Create
Notifications

दुनिया के 3 सबसे छोटे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम

न्यूजीलैंड में भी सबसे छोटा स्टेडियम है
न्यूजीलैंड में भी सबसे छोटा स्टेडियम है
reaction-emoji
निरंजन

क्रिकेट में कई बार मैदान की लम्बाई और चौड़ाई भी बड़ा या छोटा स्कोर बनने का कारण बन जाती है। विश्व क्रिकेट में कई ऐसे स्टेडियम हैं जिनके मैदानों की लम्बाई काफी ज्यादा है, तो कई ऐसे भी मैदान हैं जहां पलक झपकते ही गेंद छक्के या चौके के लिए चली जाती है। विश्व क्रिकेट में सबसे बड़े मैदानों में ऑस्ट्रेलिया का मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड जाना जाता है। इसके अलावा भारत में नागपुर का स्टेडियम भी काफी बड़ा है। लन्दन में लॉर्ड्स क्रिकेट ग्राउंड और श्रीलंकाई मैदान भी क्षेत्रफल और बाउंड्री के लिहाज से बड़े माने जाते हैं। कुछ ऐसे मैदान भी हैं जो काफी छोटे हैं और इन पर कई बार बड़े स्कोर देखने को मिले हैं। इस आलेख में विश्व क्रिकेट के उन अंतरराष्ट्रीय मैदानों की बात करेंगे जो काफी छोटे हैं और सुंदर हैं। ख़ास बात यह भी है कि इसमें भारत से भी एक मैदान का नाम शामिल है।


होल्कर स्टेडियम, इंदौर (भारत)

होल्कर स्टेडियम का नाम भी इसमें शामिल है
होल्कर स्टेडियम का नाम भी इसमें शामिल है

पहले इसे महारानी उषा राजे ट्रस्ट क्रिकेट ग्राउंड के नाम से जाना जाता था लेकिन 2010 में मध्य प्रदेश क्रिकेट संघ ने इसका नाम होल्कर वंशजों के नाम पर रखा। वीरेंदर सहवाग ने वेस्टइंडीज के खिलाफ दिसम्बर 2011 में वन-डे क्रिकेट में दोहरा शतक यहीं लगाया था। आईपीएल में किंग्स इलेवन पंजाब का घरेलू मैदान भी यही है। इसकी बाउंड्री लाइन 56 से 57 मीटर की है और बल्लेबाज आसानी से छक्के मारते हैं। एक समय में यहां 30 हजार दर्शक खेल का आनन्द ले सकते हैं।

इस मैदान पर टेस्ट क्रिकेट में सर्वाधिक रन भारत ने बनाए हैं। अक्टूबर 2016 में न्यूजीलैंड के खिलाफ भारतीय टीम ने पहली पारी 5 विकेट पर 557 रन बनाकर घोषित की थी। इसके अलावा वन-डे क्रिकेट में टीम इंडिया ने यहां वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले बल्लेबाजी करते हुए 5 विकेट पर 418 रन बनाए थे। वीरेंदर सहवाग ने इसी मैच में दोहरा शतक जड़ा था। टी20 क्रिकेट में भी इस मैदान पर सबसे अधिक रन बनाने का रिकॉर्ड भारत के नाम है। दिसम्बर 2017 में भारत ने श्रीलंका के खिलाफ पहले बल्लेबाजी करते हुए यहां 5 विकेट पर 260 रन बनाए थे।

वांडरर्स स्टेडियम, जोहान्सबर्ग (दक्षिण अफ्रीका)

वांडरर्स स्टेडियम
वांडरर्स स्टेडियम

दक्षिण अफ्रीका का यह मैदान 1956 में बनकर तैयार हुआ। दर्शक क्षमता के हिसाब से देखा जाए, तो यहां एक बार में 34 हजार लोग मैच का लुत्फ़ उठा सकते हैं। 2015 में वेस्टइंडीज के खिलाफ वन-डे मुकाबले में एबी डीविलियर्स ने 31 गेंदों पर शतक बनाकर विश्व रिकॉर्ड कायम यहीं किया था। वैसे इसकी स्ट्रेट बाउंड्री 65 मीटर की है लेकिन कई बार मैच के दौरान रस्सी 10 मीटर आगे रखे जाने पर यह 55 मीटर की हो जाती है और बल्लेबाज आराम से छक्के मार सकते हैं। इसके अलावा स्क्वायर बाउंड्री भी यहां ज्यादा बड़ी नहीं है।

टेस्ट क्रिकेट में 2002 में ऑस्ट्रेलिया ने यहां दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहली पारी में 7 विकेट पर 652 रन बनाए थे। यह सर्वाधिक है। इसके अलावा वन-डे क्रिकेट में 2015 में वेस्टइंडीज के खिलाफ दक्षिण अफ्रीका ने 2 विकेट पर 439 रन बनाए थे। टी20 क्रिकेट में यहां सबसे अधिक रन बनाने का रिकॉर्ड श्रीलंका के नाम है। उन्होंने केन्या के खिलाफ 2007 में 6 विकेट पर 260 रन बनाए थे।

ईडन पार्क, ऑकलैंड (न्यूजीलैंड)

ईडन पार्क
ईडन पार्क

यह स्टेडियम रग्बी मैचों के लिए भी प्रसिद्ध माना जाता है। इसे न्यूजीलैंड के सबसे खूबसूरत मैदानों में से एक माना जाता है। ऑकलैंड के इस मैदान पर क्रिकेट 1903 से खेला जाता रहा है। दर्शकों की बात करें तो रग्बी मैच के दौरान इसकी क्षमता 50 हजार की है तथा 10 हजार अस्थायी सिटिंग व्यवस्था भी है। क्रिकेट मैच के दौरान इसमें 42 हजार से ज्यादा दर्शक एक साथ मुकाबला देख सकते हैं। स्क्वेयर बाउंड्री में एक तरफ 52 से 55 मीटर की बाउंड्री होने की वजह से इसे दुनिया का सबसे छोटा अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम माना जाता है।

ईडन पार्क में दक्षिण अफ्रीका के नाम सबसे ज्यादा टेस्ट स्कोर का रिकॉर्ड है। 1999 में उन्होंने न्यूजीलैंड के खिलाफ पहली पारी में 5 विकेट पर 621 रन बनाए थे। इसके अलावा वन-डे में यहां न्यूजीलैंड ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 2007 में 5 विकेट पर 340 रन बनाए थे और यह अब तक का सर्वाधिक टीम स्कोर है। टी20 में यहां फरवरी 2018 में ऑस्ट्रेलिया ने न्यूजीलैंड के खिलाफ 5 विकेट पर 245 रन बनाकर यहां का सबसे अधिक टीम स्कोर बनाने का रिकॉर्ड बनाया था।

Edited by निशांत द्रविड़
reaction-emoji

Comments

comments icon1 comment
Fetching more content...