हजार से ज्यादा रन बनाए हैं जिसमें 22 शतक हैं और उच्चतम स्कोर नाबाद 314 रन है। लिस्ट ए क्रिकेट में उन्होंने 62 मैचों में 2300 से अधिक रन बनाए हैं। टी20 क्रिकेट में उन्होंने 37 मैचों में 980 रन जड़े हैं। इस खेल के बाद भी उन्हें टीम इंडिया से बुलावे का इंतजार है।

Edited by Naveen Sharma

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...