Create
Notifications

3 टेस्ट मैच जिनमें भारत को पहली पारी में बड़ी बढ़त हासिल करने के बावजूद हार का सामना करना पड़ा 

3 टेस्ट मैच जिनमें भारत को पहली पारी में बड़ी बढ़त हासिल करने के बावजूद हार का सामना करना पड़ा
3 टेस्ट मैच जिनमें भारत को पहली पारी में बड़ी बढ़त हासिल करने के बावजूद हार का सामना करना पड़ा
Neeraj

मौजूदा समय में भारतीय क्रिकेट टीम (Indian Cricket Team) टेस्ट फॉर्मेट की रैंकिंग में दूसरे पायदान पर मौजूद है। टीम इंडिया पिछले कुछ सालों से इस प्रारूप में लगातार शानदार प्रदर्शन करती आ रही है। पिछले वर्ष भारतीय टीम ने पूर्व कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) की कप्तानी में आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप 2021 में फाइनल तक का सफर तय किया था हालाँकि फाइनल मुकाबले में भारत को न्यूजीलैंड के हाथों हार का सामना करना पड़ा था।

लेकिन इस समय भारत टेस्ट प्रारूप की सबसे मजबूत टीमों में से एक है। भारतीय टीम की ताकत हमेशा से इसकी बल्लेबाजी रही है। भारत ने ज्यादातर उन मैचों में जीत दर्ज की है। जिनमें टीम के बल्लेबाजों ने पहली पारी में बड़ा स्कोर खड़ा करने में सफलता हासिल की है।

पहली पारी में जब कोई टीम बड़ा स्कोर बनाने में सफल रहती है तो दूसरी टीम के ऊपर दबाव बना रहता है। जिसके चलते कई टीमें अपनी पहली पारी में बड़ा स्कोर नहीं बना पाती और सामने वाली टीम को अच्छी-खासी लीड मिल जाती है। लेकिन पहली पारी में बढ़त हासिल करने के बाद भी कई बार टीमें मैच जीतने में नाकाम हो जाती है। इस आर्टिकल में हम उन 3 मैचों का जिक्र करेंगे जिनमें भारतीय टीम को पहली पारी में बड़ी बढ़त हासिल करने के बाद भी हार मिली।

3 टेस्ट मैच जिनमें भारत को पहली पारी में बड़ी बढ़त हासिल करने के बावजूद हार का सामना करना पड़ा

#3 80 रन - बनाम ऑस्ट्रेलिया, एडिलेड (1992)

क्रेग मैकडरमोट (Image - Espn)
क्रेग मैकडरमोट (Image - Espn)

जनवरी 1992 में ऑस्ट्रेलिया और भारत के बीच पांच मैचों की टेस्ट सीरीज का चौथा मुकाबला एडिलेड में खेला गया था। मुकाबले में भारत ने टॉस जीतकर मेजबानों को पहले बल्लेबाजी करने का अवसर दिया। पहले बल्लेबाजी करते हुए ऑस्ट्रेलियाई टीम पहली पारी में 145 रनों पर ढेर हो गई थी। जवाब में भारतीय टीम ने मैच की दूसरी पारी में शानदार बल्लेबाजी करते हुए 225 रन बनाये। जिसकी बदौलत भारत को 80 रनों की बढ़त मिली।

ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाजों ने मैच की तीसरी पारी में उम्दा प्रदर्शन करते हुए 451 रन बना डाले। भारत को अब इस मुकाबले को जीतने के लिए अपनी दूसरी पारी में 372 रन बनाने थे। लेकिन भारतीय टीम 333 रनों पर सिमट गई और ऑस्ट्रेलिया ने ये मैच 38 रनों से जीत लिया।

#2 132 रन - बनाम इंग्लैंड, एजबेस्टन (2022)

जॉनी बेयरस्टो और जो रूट (Image - Espn)
जॉनी बेयरस्टो और जो रूट (Image - Espn)

जुलाई 2022 में इंग्लैंड और भारत के बीच पांच मैचों की सीरीज का आखिरी रिशेड्यूल मुकाबला एजबेस्टन में खेला गया। इस रोमांचक मुकाबले में भारत ने पहली पारी में 132 रनों की लीड हासिल की थी। उसके बावजूद इंग्लैंड ने भारतीय को इस मैच में सात विकेटों से करारी शिकस्त देते हुए जीत दर्ज की। मैच में भारत ने टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए अपनी पहली में 416 रन बनाये थे। जवाब में मेजबान टीम अपनी पहली पारी में 284 रनों पर ऑल आउट हो गई।

मैच की तीसरी पारी में भारत ने 245 रन बनाते हुए, इंग्लैंड को जीत के लिए चौथी पारी में 378 रनों का टारगेट चेस करने के लिए दिया। जिसे इंग्लैंड ने जो रूट (142*) और जॉनी बेयरस्टो (114*) की शानदार पारियों के दम पर तीन विकेट के नुकसान पर हासिल कर लिया था।

#1 192 रन - बनाम श्रीलंका, गाले (2015)

विराट कोहली (Image - Espn)
विराट कोहली (Image - Espn)

टेस्ट क्रिकेट में भारत को पहली पारी में सबसे बड़ी बढ़त मिलने के बावजूद हार का सामना श्रीलंका के विरुद्ध खेले मैच में करना पड़ा था। अगस्त 2015 में श्रीलंका के गाले में खेले गए इस मुकाबले में श्रीलंकाई टीम पहली पारी में 183 रनों पर सिमट गई ही। जवाब में भारतीय टीम के बल्लेबाजों ने शानदार बल्लेबाजी करते हुए 375 रन बनाये, और भारत को पहली पारी में 192 रनों की बढ़त मिली।

मैच की तीसरी पारी में मेजबानों ने 367 रन बनाये, भारत को इस मुकाबले को जीतने के लिए अपनी दूसरी पारी में 176 रन बनाने थे। लेकिन भारतीय टीम 112 रनों पर ढेर हो गई।


Edited by Prashant Kumar

Comments

Quick Links:

More from Sportskeeda
Fetching more content...