Create
Notifications

3 खिलाड़ी जो अफ़ग़ानिस्तान के विरुद्ध भारत का नेतृत्व कर सकते हैं

आशीष कुमार

भारतीय क्रिकेट टीम और अफ़ग़ानिस्तान क्रिकेट टीम के बीच ऐतिहासिक टेस्ट मैच अगले महीने की 14 तारीख़ से बैंगलोर के चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेला जाएगा। टेस्ट स्टेटस मिलने के बाग अफ़ग़ानिस्तान का ये पहला टेस्ट होगा, अफ़ग़ानिस्तान की मेज़बानी करते हुए टीम इंडिया की कमान विराट कोहली के कंधों पर नहीं होगी। दरअसल, इंग्लैंड दौरे से पहले विराट कोहली ने ख़ुद को तैयार करने के लिए इंग्लिश काउंटी खेलने का फ़ैसला किया है। सरे के साथ अनुबंध के कारण विराट कोहली जून के महीने में लंदन जाएंगे, जिसका मतलब है कि वे बैंगलोर में अफगानिस्तान के खिलाफ एकमात्र टेस्ट मैच में भारतीय टीम का नेतृत्व नहीं कर पाएंगे। हालांकि, भारतीय टीम में ऐसे कई खिलाड़ी हैं जो उनकी जगह ले सकते हैं। आइए जानते हैं ऐसे तीन खिलाड़िओं के बारे में जो अफ़ग़ानिस्तान के खिलाफ भारतीय टीम का नेतृत्व कर सकते हैं।

#1 रविचंद्रन आश्विन

टीम इंडिया काफी लंबे अंतराल के बाद टेस्ट मैच खेलने जा रही है और एक नियमित टेस्ट खिलाड़ी होने के नाते रविचंद्रन आश्विन इसमें वापसी करेंगे। टेस्ट में वे वर्तमान भारतीय टीम के सबसे सफल गेंदबाज़ हैं। मौजूदा इंडियन प्रीमियर लीग में अश्विन किंग्स इलेवन पंजाब का जिस तरह से नेतृत्व कर रहे हैं, वे विराट कोहली का स्थान लेने में सक्षम नज़र आते हैं। वे अनुभवी खिलाडी हैं और लंबे समय तक भारतीय टेस्ट टीम का हिस्सा रहे हैं, ऐसे में चयनकर्तााओं के लिए वे एक अच्छे विकल्प हो सकते हैं।

#2 चेतेश्वर पुजारा

टेस्ट में भारतीय टीम की 'रीढ़ की हड्डी' माने जाने वाले चेतेश्वर पुजारा अनुभवी और बेहद संजीदा खिलाड़ी हैं। उन्होंने रणजी ट्रॉफी में सौराष्ट्र और अतीत में भारत 'ए' टीम का भी नेतृत्व किया है। वे टेस्ट मैच की सामरिक बारीकियों से भली भांति परिचित हैं। चयनकर्ताओं के लिए वे एक माकूल विकल्प हैं। कप्तानी की अतरिक्त ज़िम्मेदारी के साथ पुजारा शायद बल्लेबाज़ी में और शानदार प्रदर्शन कर सकें। इंग्लैंड दौरे से पहले उनका प्रदर्शन भारतीय टीम के लिए एक शुभ संकेत होगा।

#3 अजिंक्य रहाणे

टेस्ट मैचों में भारत के उप-कप्तान अजिंक्य रहाणे अफगानिस्तान के खिलाफ भारतीय टीम का नेतृत्व करने वाले संभावित खिलाड़िओं में सबसे आगे हैं। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ धर्मशाला टेस्ट में टीम का नेतृत्व किया था, जहां भारत ने बड़ी आसानी से मैच जीत लिया था। रहाणे ने अपनी कप्तानी से सब को प्रभावित किया था। उन्होंने गेंदबाज़ी परिवर्तन में कुशलता दिखाई और सही समय पर स्पिनरों का इस्तेमाल किया था। जून में होने वाले इस मैच से पहले अगर रहाणे चोटिल नहीं होते हैं, तो निश्चित रूप से वे अफगानिस्तान के खिलाफ भारतीय टीम का नेतृत्व करेंगे। ख़बरों की मानें तो अजिंक्य रहाणे का इस टेस्ट मैच के लिए कप्तान बनना क़रीब क़रीब तय है, रहाणे वैसे भी टेस्ट में टीम इंडिया के नियमित उप-कप्तान हैं। इससे पहले भी रहाणे ने भारतीय क्रिकेट टीम की टेस्ट में कप्तानी की है, जहां भारत को जीत नसीब हुई थी अजिंक्य रहाणे ने पिछले साल ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ धर्मशाला टेस्ट में कप्तानी की ज़िम्मेदारी निभाई थी, क्योंकि उस टेस्ट मैच में कंधें की चोट की वजह से विराट कोहली नहीं खेल पाए थे। भारत ने धर्मशाला टेस्ट जीतकर सीरीज़ पर भी क़ब्ज़ा जमाया था। लेखक: राज अनुवादक: आशीष कुमार

Edited by Staff Editor

Comments

Fetching more content...