Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

4 क्रिकेटर्स जो कभी भी अपने टेस्ट करियर में आउट नहीं हुए

  • कुछ ऐसे भी खिलाड़ी रहे हैं टेस्ट में जिन्होंने ऐसा कारनामा किया है जो हैरान कर देने वाला है
Modified 20 Dec 2019, 18:39 IST

टेस्ट क्रिकेट को क्रिकेट के सभी प्रारूपों से सबसे सर्वोच्च माना जाता है। जिससे पांच दिनों की अवधि में एक खिलाड़ी के कौशल और दृष्टिकोण का परीक्षण होता है। टी-20 क्रिकेट के सभी ग्लैमर और चकाचौंध के बावजूद छोटे प्रारूप टेस्ट क्रिकेट की जगह नहीं ले सकते हैं। किसी सत्र में एक टेस्ट मैच जीता जा सकता है और मैच का संतुलन एक तरफ से दूसरी तरफ स्थानांतरित हो सकता है। टी-20 के विपरीत जिसमें एक भी खिलाड़ी विपक्षी टीम से मैच छीन सकता है बल्कि इस टेस्ट क्रिकेट में टीम के सामूहिक प्रयास की जरूरत होती है। दुनिया में कोई क्रिकेट टीम एक या दो खिलाड़ियों पर निर्भर नहीं है। टीम हमेशा जीतने के लिए खेलती है - विराट कोहली भारतीय कप्तान के शब्द यह समझाने के लिए काफी है कि क्रिकेट एक टीम गेम है और इसमें बल्ले व गेंद से हर किसी के योगदान की आवश्यकता होती है। यहां खिलाड़ियों द्वारा बनाये गये वह बल्लेबाजी रिकॉर्ड है जो मुख्य रूप से गेंदबाजों द्वारा बनाये है जो यह दर्शाता है हर कोई टीम में अपना योगदान दे सकता है। यहां ऐसे चार क्रिकेट खिलाड़ी हैं जो अपने टेस्ट करियर में कभी आउट नहीं हुए-

#4 जॉन चाइल्ड - इंग्लैंड: 4 पारियां, 2 रन



  ग्लूस्टरशायर और एसेक्स के लिए काउंटी क्रिकेट खेलने वाले जॉन चाइल्ड्स ने इंग्लैंड के साथ अपने करियर की शुरुआत 36 साल और 320 दिन की उम्र में वेस्टइंडीज के खिलाफ की। उनके द्वारा खेले गए दो मैचों में चाइल्ड्स ने 86 ओवरों में केवल तीन विकेट हासिल किए। जिस सीरीज में वेस्टइंडीज के गेंदबाजों का बोलबाला रहा था उसमें चाइल्ड सभी चार मौकों पर नॉट आउट रहे। चाइल्ड्स ने दोनों मैच वेस्टइंडीज के खिलाफ पांच मैचों की श्रृंखला में खेले, जिसमें इंग्लैंड ने 2-0 से हराया। संयोग से, चाइल्ड्स ने केवल उन मैचों में भाग लिया जिसमें इंग्लैंड को हार का सामना करना पड़ा।

मैच: 2, पारियां : 4, रन : 2, सर्वाधिक स्कोर: 2*

1 / 4 NEXT
Published 18 May 2018, 10:15 IST
Advertisement
Fetching more content...