IPL: इन तीन खिलाड़ियों ने विराट कोहली की कप्तानी में RCB के लिए किया निराशाजनक प्रदर्शन

इंडियन प्रीमियर लीग 2018 में चेन्नई सुपर किंग्स ने दो साल की वापसी के बाद खिताब पर कब्जा किया। फाइनल मुकाबले में चेन्नई की टीम ने सनराइजर्स हैदराबाद को मात दी। इस सीजन हर टीम ने प्ले-ऑफ में पहुंचने के लिए काफी मशक्कत की और आखिर में कुछ टीमें प्ले-ऑफ में पहुंचने से मामूली अंतर से चूक भी गई। इसमें रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की टीम भी शामिल रही।

आईपीएल 2018 में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने 14 मुकाबलों में 8 मुकाबले हारे जबकि 6 मुकाबलों में जीत दर्ज की। इसके साथ ही टीम 12 अंकों से साथ छठे पायदान पर रही। इस सीजन रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर फैंस की उम्मीदों पर खरा नहीं उतरी पाई। आईपीएल 2018 में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की टीम में कप्तान विराट कोहली और एबी डीविलियर्स जैसे आक्रामक खिलाड़ी मौजूद होने के बावजूद टीम को निराशा का सामना करना पड़ा। साथ ही कुछ खिलाड़ियों के निराशाजनक प्रदर्शन के कारण भी टीम को झटका लगा।

इतना ही नहीं रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर को कुछ पूर्व खिलाड़ियों ने भी तब अंचभे में डाल दिया जब उन्होंने इस सीजन में किसी दूसरी टीम के लिए शानदार प्रदर्शन किया। आईपीएल में पिछले कुछ सालों से रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर का प्रदर्शन काफी निचले दर्जे का रहा है। हालांकि आईपीएल नीलामी में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने हमेशा से ही बड़े नामों पर दांव लगाया है लेकिन ये खिलाड़ी भी मैदान पर रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के लिए फिसड्डी साबित हुए हैं।

आइए जानते हैं उन तीन खिलाड़ियों के बारे में जिनका एक शानदार आईपीएल रिकॉर्ड है लेकिन रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के लिए ये खिलाड़ी विराट कोहली की कप्तानी में कुछ खास प्रदर्शन नहीं कर पाए।

#3 ब्रेंडन मैकुलम

ब्रेंडन मैकुलम इंडियन प्रीमियर लीग के शानदार खिलाड़ियों में से एक रहे हैं। ब्रेंडन मैकुलम का रिकॉर्ड आईपीएल में काफी शानदार है। आईपीएल के पहले सीजन में पहले मुकाबले में खेली गई ब्रेंडन मैकुलम की आक्रामक शतकीय पारी को भी शायद ही कोई भुला पाया होगा। आईपीएल 2018 में ब्रेंडन मैकुलम के टीम में आने से आरसीबी को काफी उम्मीदें बढ़ गई थी लेकिन आखिर में सब बेकार गया।

ब्रेंडन मैकुलम रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के लिए कुछ खासा प्रदर्शन नहीं कर पाए और नाकाम साबित हुए। गेंदबाजों के मन में अपनी बल्लेबाजी से खौफ पैदा करने वाले ब्रेंडन मैकुलम इस सीजन में कुछ खास प्रदर्शन नहीं कर पाए और आखिर में उनको प्लेइंग इलेवन से ही बाहर का रास्ता दिखा दिया गया।

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के लिए ब्रेंडन मैकुलम ने इस साल 6 मुकाबले खेले। इस दौरान ब्रेंडन मैकुलम ने 21.16 की औसत के साथ सिर्फ 127 रन ही बनाए।

#2 दिनेश कार्तिक

आईपीएल 2018 में दिनेश कार्तिक को कोलकाता नाइट राइडर्स की कप्तानी सौंपी गई। अपनी कप्तानी में विकेटकीपर बल्लेबाज दिनेश कार्तिक ने शानदार खेल दिखाया। बल्लेबाजी करते हुए दिनेश कार्तिक का आईपीएल 2018 सीजन काफी शानदार रहा।

