Create
Notifications

4 भारतीय बल्लेबाज जिन्होंने नंबर 8 या उससे नीचे बल्लेबाजी करते हुए एक ही टेस्ट मैच में दो बार 50+ का स्कोर बनाया

हरभजन सिंह और शार्दुल ठाकुर ने बल्ले के साथ भी अहम समय पर योगदान दिया है
हरभजन सिंह और शार्दुल ठाकुर ने बल्ले के साथ भी अहम समय पर योगदान दिया है
ANALYST

टेस्ट क्रिकेट को गेंदबाजों का खेल कहा जाता है क्योंकि इसे जीतने के लिए आपको निश्चित ही विरोधी टीम के 20 विकेट झटकने ही होंगे। गेंदबाजों का यहां बहुत महत्व होता है, न सिर्फ वे विकेट लेते हैं बल्कि अंत में आकर उनके द्वारा बनाए गए कुछ रन भी हमेशा ही टीम के लिए एक बोनस साबित होते हैं। हमने अक्सर ही देखा है की अंत के पुछल्ले बल्लेबाजों ने कई मौकों पर टीम को संकट भरी स्थिति से बाहर निकाला है। हाल ही में भारत (Indian Cricket Team) और इंग्लैंड के खिलाफ हुयी टेस्ट सीरीज (ENG vs IND) में भारतीय निचले क्रम के बल्लेबाजों ने अपनी टीम के लिए अहम रन बनाये।

टेस्ट में निचले क्रम में बल्लेबाजी करने उतरे कई खिलाड़ियों के नाम शतक भी शामिल है, जिसमें डेनियल विटोरी ,जयंत यादव , शॉन पोलॉक, स्टुअर्ट ब्रॉड और अनिल कुंबले जैसे बड़े नाम भी शामिल हैं। आज हम बात करेंगे भारतीय टीम के चार ऐसे बल्लेबाजों के बारे में जिन्होंने नंबर 8 या उससे नीचे बल्लेबाजी करते हुए एक टेस्ट मैच की दोनों पारियों में 50 से अधिक का स्कोर बनाया है।

4 भारतीय बल्लेबाज जिन्होंने नंबर 8 या उससे नीचे बल्लेबाजी करते हुए एक ही टेस्ट मैच में दो बार 50+ का स्कोर बनाया

#1 हरभजन सिंह बनाम न्यूजीलैंड , अहमदाबाद (2010)

हरभजन सिंह ने इस मैच में जबरदस्त बल्लेबाजी की थी
हरभजन सिंह ने इस मैच में जबरदस्त बल्लेबाजी की थी

न्यूजीलैंड के विरुद्ध 2010 में हुई इस टेस्ट सीरीज के पहले मुकाबले में भारत ने पहली पारी में 487 रनों का बड़ा स्कोर खड़ा किया, जहां हरभजन सिंह ने शानदार 69 रनों की पारी खेली। जब भारतीय टीम दूसरी पारी में बल्लेबाजी करने उतरी तब उसका स्कोर एक समय पर 65 रन पर छह विकेट का हो गया था और यह मैच भारत के हाथ से निकलता नजर आ रहा था। यहां पर बल्लेबाजी करने आए हरभजन सिंह ने अपने टेस्ट करियर का पहला शतक जड़ते हुए शानदार 11 चौकों और तीन छक्कों से सजी 115 रनों की बेहतरीन पारी खेली और उनकी इस पारी की मदद से मैच ड्रॉ हो गया था।

#2 भुवनेश्वर कुमार बनाम इंग्लैंड, नॉटिंघम (2014)

भुवनेश्वर ने मुश्किल समय में भारत के लिए अहम रन बनाये थे
भुवनेश्वर ने मुश्किल समय में भारत के लिए अहम रन बनाये थे

2014 का यह इंग्लैंड दौरा वैसे तो विराट कोहली की खराब फॉर्म के कारण याद किया जाता है मगर इस श्रृंखला के पहले मुकाबले में भुवनेश्वर कुमार ने कुछ ऐसी पारियां खेली जिनके लिए उन्हें हमेशा याद रखा जाएगा।। भुवनेश्वर कुमार ने पहली पारी में आखिरी विकेट के लिए मोहम्मद शमी के साथ शानदार 111 रनों की रिकॉर्ड साझेदारी की जिसमें उनका निजी स्कोर 58 रनों का था।

दूसरी पारी में फिर से भुवनेश्वर कुमार ने स्टुअर्ट बिन्नी के साथ आठवें विकेट के लिए 91 रनों की बेहतरीन साझेदारी की और इस बार उन्होंने नाबाद रहते हुए शानदार 63 रन बनाए और भारत की के लिए मैच बचाया था।

1 / 2 NEXT
Edited by Prashant Kumar
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now