Create
Notifications

4 दिग्गज बल्लेबाज जिनका गेंदबाजी रिकॉर्ड भी काफी बेहतरीन रहा है

England v West Indies - ICC Cricket World Cup 2019
England v West Indies - ICC Cricket World Cup 2019
reaction-emoji
सावन गुप्ता
visit

बल्लेबाज किसी भी टीम का अहम हिस्सा होते हैं और कई मैच बल्लेबाज अपनी बल्लेबाजी के दम पर जिताते हैं। ये टीम के मुख्य स्तंभ होते हैं लेकिन कई बार ये बैट्समैन बैटिंग के अलावा गेंदबाजी से भी टीम को मैच जिता देते हैं। ये गेंदबाज अहम समय पर विकेट निकालते हैं जो मैच के लिए टर्निंग प्वॉइंट कई बार साबित होता है। पार्ट टाइम गेंदबाज के रुप में बल्लेबाज काफी अहम भूमिका निभाते हैं।

वर्ल्ड क्रिकेट में अभी तक कई ऐसे बल्लेबाज हुए हैं जिन्होंने एक गेंदबाज के रूप में भी अपनी टीम की जीत में योगदान दिया है। इस लिस्ट में कई बेहतरीन और महान बल्लेबाजों के नाम भी हैं। हम आपको इस आर्टिकल में दुनिया के उन 4 बेहतरीन बल्लेबाजों के बारे में बताएंगे जिनका गेंदबाजी रिकॉर्ड भी काफी बढ़िया रहा है। आइए जानते हैं 4 ऐसे ही दुनिया के बेहतरीन बल्लेबाजों के बारे में जिन्होंने अपने करियर में जबरदस्त गेंदबाजी भी की।

4 बल्लेबाज जिनका गेंदबाजी रिकॉर्ड भी काफी बेहतरीन रहा है

4.क्रिस गेल

England v West Indies - ICC Cricket World Cup 2019
England v West Indies - ICC Cricket World Cup 2019

क्रिस गेल का नाम जेहन में आते ही सबको लंबे-लंबे छक्के याद आने लगते हैं। गेल ने बैटिंग की नई परिभाषा ही गढ़ दी है, जिन्हें सिंगल और डबल पर नहीं बल्कि अपने छक्कों पर ज्यादा विश्वास है। इसका उदाहरण आईपीएल समेत दुनिया भर की लीगों में देखने को मिल चुका है।

हालांकि बैटिंग के अलावा क्रिस गेल का गेंदबाजी रिकॉर्ड भी बढ़िया रहा है। अपनी राइट ऑर्म ऑफ स्पिन से उन्होंने कई बार वेस्टइंडीज टीम को ब्रेक थ्रू दिलवाया है। शायद आपको यकीन ना हो लेकिन टेस्ट और वनडे क्रिकेट में 3 बार वो 5 विकेट चटका चुके हैं। वहीं तीनों ही फॉर्मेट में उनकी इकॉनामी रेट भी बढ़िया रही है।

3. सनथ जयसूर्या

सनथ जयसूर्या
सनथ जयसूर्या

सनथ जयसूर्या एक आक्रामक बल्लेबाज थे। बल्लेबाजी की शुरुआत करते हुए पहले 10 ओवरो में वो तेजी से रन बनाते थे। टीम को वो काफी तेज शुरुआत दिलाते थे। जिससे आने वाले बल्लेबाजों को आसानी होती थी। लेकिन क्या आप जानते हैं सनथ जयसूर्या जितने विस्फोटक बल्लेबाज थे उतने ही खतरनाक गेंदबाज भी थे।