दिनेश कार्तिक ने आईपीएल 2018 में 16 मैचों में खेलते हुए 498 रन स्कोर किए और सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी के मामले में नौवें नंबर पर रहे। इसके साथ ही दिनेश कार्तिक ने अपनी बल्लेबाजी और कप्तानी के दम पर टीम को प्लेऑफ में भी एंट्री दिलवा दी। लेकिन दुर्भाग्यवश कभी रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की टीम का हिस्सा रहे दिनेश कार्तिक उस समय कुछ खास प्रदर्शन नहीं कर पाए।

दिनेश कार्तिक ने आईपीएल में आरसीबी का प्रतिनिधित्व भी किया है। साल 2015 में आरसीबी ने दिनेश कार्तिक को 10.5 करोड़ रुपये की बड़ी रकम देकर खरीदा था। बड़ी रकम चुकाने के चलते फ्रैंचाइजी को दिनेश कार्तिक से उम्मीदें भी काफी थी, लेकिन दिनेश कार्तिक आरसीबी की उम्मीदों पर खरे नहीं उतर पाए और 16 मुकाबले खेलते हुए 12.81 की औसत से सिर्फ 141 रन ही बना पाए। अपने खराब प्रदर्शन के चलते उन्हें अगले साल के लिए आरसीबी ने अपनी साथ शामिल नहीं किया।

हालांकि आरसीबी से निकलने के बाद गुजरात लॉयन्स के लिए खेलते हुए कार्तिक ने अच्छा प्रदर्शन किया और साल 2016 में 335 रन स्कोर किए तो वहीं साल 2017 में 361 रन स्कोर किए।

#1 शेन वॉटसन

आईपीएल सीजन 2018 में शेन वॉटसन ऐसे खिलाड़ी रहे हैं जिसको अपने साथ रिटेन न करने पर आरसीबी को काफी ज्यादा पछतावा हुआ होगा। अनुभवी ऑस्ट्रेलियाई ऑलराउंडर शेन वॉटसन आईपीएल इतिहास में सबसे सफल ऑलराउंडर्स में से एक है। वॉटसन 2008 से 2015 तक राजस्थान रॉयल्स से जुड़े थे।

राजस्थान पर प्रतिबंध लगने के बाद साल 2016 में आरसीबी ने 9.5 करोड़ रुपये की बोली लगाकर वॉटसन को अपने साथ शामिल कर लिया। हालांकि रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की ओर से खेलते हुए वॉटसन गेंद और बल्ले दोनों से नाकाम रहे। आरसीबी के लिए वॉटसन ने साल 2016 में 179 रन और साल 2017 में महज 71 रन ही स्कोर किए। अपनी खराब फॉर्म के चलते आरसीबी ने साल 2018 की नीलामी प्रक्रिया में वॉटसन को नकार दिया।

इसके बाद साल 2018 के आईपीएल सीजन में दो साल के प्रतिबंध के बाद वापसी करने वाली चेन्नई सुपर किंग्स ने वॉटसन को अपने साथ शामिल किया और वॉटसन ने चेन्नई की खिताबी जीत में अहम योगदान दिया। शेन वॉटसन ने आईपीएल सीजन 2018 में दो शतक लगाए। पूरे सीजन में 15 मैचों में वॉटसन ने 555 रन बना डाले और सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाजों की सूची में पांचवे स्थान पर रहे। इसके साथ ही वॉटसन की बल्लेबाजी औसत 39.64 और स्ट्राइक रेट 154.59 की रही।

वहीं सनराइजर्स के खिलाफ खेले गए फाइनल मुकाबले में शेन वॉटसन ने अकेले अपने दम पर शतकीय पारी को अंजाम देकर चेन्नई के तीसरी बार खिताब जीतने में अहम भूमिका अदा की।

लेखक: रैना सिंह

अनुवादक: हिमांशु कोठारी

Edited by Staff Editor