Create
Notifications

4 भारतीय तेज गेंदबाज जिन्हें 2019 विश्व कप में मौका मिलना चाहिए

Himanshu Kothari
visit

क्रिकेट विश्व कप खेल के बड़े इंवेट में से एक है। अब अगला क्रिकेट विश्व कप साल 2019 में खेला जाएगा। इस विश्व कप में हिस्सा लेने वाले हर देश ने कमर कस ली है और विश्व कप की तैयारियों में जुट चुका है। ऐसे में भारत भी पीछे नहीं है। भारतीय क्रिकेट टीम भी विश्व कप 2019 के लिहाज से टीम में खिलाड़ियों के चयन में लगी हुई है। युवा खिलाड़ियों को भी इस विश्व कप के लिए तैयार किया जा रहा है। टीम इंडिया में अभी कई कमजोर कड़ियां भी हैं, जिनकी भरपाई की जा रही है। वहीं टीम की मजबूती को और भी ज्यादा मजबूत किया जा रहा है। इसी क्रम में टीम इंडिया अपनी तेज गेंदबाजी पर भी काफी काम कर रही है। अगला विश्व कप इंग्लैंड की धरती पर खेला जाने वाला है और टीम इंडिया ऐसे तेज गेंदबाजों को तैयार कर रही है जो वहां कि परिस्थिति के हिसाब से प्रदर्शन भी कर सके। टीम इंडिया का पूरा फोकस अब विश्व कप अपने नाम करने में है और ऐसे में टीम इंडिया विश्व कप 2019 के लिए कारगर तेज गेंदबाजों को ही टीम में शामिल करेगी। ऐसे में आइए जानते हैं उन चार तेज गेंदबाजों के बारे में जो 2019 विश्व कप में टीम इंडिया का हिस्सा बन सकते हैं। #4 शिवम मावी अंडर 19 स्टार शिवम मावी एक अच्छी गति के प्रतिभाशाली तेज गेंदबाज है। इस नौजवान भारतीय खिलाड़ी का अंडर 19 विश्व कप में महत्वपूर्ण योगदान रहा है। 19 वर्षीय शिवम मावी 140 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से गेंदबाजी कर सकते हैं और बल्लेबाजों को अपनी तेज गेंदबाजी के कारण इंग्लैंड की पीचों पर परेशान भी कर सकता है। शिवम मावी एक शानदार खिलाड़ी हैं और इस साल इंडियन प्रीमियर लीग में भी मावी का प्रदर्शन काफी सराहनीय रहा। कोलकाता नाइट राइडर्स ने उन्हें 3 करोड़ रुपये में खरीदा था। केकेआर के लिए उन्होंने इस सीजन में 9 मैच खेले थे। ऐसे में चयनकर्ताओं को अगले वर्ष विश्व कप के लिए इस खिलाड़ी पर जरूर विचार करना चाहिए। विरोधियों के लिए शिवम मावी किसी भी परिस्थिति में घातक साबित हो सकते हैं। #3 उमेश यादव उमेश यादव भारतीय गेंदबाजी इकाई के सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजों में से एक हैं। 2010 में एकदिवसीय पदार्पण करने के बाद से उमेश यादव ने देश विदेश में खेलने का भरपूर अनुभव हासिल किया है। वर्तमान में यादव भारतीय टीम के साथ है इंग्लैंड दौरे पर हैं। ऐसे में इस बात की संभावना भी बढ़ जाती है कि चयनकर्ता उन्हें अगले वर्ष विश्व कप के लिए चुनेंगे। वहीं यादव एक ऐसे गेंदबाज हैं जो नियमित रूप से अच्छी लाइन के साथ 140 किमी प्रति घंटे पर गेंदबाजी करते हैं। दाएं हाथ के भारतीय तेज गेंदबाज के पास 72 मैचों में 32.31 की औसत के साथ 104 एकदिवसीय विकेट दर्ज है। उमेश यादव गेंद को बखूबी स्विंग करना भी जानते हैं। आईपीएल में इस साल रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने उन्हें 4.20 करोड़ रुपये में खरीदा था और उन्होंने इस सीजन में शानदार गेंदबाजी करते हुए 20 विकेट हासिल किए थे। ऐसे में अगर विश्व कप 2019 के लिए उमेश यादव का चयन किया जाता है तो उनसे बेहतरीन प्रदर्शन की उम्मीद होगी। #2 भुवनेश्वर कुमार भुवनेश्वर कुमार काफी लंबे समय से टीम इंडिया के साथ नियमित तौर पर जुड़े हुए हैं। फिलहाल भुवनेश्वर कुमार टीम इंडिया की तेज गेंदबाजी क्रम की जान बने हुए हैं। साल 2012 में भुवनेश्वर कुमार ने पाकिस्तान के खिलाफ अपना पदार्पण किया था। उसके बाद उन्होंने कई उतार चढ़ाव भी देखे लेकिन अपनी जगह टीम में कायम करने में कामयाब रहे। अब तक उन्होंने भारत के लिए खेलते हुए 86 वनडे मैचों में 90 विकेट हासिल किए हैं। 28 वर्षीय भुवनेश्वर कुमार अपनी स्विंग गेंदबाजी के लिए जाने जाते हैं। भुवनेश्वर कुमार की इनस्विंग उनकी आउटस्विंग से कहीं ज्यादा खतरनाक साबित होती है। भुवनेश्वर कुमार गेंदबाजी के अलावा निचले क्रम में बल्लेबाजी भी कर लिया करते हैं। #1 जसप्रीत बुमराह जसप्रीत बुमराह निश्चित रूप से भारतीय गेंदबाजी आक्रमण के नंबर एक तेज गेंदबाज है। वर्तमान में, वह दुनिया के सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजों में से एक है और भारत का गेंदबाजी प्रदर्शन उन पर काफी बहुत निर्भर करता है। वह भारत के सीमित ओवरों के क्रिकेट में नियमित सदस्य हैं और दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ इस वर्ष की शुरुआत में अपनी पहली टेस्ट कैप भी हासिल कर चुके हैं। बुमराह ने 37 मैचों में खेलते हुए 22.50 की प्रभावशाली औसत के साथ 64 विकेट हासिल किए हैं। बुमराह लगातार 140 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से भी गेंदबाजी कर सकते हैं। उनके घातक यॉर्कर किसी भी बल्लेबाज के लिए बेहद ही घातक रहते हैं। लेखक: अविक दास अनुवादक: हिमांशु कोठारी

Edited by Staff Editor
Article image

Go to article
Fetching more content...
App download animated image Get the free App now