जी हां जयसूर्या ने अपने करियर में 441 मैचो में 320 विकेट चटकाए। वनडे इंटरनेशनल में वो श्रीलंका के तीसरे सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज हैं। वहीं 110 टेस्ट मैचो में भी उनके नाम 98 विकेट हैं। हालांकि ये बात और है कि उनकी शानदार बैटिंग के आगे किसी का ध्यान उनकी गेंदबाजी पर नहीं गया। नाजुक मौकों पर टीम के लिए विकेट निकालना उनकी कला थी और उनका इकॉनामी रेट भी काफी बढ़िया रहा है।

2.एंड्रयू साइमंड्स

माइकल क्लार्क और एंड्रयू साइमंड्स
माइकल क्लार्क और एंड्रयू साइमंड्स

एंड्रयू साइमंड्स भी अपने जमाने के मशहूर आक्रामक बल्लेबाज थे। वो तेजी से रन बनाने के लिए जाने जाते थे और अंतिम के ओवरो में काफी आक्रामक बल्लेबाजी करते थे। साइमंड्स गेंदबाजों को जमने का मौका ही नहीं देते थे और आते ही स्ट्रोक खेलने लगते थे। बल्लेबाजी के अलावा साइमंड्स गेंदबाजी भी काफी अच्छी करते थे। वो मीडियम पेस और राइट ऑर्म ऑफ ब्रेक गेंदबाजी करने में सक्षम थे।

उनकी विविधता भरी गेंदें बल्लेबाजों को समझ में नही आती थीं और इसी वजह से वो कई बार ऑस्ट्रेलियाई टीम के लिए तुरुप का इक्का साबित हुए। साइमंड्स ने टेस्ट क्रिकेट तो ज्यादा नहीं खेला लेकिन सीमित ओवरों के खेल में उन्होंने बढ़िया गेंदबाजी की। साइमंड्स ने वनडे क्रिकेट में 133 विकेट चटकाए। इस दौरान उन्होंने कई दफा एक मैच में 4 और 5 विकेट लेने का कारनामा भी किया।

1.सचिन तेंदुलकर

Enter caption
Enter caption

सचिन तेंदुलकर ये नाम आते ही जेहन में रिकॉर्डों की झड़ी घूमने लगती है। बल्लेबाजी के कुछ गिने-चुने रिकॉर्ड ही होंगे जो शायद सचिन ने ना बनाए हों। अपने लंबे क्रिकेट करियर के दौरान सचिन ने वनडे क्रिकेट में पहली बार 200 रन बनाने का कारनामा किया। वहीं वो पहले ऐसे बल्लेबाज हैं जिन्होंने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में 100 शतक लगाए हैं।

इसके अलावा अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में 34,000 रन, टेस्ट में सबसे ज्यादा शतक, वनडे में सबसे ज्यादा शतक। मतलब हम बताते-बताते थक जाएंगे लेकिन सचिन के रिकॉर्डों की फेहरिस्त खत्म नहीं होगी। क्रिकेट में बल्लेबाजी में उन्होंने नए आयाम सेट किए। क्रिकेट का भगवान उन्हे यूं ही नहीं कहा जाता।

सचिन को पूरी दुनिया एक बैट्समैन के तौर पर जानती है लेकिन गेंदबाजी में भी वो किसी से कम नही रहे थे। वो ऑफ स्पिन भी कर सकते थे, लेग स्पिन कर सकते थे और मीडियम पेस गेंदबाजी भी कर सकते थे। अपनी गेंदबाजी से उन्होंने कई बार कप्तान की टेंशन कम की। एक बार वनडे क्रिकेट में तो उन्होंने आखिरी ओवर भी डाला था। 1993 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ उस मैच में उन्होंने ऐसे समय पर गेंदबाजी की जब डिफेंड करने के लिए उनके पास महज 6 रन थे। टेस्ट में उनके नाम 46 तो वनडे में 154 विकेट है। उन्होंने अपने करियर में टी20 इंटरनेशनल मुकाबला मात्र एक ही खेला लेकिन उसमें भी 1 विकेट उन्होंने लिए हैं।

Edited by सावन गुप्ता
reaction-emoji
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now