Create
Notifications
Favorites Edit
Advertisement

2005-06 की भारतीय क्रिकेट टीम से भूला दिए गए 4 खिलाड़ी

ANALYST
22 Jun 2018, 09:05 IST
साल 2005 से लेकर साल 2007 की अवधि के दौरान भारतीय क्रिकेट टीम में कई उतार चढ़ाव देखे गए। उस समय टीम इंडिया के कोच ग्रेग चैपल थे। वहीं उस समय के कुछ खिलाड़ियों ने खुले तौर पर उस अवधि को अपने करियर के सबसे बुरे अनुभव के रूप में बताया है। उस दौरान वेस्टइंडीज में साल 2007 में विश्वकप खेला गया था। जहां भारत शुरुआती चरण में ही हारकर बाहर हो गया था। इसके साथ ही उस दौरान भारतीय क्रिकेट का प्रदर्शन काफी निराशाजनक था। जिसके चलते पूरी टीम को आए दिन काफी आलोचनाओं का सामना करना पड़ता था।

उस दौरान भारतीय टीम के पास अनुभव और युवाओं का मिश्रण था लेकिन कोई खास प्रतिभा नहीं थी। बिना प्रतिभा के भारत का स्तर नीचे की ओर गिरता जा रहा था। उस दौरान कप्तान ने खिलाड़ियों को तैयार करने के लिए कड़ी मेहनत की लेकिन इसका कुछ खास असर देखने को नहीं मिला क्योंकि खिलाड़ी हर बार एक ही गलती को दोहराए जा रहे थे। इसके चलते ही ऐसे कई खिलाड़ी हैं जो उस दौरान टीम इंडिया में शामिल थे लेकिन अब उनका कोई अता-पता ही नहीं है। खराब प्रदर्शन के चलते कई खिलाड़ियों को भारतीय टीम बाहर का रास्ता दिखा दिया गया।

आइए जानते हैं साल 2005-06 की भारतीय टीम के उन 4 खिलाड़ियों को जो समय के साथ लाइटलाइट से काफी दूर हो गए हैं।

#4 दिनेश मोंगिया




 

सौरव गांगुली के जरिए तैयार की गई प्रतिभाओं में से एक दिनेश मोंगिया भी थे। हालांकि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर दिनेश मोंगिया कुछ खास कमाल नहीं दिखा पाए। बाएं हाथ के बल्लेबाज और पार्ट टाइम बाएं हाथ के स्पिनर मोंगिया ने उस दौरान भारत के लिए 57 वनडे और एक टी20 खेला।

ओडीआई क्रिकेट में उनका प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा। 57 मैचों में खेलते हुए उन्होंने 1230 रन स्कोर किए। इस दौरान उनकी औसत 28 रही। अपने करियर के दौरान उन्होंने भारत के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ 2002 में जिम्बाब्वे के खिलाफ किया। इस मैच में उन्होंने 159 रन बनाए थे।

वहीं मोंगिया ने भारत का पहला टी20 मुकाबला भी खेला जो कि उनका एकमात्र टी20 मुकाबला रहा। इसमें औसत प्रदर्शन के कारण उन्हें 2007 विश्व कप के लिए भी नहीं चुना गया और जल्द ही उन्हें टीम से बाहर कर दिया गया। इसके अलावा दिनेश मोंगिया ने विवादास्पद और अब निष्क्रिय हो चुका आईसीएल भी खेला था। हैरानी की बात तो यह भी रही कि उस दौरान मोंगिया काफी युवा था लेकिन फिर भी उन्हें आईपीएल में भी कभी नहीं चुना गया।
1 / 4 NEXT
Advertisement
Advertisement
Fetching more content...